बीजिंग चीन ने अमेरिका को खराब संबंधों के कारण जलवायु वार्ता पर असर पड़ने को लेकर किया आगाह

चीन ने अमेरिका को खराब संबंधों के कारण जलवायु वार्ता पर असर पड़ने को लेकर किया आगाह

चीन ने अमेरिका को खराब संबंधों के कारण जलवायु वार्ता पर असर पड़ने को लेकर किया आगाह

बीजिंग: चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने अमेरिका के जलवायु दूत जॉन कैरी को आगाह किया कि पहले से खराब हो रहे अमेरिका-चीन के संबंध जलवायु परिवर्तन पर दोनों देशों के बीच सहयोग को कमतर कर सकते हैं. 

विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक समाचार विज्ञप्ति के अनुसार, वांग ने बुधवार को वीडियो लिंक के जरिए कैरी से कहा कि ऐसा सहयोग वृहद संबंधों से अलग नहीं किया जा सकता और उन्होंने अमेरिका से संबंधों में सुधार लाने के कदम उठाने का आह्वान किया. ‘सीजीटीएन’ पर दिखाई बैठक की एक संक्षिप्त वीडियो क्लिप के अनुसार, जलवायु वार्ता के लिए चीन के तियानजिन शहर में मौजूद कैरी ने कहा कि चीन जलवायु परिवर्तन से निपटने के प्रयासों में ‘‘बेहद अहम भूमिका निभाता है. 

ग्रीन हाउस गैस का सबसे बड़ा उत्सर्जक:
गौरतलब है कि चीन दुनिया में ग्रीन हाउस गैस का सबसे बड़ा उत्सर्जक है और इसके बाद अमेरिका का नंबर आता है. व्यापार, प्रौद्योगिकी और मानवाधिकारों पर विवाद के कारण अमेरिका और चीन के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं.  लेकिन दोनों देशों ने जलवायु संकट को संभावित सहयोग के क्षेत्र के तौर पर पहचाना है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने बुधवार को एक दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चीन और अमेरिका के बीच कुछ मुद्दों पर मतभेद हैं। साथ ही हमारे जलवायु परिवर्तन जैसे कई क्षेत्रों में साझा हित हैं। दोनों पक्षों को एक-दूसरे का सम्मान और परस्पर लाभकारी सहयोग करते हुए संवाद बनाए रखना चाहिए. चीन पहुंचने से पहले कैरी मंगलवार को जापानी अधिकारियों के साथ जलवायु मुद्दों पर चर्चा के लिए मंगलवार को जापान में रुके थे. सोर्स-भाषा

और पढ़ें