VIDEO: पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का दुःखद निधन, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताया शोक, आज होगा पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

VIDEO: पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का दुःखद निधन, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताया शोक, आज होगा पैतृक गांव में अंतिम संस्कार

जोधपुर: राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के निधन की खबर लगते ही पूरे मारवाड में शोक की लहर छा गई. पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा के निधन पर मुख्यमंत्री गहलोत ने शोक जताते हुए  गहरी संवेदनाएं व्यक्त की. सीएम गहलोत ने कहा कि ईश्वर शोकाकुल परिजनों को यह आघात सहने की शक्ति प्रदान करे. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने ट्वीट करते हुए कहा कि पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं किसान नेता महिपाल मदेरणा के निधन का समाचार बेहद दु:खद है. शोक संतप्त परिजनों के प्रति मैं गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे.

महिपाल मदेरणा के निधन पर जताया गहरा दुख:

परिवहन मंत्री परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने ट्वीट करते हुए कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री श्री महिपाल मदेरणा जी के निधन का समाचार सुनकर बहुत दुःख हुआ , मैं ईश्वर से दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान एवं परिजनों को यह दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करता हूँ. मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने महिपाल मदेरणा के निधन पर गहरा दुख जताया. महेश जोशी ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की. परिवार को इस दुख को सहने की क्षमता प्रदान करने की प्रार्थना ईश्वर से की. BJP पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी ने कहा कि महिपाल मदेरणा के निधन का समाचार दु:खद है, ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दे. परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें.

श्रद्धांजलि देने वालों का लगा हुआ तांता:

आपको बता दें कि महिपाल मदेरणा के निवास पर श्रद्धांजलि देने वालों का लगातार तांता लगा हुआ है. सांसद पीपी चौधरी से लेकर कुलदीप विश्नोई व पूर्व विधायक मलखान सिंह विश्नोई के अलावा कांग्रेस नेता नारायण डाबडी,काशीराम विश्नोई,पूर्व विधायक नारायणराम बेडा सहित कई नेताओं ने निवास पर पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की है. राज्य सरकार की ओर से भी श्रद्धांजलि अर्पित की गई. मदेरणा की पार्थिव देह पर पुष्प चक्र चढाया गया. एडीएम एमएल नेहरा और महिपाल भारद्धाज ने मदेरणा के निवास पर पुष्प चक्र चढाकर श्रद्धांजलि दी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भांजे जसवंत सिंह कच्छवाहा के अलावा पीसीसी सचिव श्रवण पटेल ने भी निवास पहुंचकर श्रद्धांजलि अर्पित की.

दो पुत्रियां दिव्या मदेरणा और रूपल मदेरणा:

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं पूर्व मंत्री महिपाल मदेरणा का जन्म दिग्गज कांग्रेसी नेता एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय परसराम मदेरणा के घर 5 मार्च 1952 को जोधपुर जिले के लक्ष्मण नगर चाडी गांव में हुआ था. उन्होंने जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर से ba.llb तक की पढ़ाई की है. वह दो भाई है और उनके उनके पिता स्वर्गीय परसराम मदेरणा एवं बड़े भाई अशोक का पूर्व में निधन हो चुका है. उनकी पत्नी लीला मदेरणा वर्तमान में हाल के पंचायत चुनावों में जोधपुर की जिला प्रमुख बनी है. और दो पुत्रियां दिव्या मदेरणा और रूपल मदेरणा हैं. जिनमें से दिव्या मदेरणा वर्तमान में इस परिवार की तीसरी पीढ़ी के रूप में राजनीति संभालते हुए वर्तमान में जोधपुर जिले की ओसियां से विधायक हैं. 

गहलोत सरकार में रहे जलदाय विभाग के कैबिनेट मंत्री.

महिपाल मदेरणा करीब 18 साल से अधिक समय तक जोधपुर के जिला प्रमुख रहने के साथ ही वर्ष 2003 से 2008 तक भोपालगढ़ विधानसभा क्षेत्र एवं 2008 से 2013 तक ओसियां से विधायक रहने के साथ ही तत्कालीन अशोक गहलोत सरकार में जलदाय विभाग के कैबिनेट मंत्री भी रहे. इस दौरान भंवरी प्रकरण सामने आने के बाद उन्हें जेल जाना पड़ा था और अभी करीब महीने भर पहले ही उन्हें राजस्थान उच्च न्यायालय से जमानत मिली थी. लेकिन वे पिछले काफी समय से मुंह के कैंसर से जूझ रहे थे और बाद में उन्हें कोरोना भी हो गया था. हालांकि कोरोना से वे काफी ठीक भी हो गए थे, लेकिन कैंसर व कोरोना का असर उन पर अभी तक बना हुआ था और वे नियमित रूप से कीमोथेरेपी लेने के साथ ही कोरोना से उबरने में भी लगे हुए थे. लेकिन इस बीच आज कल सुबह करीब 6:15 बजे उन्होंने अपने जोधपुर स्थित निवास पर अंतिम सांस ली. 

आज होगा पैतृक गांव चाडी में अंतिम संस्कार:

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार सुबह करीब 10:00 बजे उनके अंतिम यात्रा जोधपुर स्थित निवास से शुरू होकर पैतृक गांव चाडी के लिए जाएगी और वहां शाम करीब 4:00 बजे पिता पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय परसराम मदेरणा की समाधि के पास ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. दूसरी ओर मदेरणा के निधन की सूचना मिलने के साथ ही भोपालगढ़ व ओसियां के अलावा समूचे जोधपुर जिले सहित मारवाड़ भर में उनके समर्थकों में शोक की लहर सी दौड़ गई है और गांव-गांव से कार्यकर्ता जोधपुर स्थित उनके निवास पर जाने के लिए रवाना हो रहे हैं.


 

और पढ़ें