अलवर में नगर परिषद सभापति की सीट पर कांग्रेस ने दर्ज की जीत, 15 साल बाद कांग्रेस को बोर्ड बनाने का मिला मौका

अलवर में नगर परिषद सभापति की सीट पर कांग्रेस ने दर्ज की जीत, 15 साल बाद कांग्रेस को बोर्ड बनाने का मिला मौका

अलवर में नगर परिषद सभापति की सीट पर कांग्रेस ने दर्ज की जीत, 15 साल बाद कांग्रेस को बोर्ड बनाने का मिला मौका

अलवर: अलवर में नगर परिषद सभापति की सीट पर कांग्रेस ने जीत दर्ज कर ली है. चुनाव परिणाम के आते ही भाजपा के प्रत्याशी धीरज जैन वहां से चले गए. अभी भाजपा के पार्षदों को खैरथल के एक होटल में रखा गया है. परिणाम के बाद कांग्रेस के प्रत्याशी जो सभापति बनी है के समर्थन में कांग्रेस से कार्यकर्ता एकत्रित हुए. नगर परिषद में पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और राज्य मंत्री टीकाराम जूली कार्यकारी जिलाध्यक्ष योगेश मिश्रा समेत दूसरे लोग भी पहुंचे. इस दौरान कांग्रेसियों में खासा जोश दिखा. पिछले 15 साल से नगर परिषद अलवर में भाजपा का बोर्ड था और 15 साल बाद कांग्रेस को यहां बोर्ड बनाने का मौका मिला है. ऐसे में कांग्रेस की खुशी का ठिकाना नहीं है.

15 साल से लगातार यहां भाजपा का ही विधायक बन रहा: 
खास बात यह है कि अलवर शहर में पिछले लंबे समय से कोई भी चुनाव कांग्रेस नहीं जीत पाई. 15 साल से लगातार यहां भाजपा का ही विधायक बन रहा है. ऐसे में नगर परिषद में कांग्रेस की जीत के बाद कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं में उत्साह है. इस दौरान जितेंद्र सिंह और टीकाराम जूली ने खास बातचीत की. इस दौरान उन्होंने कहा कि  विकास की नई इबारत लिखेंगे, अधूरे छूट गए हैं उन्हें पूरे करेंगे. जितेंद्र सिंह ने कहा कि भ्रष्टाचार माफिया बन गया था उसकी सफाई होगी.
 

और पढ़ें