कर्मचारियों के मत पत्रों की सुरक्षा को लेकर कांग्रेसियों ने किया हंगामा 

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/09 08:02

बूंदी (भवानी सिंह हाड़ा)। बूंदी विधानसभा के लिए हुए मतदान के बाद पिछले दो दिनों से कर्मचारियों द्वारा बैलेट पेपर पर नजदीकी डाक घरों में अपने मत पत्र डाले जा रहे है। लेकिन इन डाक घरों के बाहर कोई सुरक्षा गार्ड नहीं होने की जानकारी कांग्रेसियों को मिलने के बाद वह सीधा उन डाक बॉक्सों के बाहर लाठी डंडे लेकर पहुंचे। जहां उन्होंने ने डाक घर बॉक्सों के बाहर सुरक्षा गार्ड के रूप में प्रहारा दिया। 

जहां डाक घर में कई कर्मचारी गुलाबी लिफाफे में अपना मत बॉक्स में डालते दिखाई दिए लेकिन यहां कोई सुरक्षा गार्ड नहीं दिखाई दिया। डाक बॉक्स में केवल तीन बॉक्स लगे हुए है। जिसमे स्थानीय, ग्रामीण एवं अन्य जिले के बॉक्स शामिल थे। इन बॉक्सों में साफ़ तौर पर गुलाबी रंग मत दिखाई दिए और आसानी से बाहर निकाले जा सकते थे लेकिन निर्वाचन विभाग का इस और ध्यान नहीं गया। कांग्रेसियों ने लापरवाही को ध्यान में ला दिया और पहरे वाली जानकारी प्रशासन को लगी थी। कोतवाली थाना पुलिस एवं तहसीलदार मौके पर पहुंचे जहां कांग्रेसियों से बात की। लेकिन कांग्रेसी प्रशासन की लापरवाही बताते हुए हंगामा किया। तहसीलदार द्वारा कोई संतोषपूर्वक जवाब नहीं देने पर कार्यकर्ताओं ने वहां जमकर हंगामा कर दिया और आखिर में तहसीलदार को वहां से जाना पड़ा। 

मौके पर तहसीलदार से कार्यकर्ताओं का कहना था कि ईवीएम मशीनों को जवानो की कस्टडी में रखा हुआ है तो इन मत पत्रों को बिना सुरक्षा गार्ड के क्यों रखा हुआ है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि इन डाक घरो के बॉक्सों में कर्मचारी मतदान कर रहे है और कर्मचारी सारे राज्य सरकार से नाराज थे। उन्होंने ने कांग्रेस को मतदान देने की शपथ ली थी, लेकिन यहां कर्मचारियों के मत पत्रों की सुरक्षा नहीं की जा रही है। उन्हें खुले में रखा जा रहा है। जहां कोई भी छेड़छाड़ कर मतपत्रों को बाहर निकालकर ताला तोड़ लेगा और दूसरा ताला लगवा लेगा।

वहीं मौके पर पहुंचे तहसीलदार ओमप्रकाश का कहना था कि यह हमारी जिम्मेदारी नहीं है। डाक घर वालों की जिम्मेदारी है। फिर भी हम मामले को दिखवा कर सुरक्षा करवा रहे है। बूंदी विधानसभा में अब तक 1400 कर्मचारियों ने अपना मतदान किया है और आज रात पूरा आकड़ा आ जायेगा। 

दो घंटे तक कांग्रेस कार्यकर्ताओं के चले हंगामे के बाद मौके पर लोग की भारी भीड़ जमा हो गई। तहसीलदार द्वारा जिला कलेक्टर से वार्ता करने के बाद शहर के सभी स्थानों पर सुरक्षा गार्ड लगवाए गए जब जाकर मामला शांत हुआ।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

कांग्रेस-बीजेपी के भरोसे\'मंद\' - 25 !

सैम पित्रोदा के बयान पर कांग्रेस की किरकिरी
सैम पित्रोदा के एयर स्ट्राइक पर विवादित बयान को लेकर सियासत
लोकसभा चुनाव का सियासी गणित
धन संबधित परेशानी है तो जानिए कुछ असरकारी टोटके| Good Luck Tips
BJP ने 182 लोकसभा उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी
BJP थोड़ी देर में जारी करेगी उम्मीदवारों की पहली सूची
देश के 3 प्रमुख मंदिरों की होली