जयपुर VIDEO: कोरोना के खिलाफ महा जंग, कोविड रिलीफ फंड में अपना 1 माह का वेतन देंगे कांग्रेस विधायक 

VIDEO: कोरोना के खिलाफ महा जंग, कोविड रिलीफ फंड में अपना 1 माह का वेतन देंगे कांग्रेस विधायक 

जयपुरः कोरोना के खिलाफ जंग में सत्ता पक्ष के विधायक आगे आए है. कांग्रेस विधायक दल के नेता और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बारे में निर्देश दिया है कि सभी कांग्रेस के MLA और सरकार में मंत्री अपने एक महीने का वेतन कोविड फंड में देंगे. इसका अर्थ है लगभग 47 लाख रुपए जमा होंगे. मुख्य सचेतक डॉ. महेश जोशी ने सभी विधायकों को सीएम के निर्देश की जानकारी दी है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल के बाद माननीय भी अपने सामाजिक सरोकार में भूमिका निभा रहे है .कांग्रेस विधायक दल के सभी विधायक अपनी और से एक माह का वेतन कोवि ड रिलीफ फंड में देंगे . विधायक अपना मूल वेतन ही दे पाएंगे ,भत्ते मिलाकर तो वेतन कहीं अधिक बैठता है. सरकारी मुख्य सचेतक महेश जोशी ने सभी कांग्रेस विधायकों को CM के आदेश का हवाला देते हुए एक महीने का वेतन कोविड फंड में देने का मैसेज किया है. मुख्यमंत्री ने सभी कांग्रेस विधायकों को एक महीने का वेतन कोविड फंड में देने का निर्देश दिया है. भाजपा विधायक पिछले महीने ही एक माह का वेतन कोविड मैनेजमेंट के लिए देने की घोषणा कर चुके हैं. विधायकों के वेतन का गणित आपको बताते है.
स्पीकर - 70 हजार
मुख्यमंत्री- 70 हजार 
नेता प्रतिपक्ष- 65 हजार
मुख्य सचेतक- 65 हजार
उप मुख्य सचेतक- 62 हजार
कैबिनेट मंत्री- 65 हजार
राज्य मंत्री- 62 हजार
विधायक- 40 हजार

अभी गहलोत सरकार में 10 कैबिनेट मंत्री है और 10 राज्य मंत्री हैं. सभी कैबिनेट और राज्य मंत्रियों का एक महीने का वेतन 12 लाख 70 हजार और 86 विधायकों का वेतन 34.40 लाख रुपए का वेतन होता है. इस तरह कोविड फंड में कांग्रेस विधायकों और मंत्रियों का वेतन मिलाकर 47.10 लाख रुपए जमा होंगे. कांग्रेस के पास 1 विधायक अभी नहीं जो पहले कुल आंकड़ा स्पीकर को हटाकर 105 था ,वल्लभनगर से कांग्रेस विधायक का निधन होने के कारण यह आंकड़ा 104 ही रहेगा. वहीं अभी कांग्रेस विधायक दल के दो नव निर्वाचित विधायकों ने शपथ नहीं ली है लिहाजा इनका वेतन आगे कटेगा,क्योंकि घोषणा में यह भी शामिल है. बहरहाल आंकड़ों से परे है सामाजिक सरोकार . माननीय भी इस दिशा में आगे बढ़े है और मुख्यमंत्री कोविड फंड में अपना योगदान दे रहे है. इससे पहले विधायक कोष का अधिकांश पैसा कोविड मैनेजमेंट में ही विधायक खर्च कर रहे है. विधायक अपने विधायक कोष से केवल 75 लाख रुपए के ही विकास कार्य करा सकेंगे बाकी सारा पैसा वैक्सीनेशन और कोविड मुकाबले पर ही खर्च होगा. पिछले दिनों विधायको के कोष को सीएम गहलोत ने बढ़ा कर 5 करोड़ कर दिए थे. इसका अर्थ है सभी विधायको के कुल विधायक कोष के 1हजार करोड के विधायक फंड से करीब 805 करोड़ कोविड पर खर्च होंगे ,इसमें 600 करोड़ रुपए खर्च होंगे वैक्सीनेशन कार्यक्रम पर. 
फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें