जयपुर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले, तनाव की राजनीति देशहित में नहीं 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले, तनाव की राजनीति देशहित में नहीं 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले, तनाव की राजनीति देशहित में नहीं 

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि देश में तनाव और हिंसा का माहौल है. उन्होंने यह भी कहा कि तनाव की राजनीति देश और प्रदेश के हित में नहीं है. गहलोत शनिवार को कोठ्यारी, लक्ष्मणगढ़ (सीकर) में पूर्व विधायक सांवरमल मोर की मूर्ति के अनावरण एवं श्री श्रद्धा शिक्षा भवन (बालिका महाविद्यालय) के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि हम बार-बार कहते हैं कि देश और प्रदेश में तनाव की राजनीति उचित नहीं है, क्योंकि जिस परिवार में तनाव होता है, वह आगे नहीं बढ़ता और बर्बाद हो जाता है. यही बात गांव, देश और प्रदेश पर भी लागू होती है.गहलोत ने कहा कि आज देश में तनाव, अविश्वास और हिंसा का माहौल है.कुछ लोग खुश हो सकते हैं कि बुलडोजर चल रहे हैं. पर मत भूलें कि यह बुलडोजर कभी आपके यहां भी आ सकता है.

उन्होंने कहा कि बिना कानून के आप किसी को अपराधी नहीं ठहरा सकते और जब तक दोष सिद्ध न हो, तब तक आप दोषी को भी दोषी नहीं कह सकते. पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ईआरसीपी) को लेकर गहलोत ने केंद्र की भाजपा सरकार व केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर निशाना साधा.साल 2020 में अपनी सरकार पर आए राजनीतिक संकट को लेकर शेखावत के एक बयान का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वह कहते हैं कि अगर राजस्थान में सरकार बदल जाती और सचिन पायलट चूकते नहीं तो राज्य में पानी आ जाता. क्या कोई केंद्रीय मंत्री ऐसी भाषा बोल सकता है? 

इससे अधिक शर्म की बात क्या हो सकती है कि सरकार बदलो तो पानी मैं भेज दूंगा? उल्लेखनीय है कि गहलोत ईआरसीपी को लगातार केंद्रीय परियोजना का दर्जा दिए जाने की मांग कर रहे हैं. 37,000 करोड़ रुपये से अधिक की यह परियोजना राज्य के 13 जिलों में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित कर सकेगी. कार्यक्रम को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा और अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया. (भाषा) 

और पढ़ें