close ads


कांग्रेस का दावा, 20 लाख करोड़ का नहीं, बल्कि सिर्फ 3.22 लाख करोड़ रुपए का हैं आर्थिक पैकेज

कांग्रेस का दावा, 20 लाख करोड़ का नहीं, बल्कि सिर्फ 3.22 लाख करोड़ रुपए का हैं आर्थिक पैकेज

नई दिल्ली: मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ के पैकेज पर मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने हमला बोलते हुए कहा कि पैकेज सिर्फ 3.22 लाख करोड़ रुपए का ही है जो जीडीपी का 1.6 फीसदी है. 20 लाख करोड़ का पैकेज नहीं है, जैसा कि प्रधानमंत्री ने कहा था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा कि वित्त मंत्री को जवाब देना चाहिए, न कि सवाल करना चाहिए, योजना के अभाव में सड़कों पर चलने को मजबूर हुए प्रवासियों की दुर्दशा पर सरकार को जवाब देना होगा. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 5083 कोरोना संक्रमित, 123 नए केस आये सामने, अकेले जयपुर में मिले 37 पॉजिटिव

12.3 करोड़ लोगों की जा चुकी है नौकरी:
उन्होंने ने यह भी कहा कि वित्त मंत्री की हालत समझी जा सकती है क्योंकि अर्थव्यवस्था तबाह हो चुकी है और शिष्टाचार भी बनाए रखना है लेकिन रेल की व्यवस्था क्यों नहीं की जा रही है. लोग सड़कों पर क्यों मर रहे हैं. सरकार सिर्फ जुबानी मदद कर रही है. आनंद शर्मा ने आगे कहा कि आज 12.3 करोड़ लोगों की नौकरी जा चुकी है.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़ी घोषणाएं कीं:
गौरतल​ब है कि कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार ने कुल 20 लाख करोड रुपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी. आत्मनिर्भर भारत पैकेज की पांचवी किस्त के तहत वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़ी घोषणाएं कीं. मनरेगा, स्वास्थ्य, शिक्षा, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस, निजीकरण,  राज्य सरकारों को मदद के रूप में 7 अहम घोषणाएं की. मनरेगा के लिए 40 हजार करोड़ रुपए का आवंटन बढ़ाया गया. गांव जा रहे प्रवासी मजदूरों को काम मिल सके. ग्रामीण क्षेत्रों में काम की कमी ना आए और आमदनी का साधन मिले इसके लिए 40 हजार करोड़ रुपए का अधिक आवंटन किया जा रहा है. इससे 300 करोड़ व्यक्ति कार्यदिवस उत्पन्न होंगे. 

पंजाब के बाद महाराष्ट्र सरकार ने 31 मई तक बढ़ाया लॉकडाउन, सोमवार से लागू होगा लॉकडाउन 4.0

और पढ़ें