Live News »

28 मई को कांग्रेस का महा अभियान, कामगारों को सीधे जेब में 10 हजार रुपए देने की मांग, कांग्रेस चलायेगी ऑनलाइन अभियान

जयपुर: कोरोना महामारी से त्रस्त प्रवासी श्रमिकों ,कामगारों ,लघु व्यापारियों ,असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों समेत वो लोग जो इन्कम टैक्स के दायरे में नहीं आते उनके लिए कांग्रेस बड़ा अभियान चलाने जा रही है. 28 मई को कांग्रेस के व्यापक ऑनलाइन अभियान के जरिये केन्द्र सरकार से मांग की जाएगी कि इनकी जेब में सीधे 10हजार रुपये डाले जाये. राजस्थान की कांग्रेस भी इस महा अभियान से जुडेगी. 

सभी प्रदेश कांग्रेस इकाइयों को लिखा पत्र:
बीते कुछ दिनों से कांग्रेस एक्शन में है खासतौर पर प्रवासी श्रमिकों के मसले पर.  ताबडतोड केन्द्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोला जा रहा ,नीतियों को कोसा जा रहा. अब केन्द्र सरकार से उसी मांग को दोहराया जाएगा जो कुछ दिनों पहले राहुल गांधी से की गई थी ,चलाया जाएगा देशव्यापी ऑनलाइन अभियान ,इसके लिये कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्देश पर AICC महासचिव के सी वेणुगोपाल ने सभी प्रदेश कांग्रेस इकाइयों को पत्र लिखा है.

शराब दुकान की लोकेशन में घालमेल! आबकारी विभाग में मिलीभगत से खेल, नियमों के खिलाफ दुकानों की लोकेशन मंजूर

कांग्रेस का मूवमेंट

-28 मई को कांग्रेस बड़ा ऑनलाइन अभियान चलायेगी
-केन्द्र सरकार से की जाएगी मांग
-प्रवासी श्रमिक,कामगार,छोटे व्यापारी
-असंगठित क्षेत्र में काम करने वालों को मिले पैसा
-उनकी जेब में सीधे 10हजार रुपये दिये जाये
-28 मई को 11से 2 बजे के बीच चलेगा अभियान
-सभी प्रदेश कांग्रेस कमेटियों को AICC के निर्देश
-सोनिया गांधी ने कांग्रेस नेताओं से किया आह्वान
-जो इन्कम टैक्स दायरे में नहीं आते है उनके लिये अभियान
-10हजार रुपये कैश या बैंक खाते के जरिये प्रत्येक श्रमिक को मिले
-सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर व्यापक अभियान चलेगा
-अभियान में कांग्रेस के जनप्रतिनिधि होंगे शामिल

चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा बोले, प्रतिदिन हो रही हैं 16000 से ज्यादा जांचें, मई माह के अंत तक पा लेंगे 25000 का लक्ष्य

कांग्रेस का अभियान बेहद अहम:
कांग्रेस का अभियान बेहद अहम है. ऑनलाइन अभियान का मकसद उन लोगों तक सरकार के जरिये पैसा पहुंचाना है जिनके सामने अब रोजगार का संकट खड़ा हो गया है. केन्द्र सरकार से पुरजोर मांग की जाएगी ,लॉकडाउन के कारण कांग्रेस सड़क पर नहीं आ सकती इसलिये ऑनलाइन अभियान के जरिये कांग्रेसियों से आह्वान किया जाएगा कि वे केन्द्र सरकार से राहत देने की मांग करे. 

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में बागियों पर कार्रवाई की मांग उठी

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में बागियों पर कार्रवाई की मांग उठी

जयपुर: कांग्रेस विधायक दल की बैठक में गहलोत समर्थक विधायकों ने बागियों पर कार्रवाई की मांग उठाई है. इससे पहले कांग्रेस पार्टी पायलट के आने की उम्मीद लगाई बैठी थी लेकिन सचिन पायलट की ओर से बिल्कुल मना कर दिया गया. वहीं बैठक में विधायकों ने अशोक गहलोत को ही अपना नेता करार दिया है. सभी विधायक अशोक गहलोत का समर्थन कर रहे हैं. ऐसे में सचिन पायलट गुट को ये बड़ा झटका माना जा रहा है.

