जयपुर Congress Rally Against Inflation in Jaipur: गदगद हुए गहलोत ! राजस्थान की कांग्रेस ने दिखाया दम, महंगाई के खिलाफ कर डाली देशव्यापी रैली

Congress Rally Against Inflation in Jaipur: गदगद हुए गहलोत ! राजस्थान की कांग्रेस ने दिखाया दम, महंगाई के खिलाफ कर डाली देशव्यापी रैली

Congress Rally Against Inflation in Jaipur: गदगद हुए गहलोत ! राजस्थान की कांग्रेस ने दिखाया दम, महंगाई के खिलाफ कर डाली देशव्यापी रैली

जयपुर: कांग्रेस ने आज महंगाई के खिलाफ जयपुर में केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर मोर्चा खोला. कांग्रेस 'महंगाई हटाओ महारैली' के जरिये केन्द्र सरकार को निशाने पर लिया. रैली की सफलता के बाद आज गहलोत का आत्मविश्वास सातवें आसमां पर है. पहली बार सोनिया, राहुल व प्रियंका को एक साथ राजस्थान लाएं है. पूरे देश से कांग्रेस के प्रमुख नेता भी जयपुर आए. 

Image

आज गहलोत ने राजनीतिक कौशल की ताकत का अहसास कराया है. रात को अपने आवास पर प्रमुख नेताओं का जमावड़ा लगाया. CM गहलोत ने आज जयपुर की रैली को सुपरहिट बनाया. आज रैली में हर कोई गहलोत की चर्चा कर रहा था. यही है गहलोत की राजनीतिक जादूगरी. वहीं गहलोत के सारथी डोटासरा ने भी साथ निभाया. इसी के चलते महंगाई के खिलाफ राज्य कांग्रेस ने देशव्यापी रैली कर डाली. इस रैली के माध्यम से राजस्थान की कांग्रेस ने अपनी ताकत दिखा दी और अशोक गहलोत ने एक बार फिर सियासी जादूगरी दिखा दी. 

Image

राहुल गांधी ने कहा- देश को जनता नहीं चला रही, 4-5 पूंजीपति चला रहे 
वहीं इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को जयपुर में कांग्रेस की राष्ट्रीय रैली में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि देश में आज जो हालत है शायद पहले कभी नहीं हुए. देश को जनता नहीं चला रही है, 4-5 पूंजीपति चला रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता. हर शब्द का अलग मतलब होता है. देश की राजनीति में आज दो शब्दों के मतलब अलग हैं. 2 जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती वैसे ही दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता. हर शब्द का अलग मतलब होता है. 

Image

मैं हिंदू हूं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं हूं- राहुल गांधी
इससे आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में आज दो शब्दों का अंतर है. इन दो शब्दों के मतलब अलग है. एक शब्द हिंदू और दूसरा शब्द हिंदुत्ववादी है. ये एक शब्द नहीं है, ये दोनों अलग है. मैं हिंदू हूं लेकिन मैं हिंदुत्ववादी नहीं हूं. महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथूराम गोडसे हिंदुत्ववादी थे. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी हिन्दू, गोडसे हिन्दुत्ववादी, फर्क क्या होता है. चाहे कुछ भी हो जाए, हिन्दू सत्य को ढूंढता है. मर जाए, कट जाए हिन्दू सच को ढूंढता है. उसका रास्ता सत्य रहा. पूरी जिन्दगी वो सच को ढूंढने में निकाल देता है. जबकि हिंदुत्ववादी पूरी जिंदगी सत्ता को ढूंढने और सत्ता पाने में निकाल देता है. 

Image

हिंदू खड़ा होकर अपने डर का सामना करता है: 
राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू खड़ा होकर अपने डर का सामना करता है. वह अपने डर को शिवजी जैसे पी लेता है. हिंदुत्ववादी अपने डर के सामने झुक जाता है. डर से हिंदुत्ववादी के दिल में नफरत पैदा होती है. आप सब हिंदू हो, हिंदुत्ववादी नहीं. इन लोगों को किसी भी हालत में सत्ता चाहिए. महात्मा गांधी ने कहा कि मैं सच्चाई चाहता हूं. लेकिन ये लोग कहते है मुझे सत्ता चाहिए, सच्चाई से कुछ लेना नहीं. 2014 से हिंदू नहीं हिंदुत्ववादी का राज है. 

