Live News »

विश्वविख्यात गड़ीसर पाल पर लगे हजारों पौधों पर नगर परिषद ने चलाया बुलडोजर

विश्वविख्यात गड़ीसर पाल पर लगे हजारों पौधों पर नगर परिषद ने चलाया बुलडोजर

जैसलमेर: दुनिया में पेड़-पौधों की संख्या लगातार कम हो रही है. हालांकि इनको बचाने के लिए भी तरह-तरह के उपाय हो रहे हैं. सीमावर्ती जिले जैसलमेर में ऐसे ही पौधों की बेहद कमी है. सरकार और जिला प्रसाशन पेड़ पौधे लगाने के लिए कहती है लेकिन जैसलमेर गड़ीसर सरोवर की पाल पर लगे पौधों पर नगर परिषद ने ही बुलडोजर चला दिया. एक तरफ पर्यावरण बचाने के प्रयास हो रहे हैं, दूसरी तरफ नगर परिषद खुद पौधों पर जेसीबी चला रही है.

नगर परिषद आयुक्त के खिलाफ थाने में रिपोर्ट 
जिस संस्था ने यह पौधे रोपे थे उनके सदस्यों ने इस कार्रवाई का विरोध किया और नगर परिषद आयुक्त के खिलाफ थाने में रिपोर्ट दी है. इसके विपरीत नगर परिषद के जिम्मेदारों का कहना है कि केवल 40-50 पौधे ही हटाए हैं, क्योंकि यहां वॉकिंग स्ट्रीट का काम होना है. नगरपरिषद ने 1 हजार पौधे रोपने का लक्ष्य रखा है, जो जल्द ही स्थान चिह्नित होते ही रोपे जाएंगे. मामले के अनुसार जब नगर परिषद की टीम ने यह कार्रवाई की तो आई लव संस्था के कुछ सदस्य मौके पर पहुंचे और आयुक्त से पौधे हटाने का विरोध किया, लेकिन नगरपरिषद की टीम ने उनकी नहीं सुनी और बुलडोजर चला दिया. 

पर्यावरण प्रेमी नगर परिषद आयुक्त का घेराव करेंगे
बाद में आई लव संस्था के सचिव कूंपसिंह ने थाने में रिपोर्ट देकर बताया कि दो साल पहले आई लव संस्था ने गड़ीसर की पाल पर 1069 पौधे लगाए थे. उस दौरान जिला प्रशासन सहित, बीएसएफ व एयरफोर्स के जवानों ने भी इस पौधरोपण में हिस्सा लिया था. आयुक्त सुखराम खोखर ने अपनी मनमानी करते हुए इन पौधों पर जेसीबी चला दी. आई लव संस्था के विमल गोपा ने बताया कि नगरपरिषद आयुक्त ने यह कार्रवाई किसी भी अधिकारी के निर्देश पर नहीं की है, उन्होंने मनमानी करते हुए यह कृत्य किया है. गोपा ने बताया कि पर्यावरण प्रेमी नगर परिषद आयुक्त का घेराव करेंगे. हमारी मांग 2100 पौधे वापस लगाने की तथा आयुक्त के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की है.  

और पढ़ें

Most Related Stories

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, BSP के विधायको का वोट फ्रीज नहीं कर सकता कोर्ट

VIDEO: विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, BSP के विधायको का वोट फ्रीज नहीं कर सकता कोर्ट

जैसलमेर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान सामने आया है. फर्स्ट इंडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कोर्ट बसपा के विधायकों का वोट फ्रीज नहीं कर सकता. कोर्ट अधिकाधिक बसपा के विलय को रोक सकता है, तब नया दल बसपा लोकतांत्रिक या कोई और दल बनाने से नहीं रोका जा सकता है. 

राहुल गांधी-सचिन पायलट मुलाकात आज! पायलट कैंप से जुड़े सूत्रों ने दिए संकेत  

मदन दिलावर जाने क्यों परेशान? 
इसके साथ ही संयम लोढ़ा ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा तो फड़फड़ा रही है, मानसकिता संकीर्ण रही है. इसके साथ ही आदिवासी लीडरशिप का अपमान किया है. लोढ़ा ने कहा कि मदन दिलावर जाने क्यों परेशान है उन्होंने लिखा है कि उन्हें अपूरणीय क्षति हुई है. लेकिन ये समझ नहीं आता कि बसपा के विलय से उन्हें कैसे क्षति हुई है. ऐसे में सत्य की जीत होगी और सत्य अशोक गहलोत के साथ है. राजस्थान के चप्पे चप्पे से जनता का आशीष है. संवाददाता लक्ष्मण राघव ने विधायक संयम लोढा से खास बातचीत की...