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू, अपनी बात मनवाने पर अड़ा पायलट गुट!  

कांग्रेस ने पायलट पर कार्रवाई करने का मन बना लिया: 
वहीं कांग्रेस अब विधायक दल की बैठक में नहीं शामिल हुए विधायकों को नोटिस भेजने की तैयारी में है. पार्टी की ओर से बार-बार विधायकों को चेतावनी दी गई थी, लेकिन कोई भी शामिल नहीं हुआ. वहीं सूत्रों की माने तो अब कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट से और कोई बात नहीं करने का मन बना लिया है. उनका मानना है कि पायलट को मनाने की जितनी कोशिश हो सकती थी वो की जा चुकी हैं. ऐसे में अब माना जा सरहा है कि कांग्रेस ने पायलट पर कार्रवाई करने का मन बना लिया है और उनके समर्थक विधायकों पर भी सख्त फैसला लिया जा सकता है. 

रणदीप सुरजेवाला व अविनाश पांडे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे:
कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले सीएम अशोक गहलोत ने केसी वेणुगोपाल, रणदीप सुरजेवाला, अविनाश पांडे,अजय माकन और विवेक बंसल से अमह चर्चा की. चर्चा में आगे की रणनीति पर बात हुई. इसके साथ ही विधायक दल की बैठक के बाद रणदीप सुरजेवाला व अविनाश पांडे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. 

VIDEO: सचिन पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा का बयान, कहा- फ्लोर टेस्ट में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा 

कांग्रेस से जनता का मोहभंग हो चुका: 
दूसरी ओर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजस्थान के सियासी संकट पर कहा है कि कांग्रेस से जनता का मोहभंग हो चुका है. वहीं गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने कहा है कि आज शाम तक राजस्थान संकट सुलझ जाएगा और अशोक गहलोत और सचिन पायलट अपने बीच के मतभेदों को सुलझा लेंगे. 

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू, अपनी बात मनवाने पर अड़ा पायलट गुट!

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू, अपनी बात मनवाने पर अड़ा पायलट गुट!

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच एक बार फिर विधायक दल की बैठक शुरू हो गई है. कांग्रेस के विधायक जयपुर के फेयरमॉन्ट होटल में है. बैठक में विधायकों ने अशोक गहलोत को ही अपना नेता करार दिया है. वहीं सूत्रों की माने तो सचिन पायलट आज होने वाली विधायक दल की बैठक में नहीं पहुंचे तो उन पर कार्रवाई हो सकती है. इसके अलावा सचिन पायलट के समर्थक विधायक भी अगर बैठक में नहीं आए तो उनपर भी कार्रवाई के लिए विधानसभा अध्यक्ष से उनकी सदस्यता रद्द करने के लिए कहा जा सकता है. 

 VIDEO: सचिन पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा का बयान, कहा- फ्लोर टेस्ट में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा 

गहलोत को सीएम के पद से हटाने पर ही समझौता हो पाएगा: 
राजस्थान में पायलट का गुट अपनी बात पर अड़ गया है. पायलट गुट के विधायकों ने कहा कि जब तक मान सम्मान की गारंटी नहीं होगी, तब तक वापसी नहीं होगी और मान-सम्मान तब तक वापस नहीं मिलेगा जब तक लीडरशिप चेंज नहीं होगा. सूत्रों के मुताबिक पायलट गुट ने आलाकमान के पास संदेश भिजवा दिया है कि अशोक गहलोत को सीएम के पद से हटाने पर ही समझौता हो पाएगा. फिलहाल जयपुर आने का कोई कार्यक्रम नहीं है और बीजेपी में जाने का भी कोई कार्यक्रम नहीं है.

सचिन पायलट को बीजेपी में आना चाहिए: 
दूसरी ओर राजस्थान बीजेपी के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा है कि सचिन पायलट को बीजेपी में आना चाहिए क्योंकि बीजेपी में युवा शक्ति का सम्मान होता है और सीनियर नेताओं को भी पूरा आदर दिया जाता है. सचिन पायलट को बीजेपी में आने के बारे में सोचना चाहिए.

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे सीएम गहलोत, आगे की रणनीति पर कर रहे चर्चा 

सौ से अधिक विधायकों को साथ लेकर गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई: 
जयपुर में सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें सौ से अधिक विधायकों को साथ लेकर अशोक गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई. साथ ही साफ कर दिया कि विधायक उनके साथ हैं. लेकिन अब एक बार फिर आज पार्टी ने बैठक बुलाई है. जिसमें सचिन पायलट समेत अन्य विधायकों को एक मौका और दिया है. 

VIDEO: सचिन पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा का बयान, कहा- फ्लोर टेस्ट में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा

VIDEO: सचिन पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा का बयान, कहा- फ्लोर टेस्ट में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा

जयपुर: राजस्थान में कांग्रेस के भीतर चल रहे सत्ता के संघर्ष के बीच सचिन पायलट समर्थक विधायक भंवरलाल शर्मा का बड़ा बयान सामने आया है. फर्स्ट इंडिया न्यूज से बात करते हुए उन्होंने स्वीकार किया है कि हम दिल्ली में हैं. साथ ही सियासी उठापठक बात करते हुए कहा कि फ्लोर टेस्ट में सब कुछ क्लीयर हो जाएगा. हमारी पार्टी के प्रति नाराजगी नहीं है. 

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे सीएम गहलोत, आगे की रणनीति पर कर रहे चर्चा 

हमारा चेहरा सचिन पायलट:  
इसके साथ ही क्लीयर करते हुए कहा कि बीजेपी में जाएंगे नहीं, नेतृत्व बदला जाए. हमारा चेहरा सचिन पायलट है. वहीं विधायक शर्मा ने कहा कि हम उप चुनाव भी लड़ने के लिए तैयार है. रात को सचिन पायलट हमारे साथ थे, अभी नहीं है. 

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया 

अशोक गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई: 
इससे पहले जयपुर में सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें सौ से अधिक विधायकों को साथ लेकर अशोक गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई. साथ ही साफ कर दिया कि विधायक उनके साथ हैं. लेकिन अब एक बार फिर आज पार्टी ने बैठक बुलाई है. जिसमें सचिन पायलट समेत अन्यों को न्योता दिया गया है. हालांकि, सचिन आएंगे या नहीं, ये साफ नहीं है.

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे सीएम गहलोत, आगे की रणनीति पर कर रहे चर्चा

Rajasthan Political Crisis: कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे सीएम गहलोत, आगे की रणनीति पर कर रहे चर्चा

जयपुर: राजस्थान में कांग्रेस के भीतर ही शुरू हुआ सत्ता का संघर्ष अभी थमने का नाम ही नहीं ले रहा. कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले मुख्यमंत्री गहलोत कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ मीटिंग कर रहे हैं. मीटिंग में सुरजेवाला, माकन व अविनाश पांडे के साथ महेश जोशी और शांति धारीवाल भी मौजूद है. मीटिंग में आगे की रणनीति पर चर्चा कर रहे हैं. 

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया 

पायलट व बागी विधायकों को मौका दिया जा रहा:  
वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आज बैठक से पहले पायलट व बागी विधायकों को मौका दिया जा रहा है. हालांकि पायलट व समर्थक विधायक बैठक में नहीं आएंगे. वहीं कांग्रेस कार्रवाई से पहले सुलह के अंतिम प्रयास का संदेश देना चाहती है ताकि विधायक न कह सके कि बात करने का मौका नहीं दिया गया. 

सचिन पायलट से बैठक में आने की अपील: 
दूसरी ओर बैठक से पहले कांग्रेस नेता अविनाश पांडे ने सचिन पायलट से बैठक में आने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि मैं पायलट और उनके सभी साथी विधायकों से अपील करता हूं कि वे आज की विधायक दल की बैठक में शामिल हों. कांग्रेस की विचारधारा और मूल्यों में अपना विश्वास जताते हुए कृपया अपनी उपस्थिति निश्चित करें व सोनिया गांधी व राहुल गांधी के हाथ मजबूत करें. 

