कांग्रेस के चाणक्य अहमद पटेल ने 4 दिन में लगातार बैठके कर साधे कई समीकरण 

Nizam Kantaliya Published Date 2018/12/02 07:13

जयपुर (निजाम कण्टालिया)। देश में जब सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार और कांग्रेस के कदावर नेता अहमद पटेल 4 दिन के प्रदेश दौरे के बाद दिल्ली लौट गये है। कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले पटेल ने इन चार दिनो में अपने बयानो से लेकर लगातार बैठको के जरिए कांग्रेस की राह आसान करने में कोई कसर नही छोड़ी है। 

देश में आपातकाल के बाद हुए 1977 के छटे लोकसभा चुनाव में 26 साल की उम्र में भरूच से लोकसभा चुनाव जीतने वाले अहमद भाई पटेल को कांग्रेस का चाणक्य यूं ही नहीं कहा जाता। आपातकाल के बाद हुए इन चुनावों में उनकी जीत ने इंदिरा गांधी समेत सभी राजनीतिक पंडितों को चौंका दिया था। अधिकांश समय सामने वाले की सुनने वाले पटेल को कोई आसानी से नहीं समझ सकता कि वो क्या सोच रहे है। अपनी इसी कला का अक्सर वे पर्दे के पीछे रहकर राजनीति करते है। राजस्थान के विधानसभा चुनावों में भी उन्होने जमकर इस हुनर का प्रयोग किया है। 

28 दिसंबर की शाम जयपुर पहुंचे अहमद पटेल ने सीधे अशोक गहलोत के घर जाकर पार्टी के दिग्गज नेताओं के साथ बैठक लेकर ये जता दिया था कि वे राजस्थान ऐसे ही नहीं आये है। 4 दिन में करीब 400 से अधिक लोगों से मुलाकाते कर टिकिट नहीं मिलने से नाराज नेताओं को मनाया तो वहीं कई युवाओं को पार्टी में शामिल भी कराया। जाट, मुस्लिम, एससी एसटी किसान से लेकर व्यापारी वर्ग की अलग अलग जगहों पर बैठके ली। तो वहीं प्रदेश के कई दिग्गज नेताओं से मिलने उनके घर तक पहुंचे। चन्द्रराज सिंघवी, डॉ हरीसिंह हो या फिर कर्नल किरोड़ीसिंह बैसला। कांग्रेस को मजबूत करने के लिए पर्दे के पीछे के सभी पैतरे अपनाये गये। 

राजधानी जयपुर में बैठकर ही पुरे प्रदेश के प्रत्येक विधानसभा का फिडबैक लिया। और जब लगा कि जिन्हे टिकिट नही मिला है वे परेशानी कर सकते है तो बोर्ड और आयोगो के गठन का एक रास्ता बता दिया। पटेल के एक बयान से पुरे प्रदेश के नाराज नेताओं को चुनाव रण में उतरना पड़ा तो दूसरी ओर अजमेर दरगाह में जियारत कर पटेल ने देश—प्रदेश में अमन चैन की दुआ करते हुए भाजपा को करारा जवाब भी दिया। 

बहरहाल कांग्रेस के इस कदावर नेता ने पुरे राज्य से मिले फिडबैक को हाईकमान को भेज दिया है। आने वाले एक दो दिनो में कांग्रेस के तरकश से नए तीर सामने आ सकते है । 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in