जयपुर Rajasthan: जयपुर महारैली के लिए तैयारियों में जुटी कांग्रेस, पूर्व महापौर के पत्र पर हंगामा

Rajasthan: जयपुर महारैली के लिए तैयारियों में जुटी कांग्रेस, पूर्व महापौर के पत्र पर हंगामा

Rajasthan: जयपुर महारैली के लिए तैयारियों में जुटी कांग्रेस, पूर्व महापौर के पत्र पर हंगामा

जयपुर: कांग्रेस जयपुर में 12 दिसंबर को प्रस्तावित 'महंगाई हटाओ रैली' की तैयारियों में जुटी है, जिसमें देशभर से पार्टी के शीर्ष नेताओं के शामिल होने की संभावना है. कांग्रेस महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने कहा कि इस रैली के जरिए कांग्रेस सतर्क तथा जागरूक विपक्ष की अपनी भूमिका को निभाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत केंद्र सरकार को जगाने का काम करेगी.

वहीं, जयपुर की पूर्व महापौर ज्योति खंडेलवाल द्वारा कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर इस रैली को स्थगित करने पर विचार के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र को लेकर भी कांग्रेस की बैठक में हंगामा हुआ. पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित तैयारी बैठक में माकन ने पार्टी पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं से महंगाई के मुद्दे पर जनता को जागरूक करने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि सतर्क व जागरूक विपक्ष की भूमिका निभाते हुए कांग्रेस इस रैली के जरिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को जगाने का काम करेगी. उन्होंने देश में आर्थिक असमानता संबंधी एक ताजा रपट का हवाला देते हुए आरोप लगाया, ‘‘ देश में गरीब और गरीब व अमीर और अमीर होता गया, यह नरेंद्र मोदी सरकर की देन है.’’ बैठक में पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के संबोधन के दौरान एक स्थानीय नेता मित्रोदय गांधी ने, कांग्रेस नेता ज्योति खंडेलवाल द्वारा रैली स्थगित करने संबंधी पत्र लिखे जाने पर आपत्ति जताई. 

उन्होंने कहा कि खंडेलवाल ने यह सही नहीं किया. इस पर डोटासरा ने इस नेता को चुप करवाते हुए कहा कि आप कौनसा भला काम कर रहे हैं, आप भी तो सही नहीं कर रहे हैं. अनुशासन बनाए रखें.’’ इसके बाद, कार्यकर्ताओं ने मित्रोदय गांधी को शांत करवाया. उल्लेखनीय है कि खंडेलवाल ने इस रैली को स्थगित करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढते मामलों और प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत के असामयिक निधन को देखते हुए पार्टी को रैली को फिलहाल स्थगित कर देना चाहिए और इसे कुछ दिन बाद आयोजित किया जाना चाहिए. यह रैली पहले दिल्ली में होनी थी, जो अब जयपुर में हो रही है. इस बीच, पुलिस तथा प्रशासन के आला अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को विद्याधर नगर स्टेडियम का मुआयना किया, जहां यह रैली होनी है. सोर्स- भाषा

और पढ़ें