भारत में नकली अयोध्या बताकर घर में ही घिरे पीएम केपी ओली 

अशोक गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई:
जयपुर में सोमवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई, जिसमें सौ से अधिक विधायकों को साथ लेकर अशोक गहलोत ने अपनी ताकत दिखाई. साथ ही साफ कर दिया कि विधायक उनके साथ हैं. लेकिन अब एक बार फिर आज पार्टी ने बैठक बुलाई है. जिसमें सचिन पायलट समेत अन्यों को न्योता दिया गया है. हालांकि, सचिन आएंगे या नहीं, ये साफ नहीं है.
 

भारत में नकली अयोध्या बताकर घर में ही घिरे पीएम केपी ओली

भारत में नकली अयोध्या बताकर घर में ही घिरे पीएम केपी ओली

काठमांडू: नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) ने दावा किया कि भारत ने सांस्कृतिक अतिक्रमण के लिए नकली अयोध्या का निर्माण किया है. जबकि, असली अयोध्या नेपाल में है. ओली ने सवाल किया कि उस समय आधुनिक परिवहन के साधन और मोबाइल फोन (संचार) नहीं था तो राम जनकपुर तक कैसे आए? उन्होंने दावा किया कि लेकिन, हमने भारत में स्थित अयोध्या के राजकुमार को सीता नहीं दी. बल्कि नेपाल के अयोध्या के राजकुमार को दी थी. अयोध्या एक गांव हैं जो बीरगंज के थोड़ा पश्चिम में स्थित है. भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है. 

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया 

बेतुकी टिप्पणी पर वे अब घर में घिरते नजर आ रहे:  
वहीं ओपी की इस बेतुकी टिप्पणी पर वे अब घर में घिरते नजर आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर ओली के इस बयान का मजाक किया जा रहा है, इसके साथ नेपाल के कई बड़े नेता भी इस टिप्पणी को लेकर आपत्ति जाहिर कर रहे हैं. इससे पहले भी नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) पहले ही ओली को भारत विरोधी बयानों के लिए चेतावनी दे चुकी है. 

धर्म राजनीति और कूटनीति से ऊपर: 
नेपाली लेखक और पूर्व विदेश मंत्री रमेश नाथ पांडे ने ट्वीट किया है कि धर्म राजनीति और कूटनीति से ऊपर है. यह एक बड़ा भावनात्मक विषय है. अबूझ भाव और ऐसी बयानबाज़ी से आप केवल शर्मिंदगी महसूस करते हैं. और अगर असली अयोध्या बीरगंज के पास है तो फिर सरयू नदी कहाँ है?

आदि-कवि ओली द्वारा रचित कल युग की नई रामायण सुनिए:
वहीं नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री बाबू राम भट्टाराई ने ओली के बयान पर व्यंग्य करते हुए लिखा है कि आदि-कवि ओली द्वारा रचित कल युग की नई रामायण सुनिए, सीधे बैकुंठ धाम का यात्रा करिए.

कांग्रेस विधायक दानिश अबरार बोले, सरकार के पास बहुमत से ज्यादा नंबर हैं

इस तरह के निराधार, अप्रमाणित बयानों से बचना चाहिए:
राष्ट्रीय प्रजातांत्री पार्टी के सह-अध्यक्ष कमल थापा ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री के लिए इस तरह के निराधार, अप्रमाणित बयानों से बचना चाहिए. थापा ने ट्वीट किया कि  ऐसा लग रहा है कि पीएम तनावों को हल करने के बजाय नेपाल-भारत संबंधों को और खराब करना चाहते हैं. सिर्फ कमल ही नहीं नेपाल राष्ट्रीय योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष स्वर्णिम वागले ने चेतावनी दी कि भारतीय मीडिया पीएम के ऐसे बयान से विवादास्पद सुर्खियां बटोर सकता है और बना सकता है. 

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया

जयपुर: राजस्थान में चले रही सियासी खिंचतान को सुलझाने में लगातार आलाकमान की कोशिशें जारी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उनके संपर्क में हैं. कांग्रेस आलाकमान चाहता है कि पायलट आगे कोई भी बात बढ़ाने से पहले वे जयपुर में विधायक दल की बैठक में शामिल हों. 

