लखनऊ बेटियों की सुरक्षा के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एंटी रोमियो स्क्वॉड सक्रिय किए जाएं : मुख्यमंत्री योगी

बेटियों की सुरक्षा के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एंटी रोमियो स्क्वॉड सक्रिय किए जाएं : मुख्यमंत्री योगी

बेटियों की सुरक्षा के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एंटी रोमियो स्क्वॉड सक्रिय किए जाएं : मुख्यमंत्री योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को निर्देश दिया कि नवरात्र के पहले दिन से ही पुलिस विभाग की तरफ से महिला सुरक्षा को लेकर विशेष अभियान चलाया जाए और बेटियों की सुरक्षा के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एंटी रोमियो स्क्वॉड सक्रिय किए जाएं.एक सरकारी प्रवक्ता ने यह जानकारी दी. प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने गृह विभाग से 100 दिनों की कार्ययोजना के तहत प्राथमिकताएं तय कर तेजी से कार्यवाही करने को कहा है. उन्होंने बताया कि योगी ने पुलिस विभाग में 100 दिनों में कम से कम 10,000 पुलिसकर्मियों की भर्ती सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं.

अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिए, नवरात्र के पहले दिन से ही पुलिस विभाग महिला सुरक्षा को लेकर विशेष अभियान चलाए. बेटियों की सुरक्षा के लिए सभी स्कूल-कॉलेज में एंटी रोमियो स्क्वॉड सक्रिय किए जाएं. इसके साथ ही पुलिस की एक टीम शाम को बाजारों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में पैदल गश्त लगाए.

सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा कि 10 अप्रैल से प्रदेश भर में मिशन शक्ति से जुड़े कार्यक्रमों की शुरुआत होगी, जिसे लेकर विभाग की तरफ से सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएं.सहगल के मुताबिक, योगी ने निर्देश दिया कि महिला कांस्टेबल को बीट स्तर पर तैनात किया जाए और सभी विभागों के कर्मचारी समन्वय स्थापित कर महिला बीट अधिकारी के साथ गांव की महिलाओं से संवाद स्थापित कर उन्हें प्रदेश सरकार की तरफ से महिलाओं के लिए चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराएं.

सहगल ने बताया कि योगी ने कहा कि अधिकारी सप्ताह के एक दिन नगरीय वार्ड और गांवों में वृहद अभियान शुरू कर ग्राम सचिवालय में महिलाओं से जुड़ी समस्याओं का समयबद्ध तरीके से निस्तारण करें. उन्होंने बताया कि कि योगी ने स्कूल, कॉलेज, बाजार और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं.सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरक्षा, सुव्यवस्था एवं सुशासन प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है, लिहाजा राज्य के सभी आस्था केंद्रों व महत्वपूर्ण स्थलों पर सुरक्षा व्यवस्था और बेहतर की जाए.

प्रवक्ता के मुताबिक, योगी ने कहा कि आगामी एक वर्ष में सभी जनपदों में पुलिस लाइनों की औचित्यपूर्ण स्थापना की जाए. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ कठोर कार्रवाई करते हुए अवैध संपत्तियों को ढहाने व जब्त करने के निर्देश दिए.प्रवक्ता के अनुसार, योगी ने दो टूक कहा कि पेशेवर अपराधियों के साथ-साथ खनन, शराब, पशु, वन और भू माफियाओं के प्रति किसी भी तरह की रियायत न बरती जाए.

प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी तहसील मुख्यालयों पर दमकल सेवा की स्थापना का कार्य 100 दिन की प्राथमिकताओं में शामिल करते हुए पूरा किया जाए.प्रवक्ता ने बताया कि योगी ने निर्देश दिए कि ग्राम पंचायत और वॉर्ड स्तर पर तैनात महिला बीट के पुलिस अधिकारी महिला अपराध नियंत्रण एवं विकास योजनाओं के प्रचार-प्रसार की कार्यवाही अंतर-विभागीय समन्वय के माध्यम से करें.

प्रवक्ता के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने कहा कि खुफिया विभाग, एसटीएफ और एटीएस की कार्य प्रणाली में परस्पर समन्वय स्थापित किया जाए. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने हर थाने और जनपद में शीर्ष दस अपराधियों को चिन्ह्ति कर उनके प्रति कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.प्रवक्ता के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि चार्जशीट के संबंध में समीक्षा की जाए और यूपी गैंगस्टर एक्ट व गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई सुनिश्चित हो. प्रवक्ता ने बताया कि योगी ने तकनीक के इस्तेमाल पर जोर देते हुए अपराध नियंत्रण की कार्यवाही करने के निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने सोशल मीडिया का प्रभावी संचालन सुनिश्चित करते हुए सफलता की कहानियों को प्रचारित-प्रसारित करने को भी कहा. (भाषा) 

और पढ़ें