जयपुर VIDEO: राज्यसभा चुनावों से पहले कुनबे को एक करने में जुटी कांग्रेस, देखिए ये खास रिपोर्ट 

VIDEO: राज्यसभा चुनावों से पहले कुनबे को एक करने में जुटी कांग्रेस, देखिए ये खास रिपोर्ट 

जयपुर: राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवारों के नामों को लेकर काउंट डाउन शुरु हो गया है. कांग्रेस अपने कुनबे को दुरुस्त करने में जुट गई है. पीसीसी में मीडिया से बातचीत में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस तीन सीटें जीतेगी,बीजेपी के षड्यंत्र से चौकस है हम और पार्टी पूरी तरह एक है ,विधायक की नाराजगी खबरें गलत है. प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने पार्टी विधायकों की नाराजगी की खबरों को खारिज करते हुए राज्यसभा चुनाव में 3 सीटों पर जीत दर्ज करने का दावा किया है. डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में कोई गुटबाजी और नाराजगी नहीं है. सब विधायक कांग्रेस आलाकमान के नेतृत्व में एकजुट हैं और राज्यसभा चुनाव में 3 सीटों पर जीत हमारी होगी. 

पीसीसी चीफ ने आज प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में मीडिया से बातचीत करते कहा कि विधायक गणेश घोगरा की नाराजगी के सवाल पर कहा कि विधायक गणेश घोगरा नाराज नहीं है, उन्होंने मुझ से मुलाकात की है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी मुलाकात की है उनकी जो शिकायत थी उन्होंने मुख्यमंत्री के समक्ष कही है और  कोई नाराजगी नहीं है. प्रदेश में राज्यसभा चुनाव की प्रक्रिया शुरू होने के साथ ही कांग्रेस ने अपने कुनबे को एक रखने की कवायद तेज कर दी है . पार्टी को अंदाजा है कि सत्तारूढ़ कांग्रेस 3 सीटों पर जीत के दावे भले ही करे  लेकिन पार्टी के विधायकों में अंदरखाने चल रही नाराजगी राज्यसभा चुनाव में पार्टी पर भारी पड़ सकती .

क्या ये नाराज !:
-निर्दलीय विधायक बलजीत यादव नाराज चल रहे
-बीएसपी से कांग्रेस में आए विधायक वाजिब अली, संदीप यादव खुश नहीं
-कांग्रेस विधायक गणेश घोगरा और गिरिराज सिंह मलिंगा मुकदमों के कारण नाराज !
-वरिष्ठ विधायक भरत सिंह,रामनारायण मीणा,अमीन खान की नाराजगी सामने आती रहती है 
-युवा आदिवासी विधायक रामलाल मीणा खुल कर बोल रहे
-दूसरी दिव्या मदेरणा भी असंतुष्ट चल रही

कुछ प्रमुख विधायक ऐसे हैं जो सरकार की कार्यशैली से नाराज हैं तो कई विधायक ऐसे भी हैं, जिन्हें न तो राजनीतिक नियुक्तियां मिल पाई और न ही मंत्रिमंडल में स्थान. इनमे बीएसपी से कांग्रेस में आने वाले विधायक भी शुमार है.सीएम गहलोत ने निर्दलीय विधायकों से व्यक्तिगत मुलाकात की ,पार्टी के विधायकों से मिल रहे है ,फोन पर भी बात की ,पीसीसी चीफ डोटासरा भी कर रहे मुलाकात.पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा कि बीजेपी क्या काम करती हैं यह सभी को पता है. मध्य प्रदेश और कर्नाटक में इन्होंने चुनी हुई सरकार को गिरा दिया लेकिन हम इनके षड्यंत्र का पर्दाफाश करेंगे. बीजेपी की रणनीति साफ हो चुकी है ,पिछली बार की तरह दोनों ही दल अब बाड़ेबंदी की रणनीति में जुट चुके है.जो जीता वो ही सिकंदर कहलाएगा. 

और पढ़ें