राफेल की 'शस्त्र पूजा' को लेकर कांग्रेस का हमला, मल्लिकार्जुन खड़गे बोले-तमाशे की जरूरत नहीं थी

राफेल की 'शस्त्र पूजा' को लेकर कांग्रेस का हमला, मल्लिकार्जुन खड़गे बोले-तमाशे की जरूरत नहीं थी

राफेल की 'शस्त्र पूजा' को लेकर कांग्रेस का हमला, मल्लिकार्जुन खड़गे बोले-तमाशे की जरूरत नहीं थी

नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपने तीन दिवसीय फ्रांस दौरे पर हैं. इस दौरान रक्षा मंत्री ने कल विजयादशमी के अवसर पर भारतीय परंपरा के अनुसार शस्त्र पूजा करके उन्नत प्रौद्योगिकी से लैस लड़ाकू विमान राफेल का अधिग्रहण किया. वहीं इस पर पर कांग्रेस ने टिप्पणी की है. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने इसे 'तमाशा' करार दिया है और कहा है कि इस तमाशे की जरूरत नहीं थी.

कांग्रेस दिखावा करने में यकीन नहीं रखती:
मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि कांग्रेस इस तरह का दिखावा करने में यकीन नहीं रखती. कांग्रेस शासनकाल में जब हमने सेना के लिए बोफोर्स हथियार खरीदा था, तो हमारी ओर से कोई नेता या मंत्री उसे लाने विदेश नहीं गया था. बता दें कि भारत ने फ्रांस से कुल 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदे हैं और वो सारे फाइटर जेट 2022 तक हिंदुस्तान आ जाएंगे. सबसे पहले चार विमान आएंगे और इसके बाद भी चार-चार की किस्तों में ही 32 विमान आएंगे. इनमें से 18 रफेल अंबाला एयरबेस पर तैनात होंगे, जबकि बाकी 18 विमान पश्चिम बंगाल के हाशीमारा बेस पर. 

और पढ़ें