क्षय उन्मूलन के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समुदाय आधारित सहयोग आवश्यक: Mahajan

क्षय उन्मूलन के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समुदाय आधारित सहयोग आवश्यक: Mahajan

क्षय उन्मूलन के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समुदाय आधारित सहयोग आवश्यक: Mahajan

जयपुर: शासन सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सिद्धार्थ महाजन (Government Secretary, Medical and Health Siddharth Mahajan) की अध्यक्षता में बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) द्वारा स्टेट TB फोरम की बैठक का आयोजन किया गया. शासन सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सिद्धार्थ महाजन ने कहा कि वर्ष 2025 तक टी.बी. रोग का उन्मूलन करने हेतु सरकार द्वारा विशेष प्रयास किये जा रहे हैं.

लक्ष्य प्राप्ति के लिए समुदाय आधारित सहयोग की जरूरत:
इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए समुदाय आधारित सहयोग आवश्यक है, जिसके द्वारा संभावित क्षय रोगियों (TB Patients) की खोज एवं कार्यक्रम सम्मत सुविधाओं की जन-जन तक व्यापक पहुंच सुनिश्चित की जा सके. उन्होंने कहा कि क्षय रोगियों को समाज में उचित सम्मान एवं समान व्यवहार, कार्यक्षेत्र, सहायता आदि उपलब्ध कराने में भी समुदाय आधारित शिक्षा एवं सामाजिक सहयोग (Education and Social Cooperation) इस रोग के प्रति लोगों की धारणा को बदल सकता है एवं सामाजिक परिवर्तन (Social Change) उत्पन्न कर क्षय उन्मूलन के लक्ष्य को प्राप्त करने में अहम भूमिका निभा सकता है.

एक दूसरे के सम्पर्क में आने से फैलता है: 
निदेशक  (जन स्वास्थ्य) डॉ. के के शर्मा ने कहा कि TB एक प्राचीन रोग है, जो एक दूसरे के सम्पर्क में आने से फैलता है. परिवार में एक व्यक्ति के संक्रमित होने से यह रोग परिवार के अन्य सदस्यों में फैलने का खतरा रहता है. अशिक्षा और लापरवाही, पोषण (Illiteracy and Negligence, Nutrition) की कमी के कारण से यह रोग अधिक भयावह हो जाता है. उन्होंने कहा कि TB के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर को दिखाएं और जांच कराए.

सभी TB रोगियों की HIV एवं डायबिटीज की भी होगी जांच:
राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ. विनोद कुमार गर्ग ने कहा कि विभाग द्वारा कोविड-19 (Covid19) निगेटिव एवं लक्षणों वाले रोगियों की TB रोग की जांच के साथ सभी TB रोगियों की HIV एवं डायबिटीज (Diabetes) की भी जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि आज के दौर में आवश्यकता है टीबी फोरम जैसे माध्यम से आमजन के विचार और अनुभव साझा कर उचित प्रबंधन किया जा सके. 

टीबी हारेगा, देश जीतेगा अभियान संचालित:
उन्होंने कहा कि आमजन में टीबी रोग की भ्रांतियों को दूर करने एवं जागरूकता हेतु ‘‘टीबी हारेगा, देश जीतेगा‘‘ (TB will lose, the country will win) अभियान संचालित किया जा रहा है. इसी क्रम में विभाग द्वारा राज्य के समस्त स्वास्थ्य केंद्रों (Health Centers) पर पूर्व उपचारित रोगियों को TB चौंपियन के रूप में चिन्हित किया जा रहा है, जो क्षय रोगियों की समस्याओं के निदान में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेंगे. उन्होंने कहा कि TB चौम्पियन समुदाय में क्षय रोगियों की आवाज बनेंगे और विभाग द्वारा ‘निक्षय पोषण योजना‘ के अन्तर्गत पौष्टिक आहार (Nutritious Food) हेतु दी जा रही सहायता राशि दिलाने में भी सहयोग करेंगे.

कई अधिकारि रहे बैठक में मौजूद:
बैठक में MD NHM सुधीर कुमार शर्मा, निदेशक डॉ. के.के. शर्मा, राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ विनोद कुमार गर्ग एवं अन्य सदस्यों ने भाग लिया और इस विषय पर विस्तारपूर्वक चर्चा की. साथ ही IMA के अध्यक्ष डॉ एम.एन. थरेजा, IIHMR निदेशक डॉ एस डी गुप्ता, निजी चिकित्सकों, SMS, ESIC, श्वसन रोग संस्थान (Institute of Respiratory Diseases) के चिकित्सकों, टीबी रोगियों, PLHIV रोगियों और विभागीय अधिकारियों ने राज्य में TB रोगियों को सुविधाएं उपलब्ध कराने, उनकी समस्या, आदि विषयों पर विस्तार से चर्चा की.

और पढ़ें