जयपुर Rajasthan By Election: दो विधानसभा उप चुनाव के लिए कांग्रेस ने बनाई रणनीति, देखिए ये खास रिपोर्ट

Rajasthan By Election: दो विधानसभा उप चुनाव के लिए कांग्रेस ने बनाई रणनीति, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: सत्ताधारी दल कांग्रेस के लिए आगामी दो विधानसभा चुनाव चुनौती की तरह होंगे. सीएम गहलोत के बयानों से जाहिर होता है कि कांग्रेस किस तरह से वल्लभनगर और धरियावद को ले रही है. कांग्रेस के लिए चुनाव साख का सवाल है और मेवाड़ की बीजेपी के अंदर फिलहाल दिखाई दे रही रार से सत्ताधारी दल को उम्मीदें भी है. कांग्रेस कैंप के प्रयास है दोनों सीट जीतकर सदन में संख्याबल बढ़ाना. 

अब राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह स्वस्थ है. उनके बयान देश और प्रदेश की सियासत को हिला रहे है. संकेत साफ है कि पूरी ऊर्जा के साथ कांग्रेस दो विधानसभा क्षेत्रों के चुनावी समर में उतरे. सीएम गहलोत और पीसीसी चीफ डोटासरा की रणनीति है कि दोनों सीटों पर कांग्रेस को विजय मिले. वल्लभनगर पहले कांग्रेस के पास ही थी, धरियावद को जीतना कांग्रेस के लिए अहम है. यहीं कारण है कि कुशल रणनीतिकारों की फौज को कांग्रेस ने दोनों उपचुनाव क्षेत्रों में उतार दिया है.कांग्रेस कैंप की क्या है जीत की रणनीति आपको बताते है.

एकजुटता के साथ चुनावी समर में उतरना:
-सरकार के किए कामों को जनता के बीच बताना
-परंपरागत वोट बैंक को साध कर चलना
-स्थानीय मजबूत क्षत्रपो का आगे रखकर प्रचार की रणनीति बनना
-वल्लभनगर में रणधीर सिंह भिंडर या उनकी पत्नी को बीजेपी का -टिकट मिलता है तो विरोधी दल के अंदर उपजी रार का लाभ उठाना 
-भिंडर मुद्दे पर गुलाब चंद कटारिया की नाराजगी साफ झलक रही है,कांग्रेस लाभ लेना चाहेगी असंतोष का
-अभी तक मंत्रिपरिषद और राजनीतिक नियुक्तियों को अमलीजामा नहीं पहनाया गया 
-यही कारण है कि कांग्रेस ने आदिवासी और स्थानीय नेता पूरे जोश के साथ पार्टी के प्रचार में जुटेंगे 
-नेताओं की परफॉर्मेंस आधार बनेगी उनकी सत्ता में भागीदारी के लिए 

दो विधानसभा उप चुनाव में सीएम अशोक गहलोत प्रचार के लिए जाएंगे.लोकतांत्रिक और आदर्श चुनावी आचार संहिता की पालना करते हुए चुनाव प्रचार करेंगे.बीते तीन विधानसभा चुनावों की तरह ही सीएम गहलोत और राज्य कांग्रेस मौजूदा उप चुनावों को गंभीरता से ले रही है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें