VIDEO: स्पेशली एबल्ड बच्चों के बीच पहुंचे मुख्य सचिव डीबी गुप्ता

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2019/03/19 06:31

जयपुर (ऋतुराज शर्मा)। मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने दर्शन एनजीओ का विजिट करने के बाद कहा कि यहां के स्पेशली एबल्ड बच्चे कई मायने में सरकारी स्कूल के आगे की कक्षाओं के बच्चों से भी आगे हैं। उन्होंने एनजीओ के दसवीं कक्षा की मान्यता के लिए हर संभव मदद करने और स्पेशली एबल्ड बच्चों की रोजगार की दिशा में काम करने का आश्वासन भी दिया। खास रिपोर्ट-

दर्शन स्पेशली एबल्ड बच्चों की केयरिंग व पढ़ाई लिखाईं के लिए आवासीय एनजीओ है। इसकी स्थापना 2007 में पूर्व सीईसी नवीन चावला के चाचा दीनानाथ चावला की विल से हुई। वे बच्चों के लिए स्कूल शुरू करना चाहते थे। नवीन ने इस काम का बीड़ा उठाया तो उन्होंने बच्चों के लिए नहीं स्पेशली एबल्ड बच्चों के लिए खोला। 11 वर्षों में यहां 2 बच्चों से करीब 80 बच्चे हो गए और अब यहां कक्षा 9 तक पढ़ाई होती है। अब एनजीओ को दसवीं कक्षा की पढ़ाई की मान्यता देने का दिलवाने की प्रमुख चुनौती है। 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा के बाद स्कूली बच्चों का अपने पैरों पर खड़े होने का सिलसिला आगे बढ़ सकेगा।

मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने विजिट करके यह कहा कि इन बच्चों का आईक्यू लेवल स्कूली बच्चों में इनसे ज्यादा बड़े बच्चों से ज्यादा नजर आया। अब एनजीओ को दसवीं बोर्ड की परीक्षा की मान्यता दिलाने में सहयोग किया जाएगा। साथ ही इन बच्चों को प्रशिक्षित करके अच्छी नौकरी ज्यादा से ज्यादा दिलवाने का भी प्रयास रहेगा। चावला ने कहा कि बड़ी संख्या में बच्चे कंप्यूटर में प्रशिक्षित होकर ताज होटल और अन्य जगहों पर नौकरी लगे हैं और अब इन बच्चों के लिए प्रशिक्षण संस्थान शुरू करना और बोर्ड परीक्षा की मान्यता देना ना हम लक्ष्य है। स्कूली बच्चों को देख कर डीबी गुप्ता को अपने बचपन के दिन याद आए। साथ ही उन्होंने एक किस्सा याद करते हुए कहा कि जब भैरों सिंह शेखावत मुख्यमंत्री थे, तब वे डिप्टी सचिव वित्त थे, तब नोट शीट पर उनका नोट लिखा देखकर उन्होंने उन्हें साधुवाद दिया।

पूर्व सीईसी के इन प्रयासों में पूर्व मुख्य सचिव सलाउद्दीन अहमद और अन्य रिटायर्ड आईएएस अधिकारियों ने अहम योगदान दिया है। साथ ही 2 वर्षों से टाटा ट्रस्ट भी इन बच्चों की देखभाल में अहम योगदान कर रहा है इनके भोजन और नाश्ते में अक्षय पात्र फाउंडेशन योगदान कर रहा है।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in