Chitrakoot Jail Gangwar: CM योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज,छह घंटे में रिपोर्ट देने का निर्देश

Chitrakoot Jail Gangwar: CM योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज,छह घंटे में रिपोर्ट देने का निर्देश

Chitrakoot Jail Gangwar: CM योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज,छह घंटे में रिपोर्ट देने का निर्देश

लखनऊ: भगवान राम की तपोस्थली चित्रकूट की जिला जेल में शुक्रवार को गैंगवार (Gangwar) में दर्जनों राउंड फायरिंग (Dozens of Rounds Firing) की गूंज लखनऊ में CM योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) के सरकारी आवास तक पहुंच गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस प्रकार की घटना पर बेहद नाराजगी जताने के साथ ही सिर्फ छह घंटे के अंदर ही इस मामले की रिपोर्ट मांगी है.

महानिदेशक जेल आनंद कुमार ने इस मामले की रिपोर्ट तलब की:
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के महानिदेशक जेल आनंद कुमार (Director General Jail Anand Kumar) ने इस मामले की रिपोर्ट तलब की है. इसके साथ ही DG जेल को निर्देशित किया कि मंडलायुक्त चित्रकूटधाम मंडल डीके सिंह (Divisional Chitrakoot Dham Mandal DK Singh), पुलिस महानिरीक्षक (Inspector General of Police) चित्रकूट धाम के. सत्यनारायण और DIG जेल, मुख्यालय लखनऊ संजीव त्रिपाठी की टीम इस प्रकरण की जांच करे. इतना ही नहीं इस जांच समिति से सिर्फ छह घंटे में ही जांच रिपोर्ट मांगी गई है.

हिस्ट्रीशीटर अंशु दीक्षित ने की ताबड़तोड़ फायरिंग:
चित्रकूट जिला जेल में शुक्रवार को दिन में करीब दस बजे गैंगस्टर (Gangster) सीतापुर के अंशु दीक्षित के साथ मुकीम काला और उसके साथी मेराजु्द्दीन उर्फ मेराज अली के बीच हुई झड़प मारपीट के बाद गोलीबारी में बदल गई है. इस दौरान अंशु दीक्षित ने ताबड़तोड़ फायरिंग (Quick Firing) कर मुकीम काला और मेराजु्द्दीन उर्फ मेराज अली को मौत के घाट उतार दिया. जेल में फायरिंग की जानकारी के बाद पुलिस ने अंशु दीक्षित को चारों तरफ से घेर लिया तो उसने अन्य कैदियों को अपनी ढाल बनाना चाहा. इसी बीच पुलिस ने उसके ऊपर शिकंजा कस दिया.

उसने जब पुलिस पर फायर झोंक दिया तो पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में उसको ढेर कर दिया. अंशु दीक्षित का प्रदेश में काफी आतंक था. लम्बे समय से चित्रकूट जेल में बंद अंशु दीक्षित ने STF (Special Task Force) से भी कई बार लोहा लिया था. पुलिस की गिरफ्त से भागने के बाद फिर STF से भी उसको गिरफ्तार किया.

और पढ़ें