मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की किसानों के लिए सौगात, 100 कृषि उपकरण किराया केन्द्र खुलेंगे

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की किसानों के लिए सौगात, 100 कृषि उपकरण किराया केन्द्र खुलेंगे

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की किसानों के लिए सौगात, 100 कृषि उपकरण किराया केन्द्र खुलेंगे

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणा के अनुरूप अब कृषि विभाग किसानों के लिए नई सौगात लेकर आया है. छोटे और मंझले किसान, जिनके पास अपनी खेती करने के लिए सभी तरह के कृषि उपकरण नहीं हैं, उन उपकरणों को अब वे किराए पर लेकर अपना कृषि कार्य कर सकेंगे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसकी घोषणा बजट में की थी. इसके तहत कृषि विभाग प्रदेश में 100 कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने जा रहा है.

एक केन्द्र को अधिकतम 8 लाख अनुदान देगा कृषि विभाग:
केन्द्र खोलने के लिए सहकारिता विभाग की सहायता ली जा रही है. इन केन्द्रों पर 8 करोड़ की राशि खर्च होगी. प्रत्येक केन्द्र को अधिकतम 8 लाख रुपए की राशि अनुदान के रूप में दी जाएगी. जिससे ग्राम सेवा सहकारी समितियां कृषि से जुड़े सभी जरूरी उपकरण खरीद सकेंगी. इससे जो किसान कम आय के कारण उन्नत एवं महंगे कृषि उपकरण खरीदने में सक्षम नहीं हैं, उन किसानों तक कृषि यंत्रों की पहुंच होगी. ये केन्द्र 30 जिलों में खोले जाएंगे.

कृषि आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश स्वयं कर रहे प्रोजेक्ट की मॉनीटरिंग:
सबसे ज्यादा 12 केन्द्र राजसमंद में, इसके बाद प्रतापगढ़ में 7, जयपुर में 6 कृषि उपकरण किराया केन्द्र खोले जाएंगे. कृषि विभाग के आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश स्वयं इस प्रोजेक्ट की मॉनीटरिंग कर रहे हैं. इस सम्बंध में ट्रैक्टर व अन्य कृषि यंत्र निर्माता कम्पनियों के साथ बैठकर कर न्यूनतम दरों पर उपकरण खरीद के लिए कवायद की जा रही है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

और पढ़ें