जयपुर Congress Rally Against Inflation in Jaipur: राहुल गांधी बोले- मैं हिंदू हूं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं, महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथूराम गोडसे हिंदुत्ववादी थे

Congress Rally Against Inflation in Jaipur: राहुल गांधी बोले- मैं हिंदू हूं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं, महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथूराम गोडसे हिंदुत्ववादी थे

Congress Rally Against Inflation in Jaipur: राहुल गांधी बोले- मैं हिंदू हूं लेकिन हिंदुत्ववादी नहीं, महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथूराम गोडसे हिंदुत्ववादी थे

जयपुर: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को जयपुर में कांग्रेस की राष्ट्रीय रैली में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि देश में आज जो हालत है शायद पहले कभी नहीं हुए. देश को जनता नहीं चला रही है, 4-5 पूंजीपति चला रहे हैं. राहुल गांधी ने कहा कि दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता. हर शब्द का अलग मतलब होता है. देश की राजनीति में आज दो शब्दों के मतलब अलग हैं. 2 जीवों की एक आत्मा नहीं हो सकती वैसे ही दो शब्दों का एक मतलब नहीं हो सकता. हर शब्द का अलग मतलब होता है. 

इससे आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि देश की राजनीति में आज दो शब्दों का अंतर है. इन दो शब्दों के मतलब अलग है. एक शब्द हिंदू और दूसरा शब्द हिंदुत्ववादी है. ये एक शब्द नहीं है, ये दोनों अलग है. मैं हिंदू हूं लेकिन मैं हिंदुत्ववादी नहीं हूं. महात्मा गांधी हिंदू थे और नाथूराम गोडसे हिंदुत्ववादी थे. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी हिन्दू, गोडसे हिन्दुत्ववादी, फर्क क्या होता है. चाहे कुछ भी हो जाए, हिन्दू सत्य को ढूंढता है. मर जाए, कट जाए हिन्दू सच को ढूंढता है. उसका रास्ता सत्य रहा. पूरी जिन्दगी वो सच को ढूंढने में निकाल देता है. जबकि हिंदुत्ववादी पूरी जिंदगी सत्ता को ढूंढने और सत्ता पाने में निकाल देता है. 

हिंदू खड़ा होकर अपने डर का सामना करता है: 
राहुल गांधी ने कहा कि हिंदू खड़ा होकर अपने डर का सामना करता है. वह अपने डर को शिवजी जैसे पी लेता है. हिंदुत्ववादी अपने डर के सामने झुक जाता है. डर से हिंदुत्ववादी के दिल में नफरत पैदा होती है. आप सब हिंदू हो, हिंदुत्ववादी नहीं. इन लोगों को किसी भी हालत में सत्ता चाहिए. महात्मा गांधी ने कहा कि मैं सच्चाई चाहता हूं. लेकिन ये लोग कहते है मुझे सत्ता चाहिए, सच्चाई से कुछ लेना नहीं. 2014 से हिंदू नहीं हिंदुत्ववादी का राज है. 

गीता में लिखा है सत्य की लड़ाई लड़ो, ये झूठे हिंदू हिंदुत्ववादी का ढिंढोरा पीटते हैं:
उन्होंने कहा कि इनको बाहर निकालकर हिंदू का राज लाना है. जो किसी से नहीं डरता वो हिंदू है. रामायण, महाभारत, गीता पढ़िए, कहां लिखा है गरीब को मारिए, कमजोर को कुचलिए. गीता में लिखा है सत्य की लड़ाई लड़ो, ये झूठे हिंदू हिंदुत्ववादी का ढिंढोरा पीटते हैं. राहुल गांधी ने कहा कि भारत की 1% आबादी के हाथ में 33% धन है, जबकि सबसे गरीब 50% के हाथ में देश का सिर्फ 6% धन है. महंगाई, GST, तीन काले कानून से इतना फर्क आया है. छोटे दुकानदार, गरीब लोग, छोटे कंपनीवाले और किसान आदि असंगठित क्षेत्र का 52% हिस्सा हुआ करता था. लेकिन नोटबंदी, काले कानून के बाद असंगठित क्षेत्र का भार 20% हुआ है. वहीं भारत का 90% फायदा 20 कंपनियों को जाता है. 

नरेंद्र मोदी ने किसानों की आत्मा में चाकू मार दिया: 
वहीं राहुल गांधी ने कहा कि 'मोदी और उनके 3-4 उद्योगपतियों ने 7 साल में देश को बर्बाद कर दिया है. किसानों को कर्जा माफी की जरूरत है. नरेंद्र मोदी ने किसानों की आत्मा में चाकू मार दिया है. राहुल ने कहा- देश की सरकार कहती है कि कोई किसान शहीद ही नहीं हुए. मैंने पंजाब के लिए, हरियाणा से नाम लिए, पांच सौ लोगों की लिस्ट संसद में दी. उनसे कहा कि पंजाब की सरकार ने कंपनसेशन दिया है, आप भी दीजिए. उन्होंने दिया नहीं. 

और पढ़ें