Image

गीता में लिखा है सत्य की लड़ाई लड़ो, ये झूठे हिंदू हिंदुत्ववादी का ढिंढोरा पीटते हैं:
उन्होंने कहा कि इनको बाहर निकालकर हिंदू का राज लाना है. जो किसी से नहीं डरता वो हिंदू है. रामायण, महाभारत, गीता पढ़िए, कहां लिखा है गरीब को मारिए, कमजोर को कुचलिए. गीता में लिखा है सत्य की लड़ाई लड़ो, ये झूठे हिंदू हिंदुत्ववादी का ढिंढोरा पीटते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि भारत की 1% आबादी के हाथ में 33% धन है, जबकि सबसे गरीब 50% के हाथ में देश का सिर्फ 6% धन है. महंगाई, GST, तीन काले कानून से इतना फर्क आया है. छोटे दुकानदार, गरीब लोग, छोटे कंपनीवाले और किसान आदि असंगठित क्षेत्र का 52% हिस्सा हुआ करता था. लेकिन नोटबंदी, काले कानून के बाद असंगठित क्षेत्र का भार 20% हुआ है. वहीं भारत का 90% फायदा 20 कंपनियों को जाता है. 

Image

प्रियंका गांधी ने गहलोत के कोरोना प्रबंधन को लेकर जमकर तारीफ की:
वहीं महंगाई हटाओ रैली में प्रियंका गांधी ने अपने संबोधन के शुरुआत में ही गहलोत के कोरोना प्रबंधन को लेकर जमकर तारीफ की. वहीं केंद्र सरकार पर हमला बोलता हुए उन्होंने कहा कि विज्ञापन पर पैसा खर्चा जाता है. लेकिन जनता के लिए कुछ पैसा खर्च नहीं होता है.  

Image

प्रियंका गांधी ने कहा- जो सरकार केंद्र में है वह जनता की भलाई नहीं चाहती
महंगाई पर चिंता जताते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि जो सरकार केंद्र में है वह जनता की भलाई नहीं चाहती. सरकार कुछ गिने चुने उद्योगपतियों के लिए काम कर रही है. गोवा में 1 उद्योगपति के लिए सुविधाओं के लिए विस्तार किया गया है. कोयले को ले जाने के लिए सड़क की सुविधा दी जा रही है. प्रियंका गांधी ने जातिवाद और साम्प्रदायिकवाद को लेकर भी भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि वो विकास की बात नहीं करेंगे, महंगाई की बात नहीं करेंगे. ऐसे में जागरूक बनकर भाजपा की सरकार को जवाबदेह बनाएं. 

Image

केंद्र में जो सरकार है, वो कभी सच नहीं कहती:
प्रियंका गांधी ने कहा केंद्र सरकार कांग्रेस के तैयार किए गए सभी बड़े उपक्रमों को बेचने की तैयारी में है. उन्होंने कहा कि केंद्र में जो सरकार है, वो कभी सच नहीं कहती. सरकार किसानों के लिए काम नहीं कर रही है सरकार जनता के लिए काम नहीं कर रही है पूरी दुनिया देख रही है कि यह सरकार कुछ गिने-चुने पूंजीपतियों के लिए ही काम कर रही है. बता दें कि प्रियंका गांधी ने संतुलित भाषण दिया. जिसमें देश के तमाम मुद्दों का जिक्र किया. जनता से जागरूक बन सरकारों की जवाबदेही की बात कही. 

Image

सीएम गहलोत ने कहा- मोदी सरकार के कुशासन से पूरा देश दुखी 
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी केंद्र सरकार और भाजपा की रीति-नीति पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कुशासन से पूरा देश दुखी है. नोटबंदी, किसान आंदोलन को लेकर राहुल गांधी विपक्ष की आवाज बने. राहुल गांधी लोकतंत्र विरोधी सरकार के खिलाफ आवाज बने. वहीं केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने एक फिर कहा कि ज्यूडिशरी, CBI जैसी संवैधानिक संस्थाओं को बर्बाद किया जा रहा है. 

Image

आज प्रधानमंत्री को देश से माफी मांगनी पड़ रही - सीएम गहलोत
इससे आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री को देश से माफी मांगनी पड़ रही है. पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के दाम बढ़े हैं. केंद्र सरकार राज्यों के साथ धोखा कर रही है. केंद्र सरकार एक्साइज ड्यूटी कम कर रही है. जिसके चलते तमाम राज्य सरकारें वित्तिय संकट में हैं. लेकिन केंद्र सरकार परवाह नहीं कर रही है. कोरोना के दौरान राजस्थान देश में सिरमौर रहा है. मैंने कहा कोई भूखा नहीं सोए, मैंने कोरोना के दौरान किसी को भूखा सोने नहीं दिया. सभी ने एक-दूसरे का सहयोग किया. वहीं मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि देश में पहले प्रधानमंत्री हैं जो मुख्यमंत्री के पत्र का जवाब नहीं दे रहे हैं. महंगाई हटाओ रैली के लिए सोनिया जी आबाद है. पूरा देश मोदी सरकार के कुशासन को समझ रहा है. आज की रैली से NDA सरकार के पतन की शुरुआत है.

Image

और पढ़ें