मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना: राज्य श्रम मंत्री Tikaram Jully ने घर-घर जाकर इस Scheme से जुड़वाना शुरू किया 

मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना: राज्य श्रम मंत्री Tikaram Jully ने घर-घर जाकर इस Scheme से जुड़वाना शुरू किया 

मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना: राज्य श्रम मंत्री Tikaram Jully ने घर-घर जाकर इस Scheme से जुड़वाना शुरू किया 

जयपुर: श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली (Minister of State for Labor Tikaram Jully) ने कोविड मृतकों के घर-घर जाकर उनके आश्रितों को मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना (Chief Minister Corona Child Welfare Scheme) से मौके पर जुड़वाना प्रारम्भ किया. जूली ने रविवार को अलवर जिले में प्रातः कोरोना की द्वितीय लहर के दौरान कोविड मृतकों के घर-घर जाकर उनके परिजनों की कुशलक्षेम (Well Being) पूछकर उनको सांत्वना दी.

टीकाराम जूली योजना को दे रहे है धरातलीय रूप:
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने संवेदनशीलता (Sensitivity) के साथ निर्णय लेकर 12 जून को विश्व बाल श्रम निषेध दिवस के अवसर पर श्रम मुक्त राजस्थान (Labor Free Rajasthan) विषय पर आयोजित राज्य स्तरीय ऑनलाइन वेबिनार में कोरोना की द्वितीय लहर में कोविड से मृतक व्यक्तियों के आश्रितों के लिए मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना प्रारम्भ की थी. श्रम राज्य मंत्री टीकाराम जूली इस बाल कल्याणकारी योजना (Child Welfare Scheme) को धरातल पर लागू करने के लिए रविवार 13 जून को प्रातः 9 बजे से ही जुट गए.

लाभार्थियों को नहीं लगाने पडेंगे चक्कर:
कोविड मृतक (Covid Dead) परिजनों ने अपने दरवाजे पर राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) में श्रम राज्य मंत्री जूली एवं अलवर जिला कलक्टर (Collector) सहित प्रशासनिक अमले को देखा तो वे असमंजस की स्थिति में थे किन्तु जब जूली ने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना जाहिर कर राज्य सरकार द्वारा संचालित योजना के बारे में बताया तथा कहा कि पीड़ित परिजनों को योजना का लाभ लेने के लिए चक्कर नहीं लगाने पड़े इसलिए पीड़ित के घर पर आकर योजना से जोड़ने आए है. कोविड मृतक परिजनों ने मंत्री के द्वारा सहजता से कहे गए इन शब्दों पर आभार व्यक्त किया और भाव-विभोर होकर कहा कि हमने सोचा भी नहीं था कि सरकार के मंत्री और जिला कलक्टर खुद आकर हमारे परिवार की सुध लेंगे.
 
जिला कलेक्टर को योजना से ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों को जोड़ने के निर्देश: 
श्रम राज्य मंत्री जूली ने जिला कलक्टर से कहा कि जिले के सभी कोविड मृतक परिजनों को मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना से सात दिन में जोड़ने की व्यवस्था सुनिश्चित करावे. उन्होंने कहा कि जरूरतमंद परिवार को समय से योजना का लाभ मिलना शुरू हो जाए इसमें किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरते. 

श्रम राज्य मंत्री ने कोविड मृतक परिजनों को मौके पर ही योजना से जुड़वाकर उनसे कहा कि किसी प्रकार की अन्य समस्या आए तो उनके निजी नम्बर पर सीधे सम्पर्क कर के बता सकते हैं उनकी तत्काल मदद कराई जाएगी.

और पढ़ें