जयपुर Congress Rally in Jaipur: कांग्रेस का आज केंद्र सरकार के खिलाफ हल्लाबोल, राहुल-प्रियंका सहित पार्टी के अनेक दिग्गज भरेंगे हुंकार; लोगों का पहुंचना हुआ शुरू

Congress Rally in Jaipur: कांग्रेस का आज केंद्र सरकार के खिलाफ हल्लाबोल, राहुल-प्रियंका सहित पार्टी के अनेक दिग्गज भरेंगे हुंकार; लोगों का पहुंचना हुआ शुरू

जयपुर: कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली में शामिल होने के लिये लोगों का पहुंचना शुरू हो गया है. कांग्रेसी कार्यकर्ता सड़कों पर नाचते-गाते पहुंच रहे हैं. विद्याधर नगर स्टेडियम में सुबह 11 बजे से रैली शुरू होनी है. रैली में शामिल होने के लिये प्रियंका गांधी सुबह 10:30 बजे जयपुर पहुंचेगी. राहुल गांधी का 12 बजे जयपुर पहुंचने का कार्यक्रम है. सोनिया गांधी के रैली में शामिल होने की संभावना कम जताई जा रही है.

वहीं इससे पहले देश में बढ़ती महंगाई के खिलाफ महारैली के लिए पार्टी के अनेक दिग्गज नेता शनिवार को राजस्थान की राजधानी जयपुर पहुंच गए. शहर के प्रमुख सड़क चौराहों पर इस रैली के पोस्टर-बैनर लग चुके हैं, जिन पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी छाए हुए हैं.

रैली को मोदी सरकार के खिलाफ पार्टी के बड़े हमले के रूप में देखा जा रहा: 
कांग्रेस की इस रैली को महंगाई के साथ-साथ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ पार्टी के बड़े हमले के रूप में देखा जा रहा है. पार्टी के संगठन महासचिव रणदीप सुरेजवाला ने यहां कहा कि प्रस्तावित 'महंगाई हटाओ महारैली' केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ निर्णायक लड़ाई का शंखनाद करेगी. रैली पहले दिल्ली में होनी थी लेकिन मंजूरी नहीं मिलने पर इसे जयपुर में किया जा रहा है. रैली यहां के विद्याधर नगर स्टेडियम में होनी है और पार्टी सूत्रों के अनुसार इसके लिए वह अधिक से अधिक लोगों को जुटाने का लक्ष्य लेकर चल रही है. 

राहुल गांधी के फोटो को प्रमुखता दी गई है और वह हर पोस्टर के केंद्र में:
वहीं, इस रैली के प्रचार-प्रसार के लिए शहर के सभी प्रमुख मार्गों और चौराहों पर बैनर-पोस्टर लग गए हैं. इन पोस्टर पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल, राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अजय माकन और प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के चित्र हैं. हालांकि खास बात यह है कि इनमें राहुल गांधी के फोटो को प्रमुखता दी गई है और वह हर पोस्टर के केंद्र में हैं. राजनीतिक गलियारों में इसे राहुल गांधी को पार्टी का नया अध्यक्ष बनाए जाने की तैयारियों के संकेत में रूप में देखा जा रहा है.

हर कोई चाहता है कि राहुल गांधी दुबारा पार्टी अध्यक्ष बनें:
पूर्व केंद्रीय मंत्री वी नारायणसामी ने कांग्रेस प्रदेश मुख्यालय के बाहर संवाददाताओं से कहा कि राहुल गांधी हमारे नेता हैं. हर कोई चाहता है कि वह दुबारा पार्टी अध्यक्ष बनें. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा रैली में भाग लेने आएंगे. हालांकि, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के इसमें शामिल होने के बारे में अभी स्पष्टता नहीं है. पार्टी के प्रदेश प्रभारी ने इस बारे में कहा, “यह रविवार को ही स्पष्ट होगा.'’ राजधानी जयपुर में पिछले दो-ढाई साल में पहली बार इतना बड़ा राजनीतिक कार्यक्रम होने वाला है. कांग्रेस का प्रदेश संगठन इसे एक मौके के रूप में भुनाने और पार्टी आलाकमान के सामने अपनी 'क्षमता' दिखाने के अवसर के रूप में ले रहा है.

महंगाई बड़ा मुद्दा है जिससे देश का हर आदमी दुखी:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विद्याधर नगर स्टेडियम जाकर तैयारियों का जायजा लिया. यहां गहलोत ने कहा कि महंगाई के खिलाफ इस रैली को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं और आम लोगों में जबरदस्त उत्साह है. महंगाई बड़ा मुद्दा है जिससे देश का हर आदमी दुखी है. यह केंद्र सरकार की गलत नीतियों का परिणाम है. उन्‍होंने कहा कि इस रैली से पूरे देश में एक संदेश जाएगा और केंद्र की राजग सरकार के पतन की शुरुआत होगी. उन्होंने साथ ही कहा कि अगला विधानसभा चुनाव हम कैसे जीतें, उसकी शुरुआत भी रैली से ही होगी. वहीं रात में उन्‍होंने अपने ट्विटर पर फिल्म 'पीपली लाइव' के गाने 'महंगाई डायन खाए जात है' के बोल (लिरिक्स) एवं गाने का लिंक शेयर किया. गहलोत ने लिखा कि महंगाई के कारण बनी परिस्थितियों एवं 'महंगाई हटाओ' राष्ट्रीय रैली की पूर्व संध्या पर फिल्म 'पीपली लाइव' के गाने 'महंगाई डायन खाए जात है' के बोल (लिरिक्स) एवं गाने का लिंक आप सभी के साथ साझा कर रहा हूं. कांग्रेस के दिग्गज नेताओं ने सोशल मीडिया पर 'महंगाई हटाओ महारैली' व 'जयपुर चलो' हैशटैग के साथ पोस्ट किये.

रैली की तैयारियों के लिए 11 समितियां गठित की गई:
पार्टी ने अलग-अलग राज्यों से आने वाले प्रतिनिधियों के लिए प्रभारी नियुक्त करके उनके नाम व फोन नंबर जारी किए हैं. रैली की तैयारियों के लिए 11 समितियां गठित की गई हैं. प्रदेश सरकार की ओर से सभी जिलों के लिए मंत्रियों को प्रभारी बनाकर लोगों को जुटाने का लक्ष्य दिया गया है.

और पढ़ें