 

VIDEO: पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा बोले, बीजेपी चुनी हुई सरकार गिराने में व्यस्त, प्रदेश में षड्यंत्र नहीं होगा कामयाब

जैसलमेर: कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविन्द डोटासरा ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की बाड़ेबंदी ने इस बात को पुख्ता कर दिया है, भाजपा के बड़े नेता खरीद फरोख्त में शामिल थे. एक लोकतांत्रिक सरकार को गिराना चाहते थे. चुनाव राजस्थान की जनता से जीतते है, विधायको को गुजरात, हरियाणा और कर्नाटक ले जाते है. ये लोकतंत्र का दुर्भाग्य है. डोटासरा ने कहा कि कैलाश चौधरी जो केन्द्रीय मंत्री है उन्होंने यहां कोरोना फैला दिया. सरकार गिराने के लिए लगे हुए थे, जबकि रिपोर्ट कराने के बाद घर बैठना था. साथ ही डोटासरा ने कहा कि निश्चित तौर पर सरकार 5 साल चलेगी.

विश्व आदिवासी दिवस पर CM गहलोत की सौगात, 127 करोड़ के 41 विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

शेखावत पर साधा निशाना:
पीसीसी चीफ डोटासरा ने गजेन्द्र शेखावत पर निशाना साधते हुए कहा कि वे बार बार ऑडियो टेप करने की बात कह रहे है, पहले उनको जो आडियो टेप हुआ है उस पर बयान दे. वे उस पर तो बयान दे नहीं रहे है दूसरों पर आरोप लगा रहे है. सब जो समर्थन दे रहे वे स्वतंत्रता से रह रहे है. 

पायलट को लेकर बोले डोटासरा:
सचिन पायलट को लेकर पीसीसी चीफ डोटासरा बोले, मैं ना केवल पायलट साहब, बल्कि  हर एक विधायक जो वहां है उनको कहना चाहता हूं. कांग्रेस के कार्यकर्ता ने खून पसीने की मेहनत से जीते है, उनको वापिस आकर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मान रखना चाहिए. उनको भाजपा के षड्यंत्र में नहीं फंसना चाहिए. गुजरात ही तो तोड़फोड़ का मॉडल है. देश की जनता देख रही है महाराष्ट्र, कर्नाटक और गोवा में सबने देखा. बसपा के मर्जर को चुनौती पर डोटासरा बोले, संविधान और कानून बहुत स्पष्ठ है. सुप्रीम कोर्ट के बहुत से फैसले है जो ये बताते है कि कोई भी 2/3 बहुमत से दल छोड़ सकता है या नया बना सकता है. संवाददाता लक्ष्मण राघव ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष से खास बातचीत की.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का बड़ा ऐलान, डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भर बनेगा भारत,अब देश में ही बनेंगे 101 रक्षा उपकरण

विश्व आदिवासी दिवस पर CM गहलोत की सौगात, 127 करोड़ के 41 विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

 विश्व आदिवासी दिवस पर CM गहलोत की सौगात, 127 करोड़ के 41 विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

जैसलमेर: विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आदिवासियों को बड़ी सौगात दी है. सीएम गहलोत ने 127 करोड़ के 41 विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास किया है. साथ ही 98 करोड़ रुपये के 28 कार्यों का शिलान्यास भी किया है. इस मौके पर 29 करोड़ के 13 कार्यों का लोकार्पण किया. सीएम गहलोत ने एकलव्य मॉडल आवासीय छात्रावासों की सौगात दी हैं. उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा और करौली को सौगात दी है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री गहलोत ने सड़कों की सौगात भी दी है.

