भुवनेश्वर कांग्रेस ने जगन्नाथ पुरी हैरिटेज कॉरिडोर परियोजना पर जताईं शंकाएं, राज्य सरकार के काम में पारदर्शिता पर उठाए सवाल

कांग्रेस ने जगन्नाथ पुरी हैरिटेज कॉरिडोर परियोजना पर जताईं शंकाएं, राज्य सरकार के काम में पारदर्शिता पर उठाए सवाल

कांग्रेस ने जगन्नाथ पुरी हैरिटेज कॉरिडोर परियोजना पर जताईं शंकाएं, राज्य सरकार के काम में पारदर्शिता पर उठाए सवाल

भुवनेश्वर: ओडिशा में कांग्रेस विधायक दल के नेता नरसिंह मिश्रा ने श्री जगन्नाथ मंदिर के पास बड़े पैमाने पर निर्माण को लेकर चिंता जताई, जिसके बाद पुरी धरोहर गलियारा परियोजना को लेकर विवाद और तेज हो गया है.

दरअसल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की भुवनेश्वर से सांसद अपराजिता सारंगी ने पुरी को अंतरराष्ट्रीय विरासत स्थल बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा किए जा रहे पूरे काम में पारदर्शिता पर सवाल उठाए थे और उसके एक दिन बाद मिश्रा ने परियोजना पर चिंता व्यक्त की है. बारहवीं शताब्दी के राष्ट्रीय स्मारक के प्रतिबंधित क्षेत्र में निर्माण का निरीक्षण करने के लिए गठित ओडिशा विधानसभा समिति के सदस्य एवं कांग्रेस नेता ने बृहस्पतिवार को व्यक्तिगत रूप से मंदिर का दौरा करने और कार्यों का निरीक्षण करने के बाद यह चिंता व्यक्त की है.

परियोजना के क्रियान्वयन में किसी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ:

उन्होंने कहा कि भ्रम की स्थिति है क्योंकि भाजपा नेता ने आरोप लगाया है कि इस काम के लिए भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग ने कोई मंजूरी नहीं दी है और यही दावा सूचना के अधिकार कार्यकर्ता ने भी किया है. वहीं राज्य सरकार ने दावा किया है कि परियोजना के क्रियान्वयन में किसी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ है. वहीं मुख्य सचिव एससी महापात्र ने सार्वजनिक बयान देते हुए कहा है कि एएसआई के ‘समन्वय’ में काम किया जा रहा है. मिश्रा ने कहा कि एएसआई की अनुमति के बिना कोई काम नहीं किया जा सकता.

कार्य के निरीक्षण के लिए बनी संसदीय समिति ने अभी स्थल का निरीक्षण नहीं किया: 

कांग्रेस नेता ने कहा कि कार्य के निरीक्षण के लिए बनी संसदीय समिति ने अभी स्थल का निरीक्षण नहीं किया है. उन्होंने कहा कि मैंने अध्यक्ष को यह कहते हुए सुना है कि संसदीय समिति इस बात पर विचार कर रही है कि क्या वह मामले पर गौर कर सकती है जो उच्च न्यायालय के अधिकार क्षेत्र में आता है. जहां तक मुझे पता है संसदीय समिति पर इस प्रकार की कोई रोक नहीं है. कांग्रेस नेता ने कहा कि उनकी पार्टी विकास के विरुद्ध नहीं है,लेकिन ऐसे कार्यों के विरुद्ध है जो कानून का उल्लंघन करके किए जा रहे हैं. सोर्स-भाषा  

और पढ़ें