बीजिंग चीन ने ताइवान जलडमरूमध्य से अमेरिकी जहाजों के गुजरने पर जताया विरोध

चीन ने ताइवान जलडमरूमध्य से अमेरिकी जहाजों के गुजरने पर जताया विरोध

चीन ने ताइवान जलडमरूमध्य से अमेरिकी जहाजों के गुजरने पर जताया विरोध

बीजिंग: चीन के रक्षा मंत्रालय ने चीन और ताइवान के बीच समुद्री क्षेत्र से अमेरिका के एक नौसैन्य युद्धक और तटरक्षक बल के पोत के गुजरने का शनिवार को विरोध किया. चीन, ताइवान पर अपना हक जताता है. मंत्रालय की वेबसाइट पर पोस्ट एक बयान में इस कदम को उकसावे वाला बताया गया. बयान में कहा गया कि यह दिखाता है कि अमेरिका 160 किलोमीटर तक फैले ताइवान जलडमरूमध्य में शांति, स्थिरता एवं सुरक्षा के लिए सबसे बड़ा खतरा है. बयान में कहा गया है कि हम इसका कड़ा विरोध और कड़ी निंदा करते हैं.

अमेरिकी नौसेना ने कहा कि यूएसएस किड निर्देशित मिसाइल विध्वंसक एवं तटरक्षक बल का पोत मुनरो शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र से गुजरा. ऐसे अभ्यास चीन को चेतावनी के तौर पर देखे जाते हैं जिसने हाल में ताइवान के समीप अभ्यास किए थे और इस द्वीप को अपने नियंत्रण में लेने के लिए जरूरत पड़ने पर बल प्रयोग से इनकार नहीं किया था. अमेरिकी नौसेना के जापान आधारित सातवें बेड़े ने एक बयान में कहा कि पोतों का ताइवान जलडमरूमध्य से कानूनी रूप से गुजरना मुक्त एवं खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के प्रति अमेरिका की प्रतिबद्धता को दिखाता है. (भाषा)

और पढ़ें