पायलट समर्थित विधायकों का पहला वीडियो, समर्थकों का दावा, कल नहीं होंगे पायलट विधाय​क दल की बैठक में शामिल 

पायलट अभी अपने समर्थकों को एकजुट रख पाने में सक्षम नहीं: 
इससे पहले रविवार को पायलट ने गहलोत के खिलाफ खुलकर मोर्चा खोल दिया था और दावा किया था कि उनके पास 30 से अधिक विधायकों का समर्थन है और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है. वहीं कांग्रेस के एक सीनियर नेता की मानें तो सचिन पायलट अभी अपने समर्थकों को एकजुट रख पाने में सक्षम नहीं हैं क्योंकि वे चाहते हैं कि विधायक पहले इस्तीफा दें, जबकि विधायक इसके लिए तैयार नहीं हैं.

पार्टी आलाकमान इस मामले को अब और ज्यादा नहीं खींचना चाहता: 
सूत्रों की माने तो पार्टी आलाकमान इस मामले को अब और ज्यादा नहीं खींचना चाहता और कोशिश है कि मंगलवार तक इसका समाधान निकल जाए. आलाकमान को लगता है कि सचिन पायलट का ऐसे वक्त में अड़ जाना सही फैसला नहीं है जबकि उन्हें महज 15 विधायकों का ही समर्थन प्राप्त है. वहीं पायलट से जुड़े सूत्रों की माने तो वो अभी भी अपने मांगों को लेकर अड़े हुए हैं. वहीं पार्टी को सचिन की कुछ मांगे अनुचित लग रही है और नेताओं द्वारा मामले को सुलझाने का प्रयास जारी है.

कांग्रेस विधायक दानिश अबरार बोले, सरकार के पास बहुमत से ज्यादा नंबर हैं 

आइए राजनीतिक यथास्थिति पर चर्चा करें:
वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने जयपुर में कहा कि एक बार फिर हम सचिन पायलट, सभी विधायक साथियों को लिखकर भी भेज रहे हैं. उनसे अनुरोध करते हैं कि आइए राजनीतिक यथास्थिति पर चर्चा करें. राजस्थान को कैसे मजबूत करें, ये चर्चा करें. अगर किसी व्यक्ति विशेष से कोई मतभेद है तो खुले मन से वो भी कहिए, कांग्रेस नेतृत्व... सोनिया गांधी और राहुल गांधी सबकी बात सुनने और उसका हल निकालने के लिए संपूर्ण रूप से तैयार हैं. 


 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 8 मौत, 544 नए पॉजिटिव केस, जोधपुर में मिले सर्वाधिक 105 पॉजिटिव मरीज 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 8 मौत, 544 नए पॉजिटिव केस, जोधपुर में मिले सर्वाधिक 105 पॉजिटिव मरीज 

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या लगातार बढती जा रही है. पिछले 24 घंटे में 8 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 544 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अलवर,बाड़मेर,भरतपुर में 1-1, धौलपुर, हनुमानगढ़ में 2-2 और राज्य से बाहर के एक मरीज की भी मौत हो गई है. सर्वाधिक 105 कोरोना पॉजिटिव मरीज जोधपुर में मिले है. अजमेर-20, अलवर-42, बाड़मेर-16, भरतपुर-13 पॉजिटिव, भीलवाड़ा-1, बीकानेर-62, चूरू-6, दौसा-8 पॉजिटिव, धौलपुर-9, डूंगरपुर-5, श्रीगंगानगर-8, हनुमानगढ़-8, जयपुर-52 पॉजिटिव, जालोर-95, झालावाड़-2, झुंझुनूं-1,जोधपुर-105 पॉजिटिव, करौली-9, कोटा-8, नागौर-15, प्रतापगढ़-2, राजसमंद-17 पॉजिटिव, सवाई माधोपुर-1, सीकर-2, सिरोही-6,  उदयपुर-31 पॉजिटिव मरीज सामने आये है. प्रदेश में मौत का आंकड़ा 518 पहुंच गया है. वहीं पॉजिटिव मरीजों की संख्या 24 हजार 936 पहुंच गई है.

