उदयपुर Congress Chintan Shivir: सोनिया गांधी बोलीं- पार्टी ने हमें बहुत कुछ दिया है, अब कर्ज उतारने का समय

Congress Chintan Shivir: सोनिया गांधी बोलीं- पार्टी ने हमें बहुत कुछ दिया है, अब कर्ज उतारने का समय

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस का तीन दिवसीय चिंतन शिविर (Congress Chintan Shivir) आज से शुरू हो गया है. सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने चिंतन शिविर के पहले दिन कांग्रेस नेताओं को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र की भाजपा सरकार पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कहा कि भाजपा-RSS की नीतियों की वजह से देश जिन चुनौतियों का सामना कर रहा है, उसपर विचार करने के लिए ये शिविर एक बहुत अच्छा अवसर है. ये देश के मुद्दों पर चिंतन और पार्टी के सामने समस्याओं पर आत्मचिंतन दोनों ही है. सोनिया गांधी ने कहा, कांग्रेस में ढांचागत सुधार की बहुत जरूरत है. 

कांग्रेस के नव संकल्प चिंतन के उद्घाटन अवसर पर सोनिया गांधी ने कहा कि हम विशाल प्रयासों से ही बदलाव ला सकते हैं, हमे निजी अपेक्षा को संगठन की जरूरतों के अधीन रखना होगा. पार्टी ने बहुत दिया है. अब कर्ज उतारने की जरूरत है. एक बार फिर से साहस का परिचय देने की जरूरत है. हर संगठन को जीवित रहने के लिए परिवर्तन लाने की जरूरत होती है. हमें सुधारों की सख्त जरुरत है. ये सबसे बुनयादी मुद्दा है. 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मोदी और उनकी सरकार कहती है कि मैक्जिमम गवर्नेंस और मिनिमम गवर्नमेंट. हकीकत यह है कि विभाजन को स्थायी बना दिया गया है. हमारे समाज के बहुलवाद को निशाना बनाया जा रहा है. राजनीतिक विरोधियों को डराया-धमकाया जा रहा है. जेल में डाला जा रहा है. जांच एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है. लोकतंत्र के सभी स्तंभों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जवाहरलाल नेहरू जैसे हमारे नेताओं के योगदान, उपलब्धियों और त्याग को नकारा जा रहा है. वहीं, महात्मा गांधी के हत्यारों और उनकी विचारधारा को महिमामंडित किया जा रहा है.

आज पार्टी के सामने असाधारण परिस्थितियां: 
सोनिया ने कहा कि आज पार्टी के सामने असाधारण परिस्थितियां हैं. असाधारण परिस्थितियों का मुकाबला असाधारण तरीके से ही किया जा सकता है. हर संगठन को जीवित रहने बढ़ने के लिए भी अपने अंदर पैनापन लाना होता है. हमें सुधारों की सख्त जरूरत है. हमें रणनीतिक बदलाव, ढांचागत सुधार और रोजाना काम करने के तरीके में बदलाव सबसे बुनियादी जरूरी मुद्दा है.

सीएम गहलोत ने कहा- देश की राजनीति में नई शुरुआत होने जा रही 
वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान की धरती पर सभी का स्वागत करते हुए कहा कि हमारे लिए सौभाग्य की बात है कि सोनिया व राहुल ने राजस्थान को चुना है. आप सभी का आना हमारे लिए सौभाग्य की बात है. उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में नई शुरुआत होने जा रही है. आज देश मे संविधान की धज्जियां उड़ रही है. ज्यूडिशरी दबाव में है, CBI,ED का दुरुपयोग हो रहा है लेकिन आज कोई सुनने वाला नहीं है. 

कांग्रेस नेताओं को टारगेट किया जा रहा:
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में यह देखा जाता था कि लोग क्या कहेंगे. कई मंत्री मुख्यमंत्री के इस्तीफे हुए, लेकिन आज कोई सुनने वाला नहीं है. जहां चुनाव होने वाले है, वहा दंगे किये जा रहे हैं. BJP के लोग क्या दूध के धुले है ? BJP के किसी नेता पर छापा नहीं पड़ रहा जबकि कांग्रेस नेताओं को टारगेट किया जा रहा है. देश मे तनाव का माहौल है. पीएम मोदी नैतिक साहस नहीं दिखा पा रहे हैं. सीएम गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी के नेतृत्व में UPA सरकार ने ऐतिहासिक फैसले किए थे. हमारी कमजोरी है कि काम तो करते है लेकिन मार्केटिंग नही करते हैं. BJP के लोग फासिस्ट लोग है. अब तीन दिन के शिविर में फैसले होंगे. इससे कांग्रेस में नई शक्ति का संचार होगा. 

और पढ़ें