VIDEO: मुख्यमंत्री गहलोत का केन्द्र सरकार पर हमला, कहा-राज्यों में प्रतिस्पर्धा पैदा करने के बजाय राज्यों को करें मजबूत

VIDEO: मुख्यमंत्री गहलोत का केन्द्र सरकार पर हमला, कहा-राज्यों में प्रतिस्पर्धा पैदा करने के बजाय राज्यों को करें मजबूत

कोटा: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज हाड़ौती के दौरे पर है. मुख्यमंत्री गहलोत ने केन्द्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि राज्यों में प्रतिस्पर्धा पैदा करने के बजाय राज्यों को मजबूत करें. केन्द्र की विसंगतिपूर्ण नीतियों से पूरे देश की राज्य सरकारों की आमदनी  कम हो रही है. महंगाई बढ़ने के अहम कारणों में ये भी है. सरकार पेट्रोल-डीजल पर प्रति लीटर 10 रुपए तक की कटौती करें. वहां दाम कम होने से राजस्व घटेगा, लेकिन हमें जनहित में ये भी मंजूर है.

मुख्यमंत्री गहलोत ने कोटा के पीपल्दा के जोरावरपुरा में प्रशासन गांवों के संग शिविर का अवलोकन करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र को अभी भी पेट्रोल-डीजल की रेट घटानी चाहिए. 10 से 15 रुपए प्रति लीटर कम करने की जरूरत है. पेट्रोल-डीजल के भाव बढ़ने से लोगों की रसोई का बजट बिगड़ गया. राज्य सरकार 5 लाख तक खर्चा उठाएगी. अस्पताल से डिस्चार्ज होने के 15 दिन बाद तक का सरकार खर्चा उठाएगी. हमारी सरकार ने किसानों के बिजली बिल 12 हजार रुपए तक माफ किए. हमने 2 साल में 123 कॉलेज खोले. उनमें से 33 कॉलेज महिलाओं के लिए खोले. स्थायी और अस्थायी कर्मचारियों की समस्याओं पर सरकार का पूरा ध्यान है. हमारी सरकार कर्मचारियों के लिए सदैव तत्पर है.

 

मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने संबोधन में कहा कि जोरावरपुरा गांव बॉर्डर के पास का गांव है, आज यहां पर सभी विभागों के अधिकारी मौजूद है. 22 विभागों के अधिकारी पूरे उत्साह के साथ काम कर रहे. कैंपों के अंदर लोगों के छोटे-बड़े काम हो रहे. गांवों में खेतों के रास्तों को लेकर झगड़े होते है. उसका भी निस्तारण अभियान में हो रहा है. प्रदेश में राज्य सरकार 80 लाख लोगों को पेंशन दे रही है. राज्य में असली काम राज्य सरकार ही करती है.

सीएम गहलोत ने कहा कि जोरावरपुरा में समस्याओं के निस्तारण के बेहतरीन काम हो रहे. पूरे प्रदेश की विभिन्न ग्राम पंचायतों में 5941 कैम्प अभी तक लग चुके हैं. हमने सरकार में आने के बाद पेंशन नियमों में व्यापक सरलीकरण किए.इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत हेलीकॉप्टर से कोटा के जोरावरपुरा गांव पहुंचे. उनके साथ पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद रहे. विधायक रामनारायण मीणा ने मुख्यमंत्री गहलोत की अगवानी की. इसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने प्रशासन गांवों के संग शिविर का अवलोकन किया गया.

और पढ़ें