पंजाब में कांग्रेस संकट: अंतर्कलह को खत्म करने के लिए Sonia Gandhi से मिलेंगे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब में कांग्रेस संकट: अंतर्कलह को खत्म करने के लिए Sonia Gandhi से मिलेंगे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब में कांग्रेस संकट: अंतर्कलह को खत्म करने के लिए Sonia Gandhi से मिलेंगे मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह

नई दिल्ली: पंजाब (Punjab) में कांग्रेस पार्टी (Congress Party) में पिछले दिनों से चल रहे सं​कट के बीच मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) आज यानी मंगलवार को कांग्रेस सुप्रीमो सोनिया गांधी (Congress supremo Sonia Gandhi) से मुलाकात करेंगे. पंजाब कांग्रेस में जारी अंतर्कलह को खत्म करने की कोशिशों के बीच राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मंगलवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. इससे पहले 22 जून को, अमरिंदर सिंह ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय AICC पैनल से मुलाकात की थी, लेकिन वह पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी या राहुल गांधी से मिले बिना ही चंडीगढ़ लौट गए थे.

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कैप्टन के विरूद्ध खोल रखा है मोर्चा:
आपको बता दे कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Congress leader Navjot Singh Sidhu) ने पंजाब सरकार के विरूद्ध मोर्चा खोल रखा है.  सिद्धू ने 2015 में सिख ग्रंथों की बेअदबी और उसके बाद प्रदर्शनकारियों पर पुलिस की गोलीबारी की जांच पूरी करने में कथित देरी जैसे मुद्दों पर मुख्यमंत्री तके सामने मोर्चा खोल दिया है. अप्रैल में पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय (Punjab and Haryana High Court) द्वारा कोटकपूरा फायरिंग (Kotkapura Firing) मामले की जांच को रद्द किए जाने के बाद से ही सिद्धू ने अमरिंदर सिंह की आलोचना  शुरू कर दी. वहीं, CM अमरिंदर ने उनकी नाराजगी को पूर्ण अनुशासनहीनता बताया है.

पंजाब में अगले साल होने है चुनाव:
केंद्रीय नेतृत्व (Central Leadership) अगले साल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी में जारी गुटबाजी को खत्म करने का रास्ता तलाश रही है. इसके लिए सोनिया गांधी ने एक पैनल का गठन किया था, जिसने अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू सहित पार्टी के विधायकों के साथ बातचीत की थी. सिद्धू ने पिछले हफ्ते नई दिल्ली में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा था. पंजाब कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी राष्ट्रीय राजधानी में चार दिनों तक राहुल गांधी के साथ बैठकें की थीं.

विधानसभा चुनाव को कांग्रेस के लिए माना जा रहा है अहम:
अगले साल होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव को कांग्रेस के लिए महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि यह उन कुछ राज्यों में से एक है जहां पार्टी अभी भी सत्ता में है.

एआइसीसी पैनल में मल्लिकार्जुन खड़गे जेपी अग्रवाल और हरीश रावत शामिल हैं. हाल ही में सिद्धू की राहुल और प्रियंका के साथ बैठक के बाद पार्टी नेता हरीश रावत ने उम्मीद जताई थी कि पार्टी की पंजाब इकाई से संबंधित मुद्दों को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. 

और पढ़ें