जैसलमेर पहुंचे सीएम गहलोत, कहा-बीजेपी के लोग बाड़ेबंदी करके अब एक्सपोज हो चुके

जैसलमेर से किया विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास:
विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री गहलोत वीसी के माध्यम से कार्यक्रम कर रहे है. जैसलमेर से विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास किया. मंत्री अर्जुन बामनिया भी  मुख्यमंत्री के साथ मौजूद हैं. जनजातीय विधायक भी मुख्यमंत्री के साथ मौजूद. इस कार्यक्रम में मुख्य सचिव राजीव स्वरूप भी जयपुर से जुड़े है. कुलदीप रांका, गायत्री राठौड़ और नेहा गिरी मौजूद. इस मौके पर 9 जिलों के कलेक्टर भी कार्यक्रम से जुड़े. उदयपुर,डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, बारां, सिरोही, करौली, पाली व चित्तौडगढ़ के कलेक्टर मौजूद है. वीसी के माध्यम से ये कलेक्टर और अफसर जुड़े.

जैसलमेर पहुंचे सीएम गहलोत:
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जयपुर से जैसलमेर पहुंचे. वहां एयरपोर्ट पर पूर्व सांसद बद्री जाखड़ ने रिसीव किया. सीएम गहलोत के साथ मंत्री बीडी कल्ला,परसादी लाल मीणा,उदयलाल आंजना भी मौजूद रहे. साथ ही विधायक संयम लोढा और राजकुमार शर्मा और कांग्रेस नेता दिनेश खोड़निया भी जैसलमेर पहुंचे.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 6 मौत, 596 नए केस, जयपुर में मिले सर्वाधिक 71 पॉजिटिव मरीज 

जैसलमेर पहुंचे सीएम गहलोत, कहा-बीजेपी के लोग बाड़ेबंदी करके अब एक्सपोज हो चुके

जैसलमेर पहुंचे सीएम गहलोत, कहा-बीजेपी के लोग बाड़ेबंदी करके अब एक्सपोज हो चुके

जैसलमेर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जैसलमेर पहुंचे, जहां पर उन्होंने मीडिया से बातचीत में बीजेपी पर हमला किया हैं. सीएम गहलोत ने कहा कि बीजेपी के लोग बाड़ेबंदी करके अब एक्सपोज हो चुके है. दुर्भाग्य है देश का ऐसे लोग सत्ता में है, जो लोकतांत्रिक तरीके से चुनी हुई सरकारों को अस्थिर कर रहे है. उन्होंने कहा कि मैंने राजस्थान के षड्यंत्र के बारे में पीएम को भी बताया था. कई केंद्र के मंत्री राजस्थान सरकार को अस्थिर करने में लगे हुए है. सभी मिलकर षड्यंत्र कर रहे हैं. लोकतंत्र को कमजोर कर रहे हैं. इंदिरा गांधी भी हार गई थी लेकिन ढाई साल बाद जनता ने फिर सत्त्ता सौंप दी. सीएम गहलोत ने कहा कि 7-8 राज्यों में सत्ता बदल दी गई. मणिपुर, कर्नाटक, अरुणाचल में हॉर्स ट्रेडिंग हुई, मध्य प्रदेश में भी ऐसा ही हुआ था. 

विजय हमारी होगी:
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि विजय हमारी होगी, 14 के बाद भी विजय हमारी ही होगी. मैंने सभी विधायकों को पत्र लिखा है, मैंने कहा है कि विधायक जनता की आवाज और अंतरात्मा से फैसला लें. बागियों पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि 19 विधायकों की जो खबरें आ रही हैं वे चिंताजनक हैं. उन्हें किसी से मिलने नहीं दिया जा रहा है. सैकड़ों बाउंसरों की निगरानी में रखा है. SOG के लोग खाली बातचीत के लिए गए थे. ऐसे फैलाया गया जैसे राजद्रोह का मुकदमा हो. केवल सामान्य पूछताछ के लिए SOG गई थी. जानबूझ कर भ्रम फैलाया है. हम जनता से किए वादों को पूरा करने में लगे हुए हैं. सरकार को अस्थिर करने की कोशिश पर घर घर में गुस्सा है. बीजेपी के नेताओं और हमारी पार्टी के बागी नेताओं के खिलाफ जनता में गुस्सा है. 