कांग्रेस विधायक दानिश अबरार बोले, सरकार के पास बहुमत से ज्यादा नंबर हैं

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 18 हजार 630 मरीज:
प्रदेश में 18 हजार 630 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. वहीं अस्पताल से कुल 18 हजार 199 मरीज डिस्चार्ज किए गए है. अभी फिलहाल 5 हजार 788 मरीज अस्पताल में उपचाररत है. वहीं कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 6054 पहुंच गई है.

जयपुर में बढ़ता कोरोना का ख़ौफ़:
जयपुर में कोरोना का ख़ौफ़ बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 2 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 52 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. सांगोनर-6, मानसरोवर-1, बस्सी-3, जगतपुरा-3 पॉजिटिव, चाकसू-4, झोटवाड़ा-5, विद्याधर नगर-2, शास्त्री नगर-3 पॉजिटिव, मुरलीपुरा-2, टोंक फाटक-1, वैशाली नगर-1, SMSअस्पताल-4 पॉजिटिव, शाहपुरा-1,टोंक रोड-1,सी-स्कीम-3,कोटपूतली-1,बनीपार्क-2 पॉजिटिव, सिरसी रोड-2, जयसिंहपुरा खोर-1, अजमेर रोड-2, सोडाला-1 पॉजिटिव, माणक चौक-1, मालवीय नगर-1, भंदर-1 पॉजिटिव मरीज सामने आये है. जबकि कोरोना की वजह से जयपुर में अब तक 175 मरीजों ने जान गंवा दी. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 3 हजार 963 पहुंच गई है.

रणदीप सुरजेवाला बोले, कांग्रेस विधायक दल की कल सुबह एक और बैठक, पायलट समेत गैर हाजिर विधायकों को एक और मौका

पीसीसी दफ्तर में वापस लगाए गए पायलट के पोस्टर, खुद प्रियंका गांधी कर रहीं मध्यस्थता !

पीसीसी दफ्तर में वापस लगाए गए पायलट के पोस्टर, खुद प्रियंका गांधी कर रहीं मध्यस्थता !

जयपुर: राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम को लेकर एक बार फिर कांग्रेस आलाकमान प्रयास कर रहा है. जयपुर में कांग्रेस दफ्तर से सोमवार सुबह उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के पोस्टर हटा दिए गए थे, जो अब फिर से लगा दिए गए हैं. अशोक गहलोत ने बहुमत की संख्या दिखा दी है. जानकार सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार राजस्थान सियासी संकट को सुलझाने के प्रयास हो रहे हैं. 

रणदीप सुरजेवाला का बयान, कहा- अगले 30 दिन में होगा मंत्रिमंडल फेरबदल और विस्तार 

गहलोत और पायलट दोनों से बात कर रहीं प्रियंका: 
खुद प्रियंका गांधी इसकी मध्यस्थता कर रही है. सूत्रों के अनुसार प्रियंका गहलोत और पायलट दोनों से बात कर रही है. ऐसे में जानकारी के अनुसार पायलट ने आलाकमान के सामने कुछ मांगे रखी है. सूत्रों के अनुसार पायलट गृह और वित्त विभाग खुद के पास रखना चाहते हैं. इसके साथ ही अपने करीबी 4 विधायकों को मंत्री बनाने की मांग की है. वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद भी पायलट अपने पास रखना चाहते हैं. 

हटता नजर आ रहा गहलोत सरकार पर मंडरा रहा खतरा, दो और निर्दलीय विधायक वापस लौट सकते कुनबे में ! 

सुरजेवाला ने सचिन पायलट को बैठक में आने का न्योता दिया था:
जयपुर में सीएम आवास में शक्ति प्रदर्शन से पहले दिल्ली से गए कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सचिन पायलट को बैठक में आने का न्योता दिया था. सुरजेवाला ने कहा था कि राजस्थान की भलाई व्यक्तिगत प्रतिस्पर्धा से अलग होता है. सुरजेवाला ने सभी विधायकों, मंत्रियों और उपमुख्यमंत्री से बैठक में आने की बात कही थी. 


 

Open Covid-19