जयपुर जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान कराने के लिए संवेदनशील है सरकार: मुख्यमंत्री गहलोत

जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान कराने के लिए संवेदनशील है सरकार: मुख्यमंत्री गहलोत

जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान कराने के लिए संवेदनशील है सरकार: मुख्यमंत्री गहलोत

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि राज्य सरकार समाज के वंचित, असहाय सहित सभी जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान कराने के लिए संवेदनशील है.उन्होंने दावा किया कि सरकार ने सामाजिक सुरक्षा के प्रति गंभीरता दिखाते हुए हर पात्र व्यक्ति को विभिन्न योजनाओं के जरिए लाभ पहुंचाया है.गहलोत शनिवार को मुख्यमंत्री निवास पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन, पालनहार योजना, मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना सरकार की महत्वपूर्ण योजनाएं है जिनसे जरूरतमंदों को आगे बढ़ने के अवसर मिल रहे हैं.मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन के तहत राज्य में 92 लाख पेंशन भोगियों को पेंशन दी जा रही है. उन्होंने कहा कि हर जरूरतमंद को सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ मिले, यह सुनिश्चित किया जाए, विभागीय अधिकारी भारत के विभिन्न राज्यों और अन्य देशों में सामाजिक सुरक्षा में किए जा रहे कार्यों का अध्ययन करें.

उन्होंने कहा कि सरकार की महत्वाकांक्षी पालनहार योजना में प्रदेश के 5.97 लाख बच्चों के आर्थिक, सामाजिक एवं शैक्षणिक विकास सुनिश्चित करने के लिए मासिक आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जा रही है.गहलोत ने कहा कि वर्ष 2019-20 में 3.88 लाख बच्चे लाभान्वित थे, अब संख्या लगभग दोगुनी हो गई है. योजना में आर्थिक सहायता राशि बढ़ाई गई है.उन्होंने ने कहा कि मुख्यमंत्री अनुप्रति कोचिंग योजना में सीटों की संख्या बढ़ाई गई है, योजना के लिए 25 करोड़ रूपये के बजट प्रावधान को बढ़ाकर 40 करोड़ रूपये किया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वित्तवर्ष 2022-23 के बजट में विशेष योग्यजनों के लिए स्कूटियों की संख्या को दो हजार से बढ़ाकर पांच हजार और पात्रता में उम्र का दायरा भी बढ़ाकर 45 वर्ष किया गया है.(भाषा) 

और पढ़ें