जयपुर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का 71वां जन्मदिन आज, देश-प्रदेश से शुभचिंतक दे रहे शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का 71वां जन्मदिन आज, देश-प्रदेश से शुभचिंतक दे रहे शुभकामनाएं

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का 71वां जन्मदिन आज, देश-प्रदेश से शुभचिंतक दे रहे शुभकामनाएं

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आज 71 वां जन्मदिन है. 3 मई 1951 को जोधपुर के लक्ष्मण सिंह गहलोत के घर पैदा हुए अशोक गहलोत के बारे में किसी को नहीं पता था कि यही अशोक गहलोत आगे चलकर राजस्थान ही नहीं बल्कि देश की राजनीति में अपना एक अलग मुकाम बनाएगा. आज प्रदेशभर में सीएम का जन्मदिन उत्साह के साथ मनाया जा रहा है. सीएम की प्रदेश ही नहीं बल्कि देश की राजनीति में एक अलग ही छाप है. 

उन्होंने 50 साल के राजनीतिक जीवन में जो मुकाम हासिल किया वो मुकाम बहुत ही कम नेता हासिल कर पाए हैं. गहलोत छात्र जीवन से ही महात्मा गांधी के विचारों से प्रभावित होकर समाज सेवा में जुटे हुए हैं. जमीनी स्तर से जुड़े गहलोत आज भी लोगों के दिलों पर राज करते आ रहे हैं. बजट में भी सीएम गहलोत ने हर वर्ग के लिए दिल खोलकर दिया. इससे प्रभावित लाखों लोग सीएम आवास पर बधाई देने पहुंचे. आज भी 24 घंटे ऊर्जा के साथ राज्य की भलाई के लिए काम कर रहे हैं. कोरोना काल के दौरान उन्होंने जन्मदिन नहीं मनाने के निर्देश दिए थे लेकिन इस बार जगह-जगह उल्लास के साथ जननायक का जन्मदिन मनाया जा रहा है. 

मुख्यमंत्री गहलोत के जन्मदिन पर आज मित्र, परिजन और राजनेता बधाई दे रहे हैं. सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. इसके साथ ही सुबह 11 बजे से 1 बजे तक आमजन भी मुख्यमंत्री आवास पर शुभकामनाएं दे सकेंगे. सीएम के जन्मदिन पर आज प्रदेशभर में जगह-जगह रक्तदान, खेल प्रतियोगिता जैसे कार्यक्रम होंगे. वहीं दूसरी ओर सीएम गहलोत के जन्मदिन पर आज अद्भुत संयोग भी बन रहा है. आज अक्षय तृतीया और ईद का त्योहार है. अक्षय तृतीया का हिंदू धर्म में खास महत्व है तो वहीं ईद मुस्लिम धर्म का सबसे बड़ा त्योहार है. इसके साथ ही आज केदार, शुभ कर्तरी, उभयचरी, विमल और सुमुख नाम के 5 राजयोग भी बन रहे हैं. ग्रहों का ऐसा दुर्लभ महासंयोग अगले 100 साल तक नहीं बनेगा. ऐसे में आज दिनभर देश-प्रदेश में उत्सव सा माहौल है. 

जोधपुर में 3 मई 1951 को हुआ था सीएम गहलोत का जन्म:
आपको बता दें कि सीएम गहलोत का जन्म 3 मई 1951 को जोधपुर में हुआ था. गहलोत पिछले पांच दशकों से राजनीति में मजबूती से डटे हैं. उनकी प्रतिभा का लोहा पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने तक माना. सीएम गहलोत राजीव, सोनिया और राहुल गांधी के पसंदीदा नेता बने. तीन बार केंद्रीय मंत्री के साथ मुख्यमंत्री के रूप में सफल तीसरा कार्यकाल जारी हैं. गांधीजी के मार्गों पर चलने के कारण लोग भी उन्हें 'राजस्थान के गांधी' के नाम से पुकारते हैं. स्पष्ट नीती और स्वच्छ राजनीति के कारण प्रदेशावासियों के दिल में गहलोत का अलग स्थान हैं. 

और पढ़ें