VIDEO: महंगाई के खिलाफ दिल्ली में बड़ा प्रदर्शन, 12 दिसंबर को कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली

VIDEO: महंगाई के खिलाफ दिल्ली में बड़ा प्रदर्शन, 12 दिसंबर को कांग्रेस की महंगाई हटाओ रैली

जयपुर: महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का आंदोलन जारी है.12 दिसंबर को दिल्ली में होने वाली रैली को महंगाई हटाओ रैली का नाम दिया गया है. रैली की तैयारियों के मद्देनजर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने पीसीसी में पार्टी पदाधिकारियों और सोशल मीडिया यूनिट की बैठक ली.राजस्थान से 40 से 50 हजार कांग्रेस कार्यकर्ता जाएंगे दिल्ली.कांग्रेस की दिल्ली रैली को सोनिया गांधी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई नेता संबोधित करेंगे.दिल्ली से सटे राज्य राजस्थान की कांग्रेस ने भी तैयारी तेज कर रखी है. राजस्थान सहित दिल्ली के कई पड़ौसी राज्यों को भीड़ जुटाने को लेकर टारगेट दिया गया है. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा की तैयारी बैठकें जारी है

बताया जा रहा है कि अकेले राजस्थान से तकरीबन 50 हजारों की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा गया है. इसके अलावा हरियाणा,पंजाब और उत्तर प्रदेश से भी रैली में भीड़ जुटाई जाएगी. दिल्ली में होने वाली 'महंगाई हटाओ' रैली को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री कैसे वेणुगोपाल ने सभी राज्यों को शुक्रवार को ही निर्देश जारी किए थे.  अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से दिल्ली में कोविड काल के बाद यह पहली बड़ी रैली है जिसमें देशभर से कार्यकर्ता दिल्ली में जुटेंगे.देश में बढ़ती महंगाई और बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस पार्टी की ओर से सभी प्रदेशों में हो रहे धरने प्रदर्शनों के बाद अब राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन किया जा रहा है. 

इसी कड़ी में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की ओर से 12 दिसंबर को दिल्ली में बड़ी रैली का आयोजन है, केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोला जायेगा. डोटासरा ने कहा कि भारत की जनता को सबसे अधिक प्रभावित करने वाली वास्तविक समस्या इस समय पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस की महंगी कीमत हैं, जिसकी वजह से सभी खाद्य पदार्थ और उपभोग की वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं. हर परिवार खाने के तेल, दालों और खाद्य पदार्थों की असहनीय महंगाई से प्रभावित है. 

ऐसा पहली बार हो रहा है जब टमाटर की कीमत पेट्रोल और डीजल की कीमतों को भी मात दे रही हैं लेकिन बावजूद इसके मोदी सरकार या तो लोगों के कष्ट और पीड़ा से अनभिज्ञ बनी हुई है या उनका परिहास बनाती है. राजस्थान में जयपुर, अलवर, सीकर, दौसा और भरतपुर जिलों को ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने का टारगेट दिया गया है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी इसे लेकर सोशल मीडिया पर भी विशेष अभियान शुरू कर रही है. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें