नई दिल्ली Congress Protest: महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल और प्रियंका समेत कई नेता हिरासत में लिए गए

Congress Protest: महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल और प्रियंका समेत कई नेता हिरासत में लिए गए

नई दिल्ली: कांग्रेस ने महंगाई, बेरोजगारी और कई खाद्य वस्तुओं को जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) के दायरे में लाए जाने के खिलाफ शुक्रवार को प्रदर्शन (congress protest against inflation unemployment) किया, जिसके बाद पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul gandhi) और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया गया.

पार्टी के प्रदर्शन में शामिल हुए नेताओं ने काले रंग के कपड़े पहन रखे थे. राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन से राष्ट्रपति भवन के लिए मार्च निकाला. हालांकि पुलिस ने उन्हें बीच में ही रोक दिया और हिरासत में ले लिया.

कांग्रेस महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन कर रही है, जिसके तहत कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्यों एवं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की प्रधानमंत्री आवास का ‘घेराव करने’ की योजना थी. पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता इसी के लिए कांग्रेस मुख्यालय में जमा हुए थे.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी प्रधानमंत्री आवास के घेराव के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए ‘24 अकबर रोड’ स्थित कांग्रेस मुख्यालय पहुंचीं, जहां से उन्हें हिरासत में ले लिया. हिरासत में लिए जाने से पहले वह कुछ देर तक सड़क पर ही धरने पर बैठ गई थीं. संसद भवन से पार्टी सांसदों का मार्च शुरू होने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी इसमें थोड़ी देर के लिए शामिल हुईं.

देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही:
हिरासत में लिए जाने से पहले राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया कि इस तानाशाह सरकार को डर लग रहा है. भारत के हालत से, कमरतोड़ महंगाई और ऐतिहासिक बेरोजगारी से, अपनी नीतियों से लाई बर्बादी से. जो सच्चाई से डरता है, वो ही आवाज उठाने वालों को धमकाता है!

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा- एक चीज साफ है, जो डरते हैं, वही डराने का प्रयास करते हैं!
कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा कि आज एक बार फिर कांग्रेस सांसदों को महंगाई, बेरोजगारी और जीएसटी के खिलाफ प्रदर्शन करने के लोकतांत्रिक अधिकार से वंचित कर दिया गया. विजय चौक पर हमें पुलिस वैन में भर दिया गया. एक चीज साफ है, जो डरते हैं, वही डराने का प्रयास करते हैं!

धमकी-जीवी ने हमारे नेताओं के खिलाफ प्रतिशोध और डर की जहरीली राजनीति तेज कर दी:
रमेश ने दावा किया कि पिछले तीन महीनों से जब से कांग्रेस अध्यक्ष ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक ‘भारत जोड़ो’ यात्रा की घोषणा की है, धमकी-जीवी ने कांग्रेस पार्टी एवं हमारे नेताओं के खिलाफ प्रतिशोध और डर की जहरीली राजनीति तेज कर दी है. यह सिर्फ संयोग नहीं है. दिल्ली पुलिस ने नयी दिल्ली जिले में निषेधाज्ञा लागू होने का हवाला देते हुए शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी में कांग्रेस को प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी थी. सोर्स- भाषा 

और पढ़ें