कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा बयान, कहा-हम खुद विश्वास प्रस्ताव लाएंगे

 कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा बयान, कहा-हम खुद विश्वास प्रस्ताव लाएंगे

जयपुर: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा बयान दिया है. सीएम गहलोत ने कहा कि सदन में हम खुद विश्वास प्रस्ताव लाएंगे. हम 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते, लेकिन अभी जो खुशी है वो नहीं होती. क्योंकि अपने तो अपने होते हैं, जो हुआ उसे भूल जाएं. किसी भी विधायक की शिकायत को दूर करेंगे. अभी चाहो तो अभी बाद में चाहो तो बाद में मिल लें. बैठक में सभी ने एक साथ हाथ खड़े कर एकजुटता दिखाई. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में तमाम विधायक मौजूद रहे. यह बैठक सीएमआर में हुई. जहां पर सभी कांग्रेस के विधायक एक जुट दिखाई दिए. इससे पहले पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने सीएमआर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की. विवाद खत्म होने के बाद सीएम गहलोत और पायलट ने एक दूसरे से हाथ मिलाया. 

एंटीजन टेस्ट पर पुनर्विचार करें केन्द्र सरकार, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा के निर्देश पर केन्द्र को लिखा गया पत्र

आखिर सामने आ गयी एक सुखद तस्वीर:
राजस्थान सियासी संकट के बाद आखिर एक सुखद तस्वीर सामने आ गई. कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गहलोत और पायलट दोनों बैठक में मौजूद रहे. बैठक में केसी वेणुगोपाल, अविनाश पांडे, सुरजेवाला, अजय माकन भी मौजूद रहे. बैठक में गहलोत-पायलट समेत सभी ने विक्ट्री का साइन दिखाया. बैठक में गोविंद सिंह डोटासरा ने अपने संबो​धन में कहा कि अंग्रेजों की फूट डालो राज करो की तर्ज पर भाजपा ने षड़यंत्र किया, लेकिन भाजपा अपने षड़यंत्र में कामयाब नहीं हुई. बैठक में विवेक बंसल, काजी निजामुद्दीन ,देवेन्द्र यादव और तरुण कुमार समेत तमाम मं​त्री और विधायक गण मौजूद रहे.

भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह का निलंबन खत्म:
आपको बता दें कि राजस्थान में शुक्रवार से विधानसभा का सत्र शुरू हो रहा है. इससे पहले आज कांग्रेस के भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह का निलंबन खत्म किया गया है. कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अनिवाश पांडे ने इसकी घोषणा की है. इसके बाद अब इन दोनों विधायकों को भी CMR की बैठक में बुलाया है. 

गहलोत सरकार को गिराने का लगा था आरोप:
बता दें कि इससे पहले कांग्रेस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए विधायक भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह को पार्टी से निलंबित कर दिया था. इन दोनों विधायकों पर बीजेपी से सांठगांठ करके गहलोत सरकार गिराने का आरोप लगा था. इसके कुछ ऑडियो भी सामने आए थे. इस बारे में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस नेता भंवरलाल शर्मा और बीजेपी नेता संजय जैन की बातचीत के बारे में बताया था. 

कोरोना को देखते हुए गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, अब मोबाइल ओपीडी वैन के जरिए मिलेंगी निशुल्क दवा

और पढ़ें