Live News »

VIDEO: गहलोत सरकार की वर्षगांठ के मौके पर युवाओं के जॉब्स के लिए कॉन्क्लेव का आगाज

VIDEO: गहलोत सरकार की वर्षगांठ के मौके पर युवाओं के जॉब्स के लिए कॉन्क्लेव का आगाज

जयपुर: युवाओं को रोजगार देने के लिए मुख्यमंत्री गहलोत के प्रयास रंग ला रहे है और इसी कड़ी में सरकार की पहली वर्षगांठ के मौके पर राज्य के युवाओं के जॉब्स लिए कॉन्क्लेव का आगाज हुआ. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने होटल क्लार्क आमेर में आज "हायर एंड टेक्निकल एजुकेशन HR कॉन्क्लेव" की शुरुआत की. इस मौके पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य दो ऐसी सेवाएं हैं, जिनमें पैसा कमाना नहीं बल्कि सेवा करना उद्देश्य होना चाहिए.  

हायर एंड टेक्निकल एजुकेशन HR कॉन्क्लेव:
होटल क्लार्कस आमेर में आज से दो दिवसीय ‘उच्च एवं तकनीकी शिक्षा एवं एचआर कॉन्क्लेव‘ की शुरुआत हुई. इस आयोजन में विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के प्रतिनिधि के अलावा 100 कंपनियों के एचआर हैड भी शामिल हो रहे है. अन्य राज्यों के करीब 1000 डेलीगेट भी इसमें हिस्सा ले रहे है. समारोह के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत थे. मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य दो ऐसी सेवाएं हैं, जिनमें पैसा कमाना नहीं बल्कि सेवा करना उद्देश्य होना चाहिए. दोनों क्षेत्रों में नो प्रोफिट-नो लॉस की भावना के साथ कार्य करते हुए आमजन को राहत पहुंचाने के लिए सभी को आगे आना होगा. गहलोत ने कहा कि कोचिंग संचालकों को गरीब छात्र-छात्राओं को रियायती दर पर कोर्सेज एवं कोचिंग सुविधा उपलब्ध करानी चाहिए. 

विभिन्न सत्रों में नवाचारों पर होगी चर्चा:
मुख्यमंत्री ने इस कॉन्क्लेव के आयोजन के लिए उच्च शिक्षा विभाग, तकनीकी शिक्षा विभाग एवं इलेट्स टैक्नोमीडिया को बधाई दी और उम्मीद जताई कि कॉन्क्लेव के दौरान होने वाले विभिन्न सत्रों में उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में देश-विदेश में हो रहे नवाचारों पर चर्चा होगी और विचारों का आदान-प्रदान होगा, जिसका युवाओं खासकर उच्च शिक्षा हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा. गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार उच्च शिक्षा की पहुंच दूर-दराज के क्षेत्रों एवं गरीब विद्यार्थियों तक बनाने की दिशा में प्रयास कर रही है.  

कॉलेज खोलने की घोषणा का सर्वाधिक लाभ ग्रामीण छात्रों को:
कार्यक्रम में उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी ने कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को उच्च शिक्षा से जोड़ने के लिए योजनाबद्ध तरीके से प्रयास कर रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश में 50 सरकारी कॉलेज खोलने की घोषणा का सर्वाधिक लाभ ग्रामीण पृष्ठभूमि के छात्रों को मिलेगा. वहीं तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने तकनीकी शिक्षा को मजबूती देने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी. उन्होेंने कहा कि सरकारी इंजीनियरिंग एवं पॉलिटेक्नीक कॉलेजों में छात्रों की संख्या बढ़ी है. एआईसीटीई के चेयरमैन प्रो. अनिल सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए वहां पॉलिटेक्नीक कॉलेजों में नवीन उपकरणों के लिए फण्ड उपलब्ध कराया जा रहा है. इसके अलावा वहां कौशल विकास की सुविधाएं भी दी जा रही हैं ताकि युवाओं को कुशल बनाकर उन्हें रोजगार के अवसर दिए जा सकें.  

डिजिटल लर्निंग का विमोचन:
कार्यक्रम में इस अवसर पर कॉलेज शिक्षा आयुक्त प्रदीप बोरड़, इलेट्स टेक्नोमीडिया के प्रमोटर रवि गुप्ता, एनआईआईटी के चेयरमैन राजेन्द्र पंवार, विभिन्न दूतावासों से आए राजदूत, विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं उच्च शिक्षा से जुड़े लोग उपस्थित थे. मुख्यमंत्री ने डिजिटल लर्निंग का विमोचन किया एवं संभाग स्तरीय स्मार्ट साइंस लैब की शुरूआत की. उन्होंने कार्यक्रम स्थल पर आयोजित प्रदर्शनी में पॉलिटेक्नीक कॉलेज एवं उच्च शिक्षा से जुड़े संस्थानों के छात्र-छात्राओं द्वारा किए जा रहे नवाचारों का अवलोकन किया और उनकी हौसला अफजाई की. 

... संवाददाता नरेश शर्मा व ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in