VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, दूसरी डोज पर चलाना होगा अभियान, जिस राज्य में लगेगी ज्यादा डोज, वह राज्य रहेगा ज्यादा सुरक्षित

VIDEO: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, दूसरी डोज पर चलाना होगा अभियान, जिस राज्य में लगेगी ज्यादा डोज, वह राज्य रहेगा ज्यादा सुरक्षित

जयपुर: कोविड रिव्यू मीटिंग में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संबोधित करते हुए अमेरिका राष्ट्र का उदाहरण दिया. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि वहां जो व्यक्ति वैक्सीन या सेकंड डोज नहीं लगवा रहा , उसे नौकरी से भी हटाने की पॉलिसी बना दी गई है. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि राजस्थान को इस क्षेत्र में भी मॉडल बनना होगा. सभी जिला कलेक्टर, CMHO और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि राजस्थान में हर व्यक्ति को कोरोना की दोनों डोज लगे. 

मुख्यमंत्री गहलोत ने स्वास्थ्य विभाग को सलाह दी है कि कोरोना की सेकंड डोज को लेकर विभाग और जनता अभियान की तरह, इस क्षेत्र में भी राज्य बेहतर काम करे. ऐसा हुआ तो किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए हम तैयार रहेंगे. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि दूसरी डोज पर अभियान चलाना होगा. जिस राज्य में दूसरी डोज ज्यादा लगेगी, वह राज्य ज्यादा सुरक्षित रहेगा. अभी बूस्टर डोज के बारे में फैसला नहीं. पता नहीं कोरोना किस रूप में आता है. अमेरिका में दूसरी डोज नहीं लगाने पर नौकरी से हटा दिया जाएगा. राजस्थान को वैक्सीनेशन में मॉडल बनाना है.

उन्होंने कहा कि भले ही आज हमें कुछ नहीं लग रहा, लेकिन हमें पहले से ही सावधान रहना होगा. अब तो स्कूली बच्चे भी पॉजिटिव आने लगे है, किसी को नहीं पता वेरिएंट किस दिशा में जाएगा. कई देश में वैक्सीन व मास्क का विरोध किया जा रहा है. कोई भी व्यक्ति वैक्सीन के लिए मना नहीं कर सकता. गहलोत ने कहा कि ऐसे किसी की मर्जी नहीं चलेगी.मुख्यमंत्री गहलोत ने रिव्यू मीटिंग में डेंगू को लेकर भी चिंता जताई.

सीएम गहलोत ने अधिकारियों से पूछा, डेंगू से पीड़ितों के आंकड़े कौन इकट्ठा करता है. वैभव गालरिया ने सीएम गहलोत को जानकारी देते हुए कहा कि अब डेंगू के मरीजों की संख्या कम हो रही है.रिव्यू मीटिंग में मुख्यमंत्री गहलोत ने WHO की चेतावनी को लेकर कहा कि WHO 5-7 लाख लोगों के मरने की बात करते हैं. गहलोत ने विशेषज्ञ चिकित्सकों से इस बारे में पूछा. डॉ.सुधीर भंडारी ने CM गहलोत को जानकारी दी.

और पढ़ें