मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जोधपुर दौरा, देचू में 11 लोगों की मौत पर किया शोक व्यक्त

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जोधपुर दौरा, देचू में 11 लोगों की मौत पर किया शोक व्यक्त

जोधपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पिछले दिनों देचू में 11 पाक शरणार्थियों की हुई आकस्मिक मौत के मामले को गंभीरता से लेते हुए जैसलमेर से सीधे जोधपुर पहुंचे और पाक विस्थापितों की बस्ती में पहुंचकर मृतकों को श्रद्धांजलि देने के साथ विश्वास दिलाया कि इस पूरे मामले की जांच गहनता से से करवाई जाएगी और हर सुख दुख की घड़ी में सरकार पाक विस्थापितों के साथ खड़ी थी और खड़ी रहेगी. 

VIDEO: हमने कभी सरकार गिराने की कोशिश नहीं की, हमें बागी या विरोधी कहना बिल्कुल गलत- विश्वेन्द्र सिंह 

दिवंगत आत्माओं को श्रद्धा सुमन अर्पित किए:
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जैसलमेर से जोधपुर पहुंचने के बाद सीधा सड़क मार्ग के जरिए गंगाना रोड स्थित अल्कोसर नगर पहुंचे जहां पर हाल ही में देचू में 11 पाक शरणार्थियों की हुई असामयिक मौत को लेकर आवश्यक फीडबैक लेने के साथ ही दिवंगत आत्माओं को श्रद्धा सुमन अर्पित किए. गहलोत ने देचू में 11 लोगों की आकस्मिक मृत्यु पर शोक व्यक्त किया. इस दौरान पाक विस्थापित नेता हिंदूसिंह सोढ़ा व भी समाज की नेता कीर्ति सिंह के अलावा बड़ी संख्या में पाक शरणार्थी भी मौजूद रहे. गहलोत के साथ मंत्री हरीश चौधरी, पीसीसी अध्यक्ष गोविंद डोटासरा, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, विधायक महेन्द्र विश्नोई व कांग्रेस नेता उम्मेद सिंह के अलावा बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष संगीता बेनिवाल साथ रही. 

गहलोत ने पाक शरणार्थी परिवारों से भी आवश्यक फीडबैक लिया:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पाक शरणार्थी परिवारों से भी आवश्यक फीडबैक लिया. आईजी नवज्योति गोगोई, पुलिस कमिश्नर जोस मोहन, संभागीय आयुक्त समित शर्मा, कलेक्टर इंद्रजीतसिंह, डीसीपी आलोक श्रीवास्तव के अलावा अन्य पुलिस के अधिकारी भी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जैसलमेर से सीधा जोधपुर के एयरपोर्ट पहुंचे जहां पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों ने उनकी अगवानी की. जोधपुर एयरपोर्ट से सीधे गहलोत काफिले के साथ गंगाना रोड स्थित अल्कोसर नगर पहुंचे जहां उन्होने दिवंगत आत्माओं को श्रद्धासुमन अर्पित किए. 

शिक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सरकार गंभीर: 
मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह घटना ह्दयविदारक है जिसने भी सुना है वह दुखी है. एक परिवार के 11 लोगों की बात कोई छोटी बात नहीं है. परिवार में तो 2 लोग बचे, लेकिन समाज साथ है. मामले की तह में जाने की जरूरत है. मामले की गंभीरता के कारण ही हम सभी आपके बीच है. 40 साल से पाक विस्थापित की पैरवी करता रहा हूं इसको पाक विस्थापित नेता हिंदू सिंह सोढा जानते है. पूरे मामले की जांच पुलिस कर रही है अगर किसी और से जांच करानी पड़ी तो उसके लिए भी सरकार तैयार है. केन्द्र के साथ आपकी समस्याओं को लेकर कोशिश करते रहते हैं. आपकी समस्याओं से वाकिफ हूं. जब आपके प्रतिनिधी जाएंगे तो अधिकारियों को बुलाकर हाथों हाथ समाधान को सरकार तैयार है. शिक्षा व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर सरकार गंभीर है. कोरोना से बचाव का संदेश देते हुए गहलोत ने कहा कि मास्क लगाने के साथ सोशल डिस्टेंस बनाए रखे. गरीब कोई तकलीफ न पाए, यही सरकार की प्राथमिकता है. वहीं पीसीसी अध्यक्ष गोविंद डोटासरा ने संबोधित करते हुए कहा कि ये घटना बेहद दुखद है, खुद सीएम ने उस दिन ही कहा कि मैं स्तब्ध हूं. मेरी ईच्छा है कि उनके बीच में जाकर दर्द को समझू और बांटू. आज खुद सीएम आपके बीच संवेदनशीलता के साथ मौजूद है.  

VIDEO: प्रदेशवासियों को विश्वास दिलाता हूं कि आने वाले दिनों में दुगुने जोश से काम करेंगे - सीएम गहलोत 

मुख्यमंत्री गहलोत पाक विस्थापितों के मुद्दे पर पैरवी करते रहे हैं: 
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जब से राजनीतिक जीवन में आए हैं तब से पाक विस्थापितों के मुद्दे को केंद्र और राज्य में प्राथमिकता से उठाने के साथ पैरवी भी करते रहे हैं. सांसद और केंद्रीय मंत्री रहते हुए भी उन्होंने पाक विस्थापितों की समस्याओं के समाधान के लिए कोशिश की और जब उन्हें मुख्यमंत्री बनने का अवसर मिला तब नागरिकता के मामले में अपने स्तर पर हर तरह के प्रयास किए जिसके बूते हजारों विस्थापित को भारतीय नागरिकता मिल पाई है.  

...फर्स्ट इंडिया के लिए जोधपुर से राजीव गौड़ की रिपोर्ट

और पढ़ें