VIDEO: प्रदेश में कांगो बुखार से 2 लोगों की मौत, चिकित्सा विभाग में मचा हड़कंप

Vikas Sharma Published Date 2019/09/11 07:15

जयपुर: गुजरात के बाद पशुजनित रोग कांगो फीवर ने राजस्थान में मौत वाली दस्तक दे दी है. राजस्थान में कांगों से अब तक दो मौत हो चुकी है. हालांकि राहत की बात ये है कि कांगो का कोई नया पॉजिटिव मरीज सामने नहीं आया है. जोधपुर एम्स में दो लोगों की मौत के बाद चिकित्सा विभाग ने सभी जिलों में अलर्ट जारी किया है. 

मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने तलब की तथ्यात्मक रिपोर्ट:
खुद सूबे के चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने आज स्वास्थ्य भवन में कांगो फीवर को लेकर विभागीय अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की. इस मामले पर चिकित्सा मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने कहा है कि चिकित्सा विभाग कांगो फीवर के प्रति पूरी तरह सजग है और इस बारे में प्रदेशभर के चिकित्साधिकारियों को दिशा-निर्देश भी दिए जा चुके हैं. 

कुल संदिग्ध 136 के लिए सैंपल:
आपको बता दें कि कांगो फीवर की जांच के लिए कुल 136 लोगों के सेम्पल लिए गए थे. जिनमें से पॉजिटिव पाए गए इन्द्रा और लोकेश नाम के दो मरीजों की मौत हुई है. एक मरीज जोधपुर का रहने वाला है और एक जैसलमेर का. पॉजिटिव मरीज सामने आने के बाद चिकित्सा विभाग के नेतृत्व में टीमें बनाकर प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर में सर्वे किया जा रहा है. सर्वे करने वाली टीम को टिक्स से बचाव के लिए ऑडोमॉस भी दिए गए हैं. वहीं पशुपालन विभाग से समन्वय कर पशुओं और बाड़ों पर साइपरमेथ्रिन का स्प्रे भी करवाया जा रहा है. चिकित्सा मंत्री ने बताया कि पॉजिटिव पाए गए रोगियों के सम्पर्क में आने वाले व्यक्तियों की 14 दिन तक मॉनिटरिंग की जाएगी, इनके सैम्पल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे जा रहे हैं. आपको बता दें कि क्रिमिएन कांगो हेमरेजिक फीवर में मनुष्य को वायरस जनित इनफेक्टेड टीक काट लेता है तो यह रोग होता है. इसके कारण तेज बुखार, सिर दर्द, उल्टी, दस्त, बदन दर्द, गर्दन का अकड़न इत्यादि लक्षण होते हैं. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in