बूढ़ी होती आबादी के बीच चीन सरकार ने फैमिली प्लानिंग के नियमों में दी ढील, अब तीन बच्चे पैदा कर सकेंगे कपल

बूढ़ी होती आबादी के बीच चीन सरकार ने फैमिली प्लानिंग के नियमों में दी ढील, अब तीन बच्चे पैदा कर सकेंगे कपल

बूढ़ी होती आबादी के बीच चीन सरकार ने फैमिली प्लानिंग के नियमों में दी ढील, अब तीन बच्चे पैदा कर सकेंगे कपल

नई दिल्ली: चीन में हाल ही में जारी हुए जनसंख्या वृद्धि के आंकड़ों के बाद चिंता और बढ़ गई. बूढ़ी होती आबादी और जनसंख्या बढ़ने की धीमी रफ्तार से चिंतित चीन ने एक बड़ा और अहम फैसला लिया है. अब चीन सरकार ने परिवार नियोजन (family planning) के नियमों में ढील देने का ऐलान कर दिया है. चीनी सरकार की आधिकारिक घोषणा के बाद अब चीन दंपती तीन बच्चे पैदा कर सकेंगे. इस बारे में चीन की सरकारी मीडिया ने सोमवार को जानकारी दी है. 

आंकड़ों के मुताबिक, चीन में पिछले साल जनसंख्या वृद्धि की दर 1960 के दशक के बाद सबसे कम रही है. सोमवार को लिए गए फैसले के मुताबिक, अब चीन में कोई कपल तीन बच्चे पैदा कर सकेगा. पहले चीन में सिर्फ दो बच्चे पैदा करने की इजाजत थी. हाल ही में चीन की जनसंख्या के आंकड़े सामने आए थे, जिसमें सामने आया कि चीन में आबादी का बड़ा तबका तेज़ी से बूढ़ा हो रहा है. ऐसे में भविष्य की चिंताओं को देखते हुए चीन को इस कदम को उठाना पड़ा.  

 

राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अध्यक्षता में सोमवार को बैठक हुई:
बता दें कि चीन बच्चे पैदा करने की इजाजत देने के फैसले की घोषणा से पहले राष्ट्रपति शी जिनपिंग की अध्यक्षता में सोमवार को एक बैठक हुई. इसके बाद बयान जारी कर इसकी आधिकारिक घोषणा की गई. बयान में कहा गया कि अधिक उम्र वाली आबादी की बढ़ती समस्या के समाधान के लिए कुछ बड़े कदम उठाने की आवश्यकता है. अब से दंपतियों को तीन बच्चे पैदा करने की इजाजत दी जाती है.   

1970 के दशक में चीन के कुछ इलाकों में वन चाइल्ड पॉलिसी लाई गई थी:
चीन इस वक्त भी दुनिया में सबसे ज्यादा आबादी वाला देश है और उसके बाद भारत का नंबर आता है. 1970 के दशक में आबादी की बढ़ती रफ्तार पर काबू पाने के लिए चीन के कुछ इलाकों में वन चाइल्ड पॉलिसी लाई गई थी. इस नियम का पूरे देश में इसका उल्टा असर हुआ. चीन में बच्चों के पैदा होने की रफ्तार कम होने लगी.  चीन में बच्चों के पैदा होने की रफ्तार कम होने लगी. 

2009 में चीन ने वन चाइल्ड पॉलिसी में बदलाव किया:
उसके बाद साल 2009 में चीन ने वन चाइल्ड पॉलिसी में बदलाव किया और चिन्हित लोगों को दो बच्चे करने की आजादी दी. दो बच्चे सिर्फ वही कपल कर सकते थे, जो अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे. साल 2014 तक इस नीति को भी पूरे चीन में लागू कर दिया गया था. उसके बाद अब एक बार फिर इस नीति में बदलाव किया गया है. 

और पढ़ें