नई दिल्ली राहुल गांधी के एक छेड़छाड़ वाले वीडियो के प्रसारण मामले में कांग्रेस ने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी

राहुल गांधी के एक छेड़छाड़ वाले वीडियो के प्रसारण मामले में कांग्रेस ने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी

राहुल गांधी के एक छेड़छाड़ वाले वीडियो के प्रसारण मामले में कांग्रेस ने कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी

नई दिल्ली: कांग्रेस ने रविवार को भाजपा और मीडिया के एक वर्ग को पार्टी तथा उसके नेताओं को बदनाम करने के लिए तथ्यों को तोड़ने-मरोड़ने से बचने को कहा.

विपक्षी दल ने कहा कि राहुल गांधी के एक छेड़छाड़ वाले वीडियो को प्रसारित करने के मामले में एक टीवी चैनल के खिलाफ जयपुर में एक प्राथमिकी दर्ज की गयी है. कांग्रेस नेता और पार्टी के मीडिया तथा प्रचार विभाग के प्रमुख पवन खेड़ा ने कहा कि फर्जी खबरें फैलाने और राहुल गांधी के एक छेड़छाड़ वाले वीडियो को साझा करने के मामले में भाजपा और उसके नेताओं के खिलाफ भी ऐसी ही कार्रवाई की जाएगी.

अपनी गलती मानकर इसके लिए माफी मांग ली:
आरोप है कि वीडियो में राहुल गांधी के वायनाड स्थित दफ्तर में कथित रूप से तोड़फोड़ करने वाले एसएफआई नेताओं के बारे में कांग्रेस नेता की टिप्पणियों को ‘शरारतपूर्ण तरीके से’ इस तरह इस्तेमाल किया गया है, जिससे लगता है कि वह उदयपुर में कन्हैयालाल के हत्यारों को माफ कर रहे हैं. खेड़ा ने कहा कि कथित वीडियो को हटा लिया गया है और चैनल ने अपनी गलती मानकर इसके लिए माफी मांग ली है. उन्होंने कहा कि लेकिन पहले ही बहुत नुकसान हो चुका है.

भाजपा में कुछ अन्य लोगों ने भी इसे आगे बढ़ाया: 
उन्होंने चेतावनी दी कि कांग्रेस नेताओं के खिलाफ फर्जी खबरें फैलाने में शामिल सभी लोगों के खिलाफ पार्टी सख्त कार्रवाई करेगी. खेड़ा ने कहा कि पार्टी की विनम्रता को उसकी मजबूरी नहीं मानना चाहिए. कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि पूर्व सूचना और प्रसारण मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने ‘गैरजिम्मेदाराना’ तरीके से वीडियो साझा किया और भाजपा में कुछ अन्य लोगों ने भी इसे आगे बढ़ाया. सोर्स-भाषा

और पढ़ें