कांग्रेस का मिशन राजस्थान, कुछ लोकसभा सीटें कमजोर कड़ी 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/02/06 09:52

जयपुर (योगेश शर्मा)। राजस्थान में कांग्रेस का चुनावी मंथन जारी है। प्रदेश इलेक्शन कमेटी के जरिये उम्मीदवार तलाशने के काम को अमलीजामा पहनाया गया है। कमेटी की बैठक में उन सीटों पर फोकस विशेष फोकस किया गया है जिन्हें कमजोर कड़ी माना जा रहा है। तकरीबन 1दर्जन लोकसभा सीटें ऐसी है जो कांग्रेस के विशेष टारगेट पर रहने वाली है। खास सियासी रिपोर्ट-

राजस्थान में कांग्रेस का राज तो आ गया लेकिन बहुमत वैसा नहीं प्राप्त हुआ जैसी अपेक्षा थी। लिहाजा राजस्थान को लेकर कांग्रेस का राष्ट्रीय नेतृत्व बेहद सजग और सतर्क है। हिन्दी पट्टी के इस राज्य में कांग्रेस उम्मीद कर रही है 25 में से कम से कम 20सीटों को फतह करने की। राह आसान नहीं है, इसलिये विशेष सर्वे और रणनीतिक के तहत कमजोर सीटों को फोकस किया गया है। इसके साथ ही प्रदेश इलेक्शन कमेटी ने उन बातों पर भी फोकस किया है जिन्हें लेकर पब्लिक में रिएक्शन है खासतौर पर अगड़ी जातियों को आरक्षण और इंकम टैक्स में दी छूट।  कांग्रेस पार्टी को विधानसभा चुनाव में एससी एसटी के साथ ही सामान्य वर्ग का भी वोट मिला था। अजमेर जिले में तो कांग्रेस के 2 उम्मीदवार ही जीते और वो दोनों सामान्य वर्ग के ही रहे। ऐसे में कांग्रेस ने जो सेंध विधानसभा चुनावों में बीजेपी के मूल वोट बैंक में लगाई थी, वो कैसे बरकरार रखा जाये उसे लेकर खास तैयारी है। बताते हैं वो कमजोर सीटें जो कांग्रेस के मिशन लोकसभा में रोड़ा बन सकती है, कारण भी समझाते हैं। PEC ने इस पर गंभीर मंथन इसलिये भी किया है, क्योंकि यहां पर जीताऊ चेहरों का भी टोटा है। 

कांग्रेस के मिशन में बाधक यह सीटें

―विधानसभा परिणामों को आधार माना गया है 

जालोर
―जालोर जिले में कांग्रेस को मात्र एक सीट सांचोर की मिली
―यहां कांग्रेस के सुखराम विश्नोई चुनाव जीते

सिरोही
―सिरोही जिले में कांग्रेस को 1भी सीट नहीं मिली
―कांग्रेस के बागी के तौर पर संयम लोढ़ा ही जीते

पाली
―पाली जिले में कांग्रेस को विधानसभा चुनावों में करारी पराजय देखने को मिली
―यहां कांग्रेस को 1भी सीट नहीं मिली 

चितौड़ 
―चितौड़ जिले में विधानसभा में कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ा
―यहां केवल उदय लाल आंजना और राजेन्द्र विधूड़ी ही कांग्रेस के टिकट पर जीते

राजसमंद
―राजसमंद जिले यहां केवल डॉ सीपी जोशी और सुदर्शन रावत ही चुनाव जीते

अलवर
―यहां कांग्रेस ने लोकसभा का उपचुनाव जीता था
―विधानसभा चुनावों में करण सिंह यादव चुनाव हार गये
―कांग्रेस से टीकाराम जूली, शकुंतला रावत, बाबूलाल वर्मा, जौहरी लाल मीना और उपचुनाव में साफिया ने चुनाव जीते

भीलवाड़ा 
―भीलवाड़ा जिले में कांग्रेस की स्थिति खराब रही
―रामलाल जाट, कैलाश त्रिवेदी ने लाज बचाई
―मांडलगढ उपचुनाव जीता था लेकिन यहां भी हार मिली

अजमेर
―अजमेर लोकसभा का उपचुनाव कांग्रेस ने जीता
―विधानसभा चुनावों में मुंह की खानी पड़ी
―केवल रघु शर्मा और राकेश पारीक ही कांग्रेस टिकट पर जीते

उदयपुर 
―उदयपुर जिले भी कांग्रेस के लिये खास नहीं रहा
―गजेन्द्र सिंह शक्तावत, दयाराम परमार ने ही चुनाव जीते

बांसवाड़ा 
―कांग्रेस यहां अपने गढ़ को नहीं बचा पाई
―अर्जुन बामणिया, महेन्द्र जीत मालवीय ही चुनाव जीते

डूंगरपुर 
―डूंगरपुर जिले में भी कांग्रेस का प्रदर्शन लचर रहा
―केवल गणेश घूघरा ने ही चुनाव जीता 

झालावाड़ 
―वसुंधरा राजे का गढ़ अभेद्य रहा
―झालावाड़ जिले में कांग्रेस का खाता नहीं खुला

बूंदी
―बूंदी कांग्रेस के लिये नुकसानदेह रहा

राजस्थान में कांगेस ने सत्ता का परचम फहराया, लेकिन कुछ जिलों में हाथ पर किसी का भी नहीं जीतना दुखती रग के समान है। प्रदेश इलेक्शन कमेटी की बैठक ने प्लस पाइंटस के साथ ही उन माइनस प्वाइंट्स पर विशेष विचार किया है। जिसके जरिये लोकसभा चुनाव में मिशन को कामयाब बनाकर राहुल गांधी के हाथ मजबूत किये जा सके। पिछले राज में वसुंधरा राजे ने 25 की 25 सीटें नरेन्द्र मोदी की झोली में डाली थी। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

लोकसभा चुनाव को लेकर क्या है चौमूं की जनता का मूड

भारत ने दिखाई ताकत, वायुसेना का युद्धाभ्यास
पुलवामा हमले के बाद सहमा पाकिस्तान, LoC पर मची खलबली
आज की चर्चा प्रियंका गाँधी पर | Good Luck Tips
लंदन में लगे पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे
2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर क्या है बूंदी की जनता का मूड | Janta Ka Mood
सवर्दलीय बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लिया प्रण !
पाकिस्तान प्रेम नवजोत सिंह सिद्धू को पड़ा भारी, कपिल के शो से हुए बाहर
loading...
">
loading...