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में कोविड केयर सेंटर में लगी आग, 7 लोगों की मौत, पीएम मोदी ने जताया दुख

सीएम गहलोत ने दी आदिवासी दिवस की शुभकामनाएं:
मुख्यमंत्री गहलोत ने आदिवासी दिवस की शुभकामनाएं दी है. उन्होंने कहा कि बीजेपी की पोल खुल चुकी है. राजस्थान में हॉर्स ट्रेडिंग की परंपरा नहीं है. भैरो सिंह शेखावत के समय मैंने सरकार गिराने का विरोध किया था. उन्होंने कहा कि प्रदेशवासियों के साथ से हम विजयी होंगे. हमने कोरोना को लेकर बेहतर काम किया है. जीवन बचाने के संघर्ष में राजनीति नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि बीजेपी ऐसे संकट के वक्त में सरकार गिराने में व्यस्त है. मैंने प्रधानमंत्री मोदी से खुद बात की.

जैसलमेर पहुंचे सीएम गहलोत:
इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जयपुर से जैसलमेर पहुंचे. वहां एयरपोर्ट पर पूर्व सांसद बद्री जाखड़ ने रिसीव किया. सीएम गहलोत के साथ मंत्री बीडी कल्ला,परसादी लाल मीणा,उदयलाल आंजना भी मौजूद रहे. साथ ही विधायक संयम लोढा और राजकुमार शर्मा और कांग्रेस नेता दिनेश खोड़निया भी जैसलमेर पहुंचे.

जोधपुर में 11 लोगों के शव मिलने से फैली सनसनी, एक ही परिवार के बताए जा रहे है सभी

जैसलमेर में PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा-BJP की बाड़ेबंदी ने साबित किया कि साजिश हुई थी

जैसलमेर: राजस्थान सियासी संकट के बीच जैसलमेर में PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि BJP की बाड़ेबंदी ने साबित किया कि साजिश हुई थी. BJP द्वारा राजनीतिक अस्थिरता करने का असफल प्रयास किया गया. डोटासरा ने BSP विधायकों को नोटिस पर कहा-संवैधानिक व्यवस्था की जीत होगी.

बसपा के 6 विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका, हाईकोर्ट में लंबित मामले को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की मांग

सुबह का भूला शाम को लौटेगा तो स्वागत है:
पीसीसी चीफ डोटासरा ने पायलट को लेकर कहा कि सुबह का भूला शाम को लौटेगा तो स्वागत है, हमने किसी को निकालने की पहल नहीं की तो आने की भी क्यों करें? कोई BJP की मेहमान नवाजी में बैठकर बात करना चाहे तो संभव नहीं है. दरवाजे सभी के लिए खुले हैं, जो हाईकमान फैसला लेगा मान्य होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि 14 अगस्त को BAC क्या फैसला करती है उस पर तय होगा फ्लोर टेस्ट? कम से कम BJP ने यह तो स्वीकार किया. उन्होंने कांग्रेस के लोगों को बरगलाने और खरीदने की चेष्टा की.

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के बाद अब भाजपा विधायकों की बाड़ेबंदी, BJP के करीब 20 विधायकों को भेजा गया गुजरात

VIDEO: कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए अच्छी बात- केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

VIDEO: कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए अच्छी बात- केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

जैसमलेर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच आज केन्द्रीय मंत्री कैलाश चौधरी का सियासी दौरा चर्चा का विषय रहा. ये साधारण सियासी घटना नहीं हो सकती है जब जैसलमेर में कांग्रेस की बाडेबंदी चल रही हो और उसी वक्त केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी का सियासी दौरा हो जाये. कैलाश चौधरी ने भाजपा की स्थानीय टीम के साथ बैठक कर जैसलमेर-बाड़मेर संसदीय क्षेत्र के विकास के मुद्दों पर गहलोत सरकार को घेरा. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा विधायकों पर तामील हुए कोर्ट के नोटिस, राजनैतिक क्षेत्रों में आश्चर्य! 

कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए यह अच्छी बात: 
वहीं इस दौरान कैलाश चौधरी ने फर्स्ट इंडिया न्यूज से खास बातचीत में कहा कि कांग्रेस वसुंधरा जी की तारीफ करें तो हमारे लिए यह अच्छी बात है. उन्होंने मुख्यमंत्री रहते बेहतर काम किए थे. वहीं कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि जब तक होटल में है सुरक्षित है. हालांकि सतीश पूनिया को लेकर किए गए सवाल को मंत्री  चौधरी टाल गए. हमारे संवाददाता लक्ष्मण राघव ने उनसे खास बातचीत की...

 

BSP मामले पर विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, कहा- किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं

BSP मामले पर विधायक संयम लोढ़ा का बड़ा बयान, कहा- किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं

जैसलमेर: सूर्यगढ़ में कांग्रेस की किलेबंदी को 7 दिन हो चले हैं. आज सियासत दानों की नजर हाई कोर्ट पर भी है. दरअसल, वहां बसपा मामले पर आज सुनवाई होनी है. first India News से खास बातचीत में संयम लोढ़ा ने कहा कि किसी को वोट से वंछित करने का अधिकार माननीय न्यायालय को नहीं है इस तरह की मंशा रखना ही ही गैरकानूनी है. चुने हुए जनप्रतिनिधियों को अपने क्षेत्र का विकास करवाना होता है. ऐसे में जनप्रतिनिधि सरकार को सहयोग देकर ऐसा करते रहे है इसमें आपत्तिजनक क्या है.

गुजरात: अहमदाबाद के कोरोना अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत, PM मोदी ने की मुआवजे की घोषणा 

सदन के बाहर और बेहतर इसका जवाब भाजपा को देना ही होगा: 
पायलट के खेमे के विधायकों के गुजरात शिफ्ट होने की चर्चा पर संयम लोढ़ा ने कहा कि वे भाजपा की शरण मे हैं. गुजरात चले जाए या दिल्ली चले जाए पर अच्छा ये ही होगा कि वे घर लौट जाएं. भारतीय जनता पार्टी को देश की जनता को आने वाले वक्त में जवाब देना पड़ेगा. जिस तरह से लगातार निर्लज्जता से धन के बल पर लोभ के बल पर चुनी हुई गैर भजापा सरकारों को गिराने का उपक्रम को भाजपा नेशुरु किया है उसका जवाब सदन में भी देना पड़ेगा सदन के बाहर भी देना पड़ेगा आज नहीं तो कल. वहीं समय समय पर सुप्रीम कोर्ट के जो फैसले आए है उच्च न्यायालयों को भी उसकी पालना करनी पड़ेगी. नम्बर गेम में हम पूरी तरह आश्वस्त है भारतीय जनता पार्टी का सपना धूलधूसरित करेंगे रहेंगे. संवाददाता लक्ष्मण राघव ने की संयम लोढ़ा से खास बातचीत....

 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

जैसलमेर: कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि धर्म की राजनीति नहीं हो चाहिए बल्कि राजनीति में धर्म हो. जैसलमेर के सूर्यगढ़ में राम मंदिर स्थापना समारोह को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा जारी किए गए बयान को पढ़कर सुनाते हुए कहा कि राम तो सबके है. राम सुग्रीव के भी हैं तो शबरी के भी हैं सबके दाता राम है. गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सन्मति देने वाले हैं.

जैसलमेर में विधायक मन से साथ, हम फ्लोर टेस्ट को तैयार- परसादी लाल मीणा  

उन्होंने कहा कि जो रब है वही राम है. मैथिलीशरण गुप्त का हवाला देते हुए बताया कि राम को गुप्त निर्मल का बल कहते थे प्रियंका गांधी ने अपने बयान में कहा है कि भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनको उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बने.  

VIDEO: आखिर कहां है इस वक्त पायलट कैंप के विधायक? जानकार सूत्रों ने दिए संकेत 

बागी विधायक भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें: 
राजस्थान राजनीति को लेकर बागियों की वापसी को लेकर पूछे गए सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि पहले भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें.  सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा में अपराध बढ़ रहे हैं राह चलते लोगों को पीटा जा रहा है बालिकाओं से दुष्कर्म के मामले बढ़ते जा रहे हैं उसे रोकने के लिए हरियाणा पुलिस नहीं दिखाई देती लेकिन बागी विधायकों की सुरक्षा में 1000 पुलिसकर्मी लगे हैं ताकि राजस्थान की SOG उन तक ना पहुंच जाए. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए बीकानेर से लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट

Open Covid-19