Live News »

टोंक में कांस्टेबल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

टोंक में कांस्टेबल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

टोंक: जिले में निवाई के सुनारी गांव स्थित आवास पर एक कांस्टेबल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. कांस्टेबल कोटा के नयापुरा थाने में कार्यरत था. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची निवाई सदर थाना पुलिस ने कांस्टेबल के शव को फंदे से उताकर उसका पोस्टमार्टम करवाया. फिलहाल आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है. पुलिस मामले की गहनता से जांच करने में जुट गई है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाने टोंक पहुंचे पायलट, कहा-जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने मेहनत से किया काम

 कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाने टोंक पहुंचे पायलट, कहा-जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने मेहनत से किया काम

टोंक: लॉक डाउन और कर्फ्यू के बीच सचिन पायलट अपने निर्वाचन क्षेत्र टोंक के दौरे पर पहुंचे. मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंशिंग का ध्यान रखते हुये सचिन पायलट ने बैठक ली. जिला प्रशासन के अधिकारियों की  बैठक लेकर  कोरोना वायरस को लेकर फीडबैक लिया.

Rajasthan Corona Update: भरतपुर में दो और नए पॉजिटिव केस आए सामने, 200 पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

पायलट ने टोंक में जिला प्रशासन की बैठक ली:
बैठक में टोंक जिला कलेक्टर, अजमेर IG ,टोंक पुलिस अधीक्षक ,स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ,टोंक नगर परिषद सभापति मौजूद रहे. पायलट ने संक्रमण रोकने की लिए अब तक किये गए कार्यों की समीक्षा की. अधिकारियों को जनता की हरसंभव मदद करने निर्देश दिए. पायलट ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए संसाधनों में कमी नही आने देंगे.

कर्फ़्यू का पालन करने की अपील की:
पायलट ने कहा कि उनका आज टोंक में आने का उद्देश्य कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाना है, ज़िला-पुलिस प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूरी मेहनत से लगे हुये है. उन्होंने सभी टोंकवासियों से विपदा की घड़ी में सहयोग करने की अपील, घरों में रहने और कर्फ़्यू का पालन करने की अपील की.

Coronavirus Updates: संक्रमितों की संख्या 2902 हुई, 601 नए मामले, सरकार ने चेहरा ढक कर निकलने की एडवाइजरी जारी की

VIDEO: टोंक शहर कभी भी आ सकता है कोरोना की चपेट में! जयपुर के रामगंज से चोरी छिपे टोंक आ रहे लोग

टोंक: प्रदेश में पिछले 15 घंटे में कोरोना वायरस का कोई भी पॉजिटिव केस सामने नहीं आया है. राजस्थान में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 93 पर स्थिर है. इसमें 17 केस ईरान से लौटे भारतीयों के भी शामिल है. यह प्रदेश के लिए राहत की खबर है. लेकिन इसी बीच चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जयपुर के रामगंज से चोरी छिपे लोग टोंक आ रहे हैं. पिछले 24 घंटे में 2 दर्जन से अधिक लोग टोंक पहुंचे हैं. 

VIDEO- Rajasthan Corona Update: पिछले 12 घंटे में राजस्थान में नहीं आया कोई नया पॉजिटिव केस, भीलवाड़ा से राहत की खबर  

प्रशासन कर रहा टोंक जिले की सीमाओं को सील होने का दावा:
वहीं प्रशासन टोंक जिले की सीमाओं को सील होने का दावा कर रहा है. लेकिन सबसे बड़ा सवाल तो यह खड़ा होता है कि जब सीमाएं सील है तो लोग इतनी तादाद में कैसे आ गए? क्या रामगंज पुलिस कुछ मुस्लिम जनप्रतिनिधियों के दबाव में काम कर रही है? 

VIDEO- WHO ने की कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी की पुष्टि, अपने पहले के बयान को बदला 

राजस्थान के 5 जिलों से 17 सदस्य गए थे दिल्ली: 
वहीं दूसरी ओर राजस्थान के 5 जिलों से 17 सदस्य दिल्ली तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शिरकत करने गए थे. जानकारी के अनुसार सीकर, झुंझुनूं, जयपुर, टोंक और जैसलमेर से लोग दिल्ली गए थे. हालांकि इन 17 लोगों की फिलहाल पहचान की पुष्टि नहीं हुई है. ऐसे में प्रशासन के सामने यह चुनौति बन गया है. हालांकि प्रशासन इस पूरे मामले पर नजर बनाए हुए है लेकिन फिर भी लोगों के सहयोग के बिना कोरोना वायरस पर कंट्रोल कर पाना काफी कठिन कार्य है. 


 

टोंक में बच्ची से दुष्कर्म का आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या 5 दिन के पुलिस रिमांड पर

टोंक में बच्ची से दुष्कर्म का आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या 5 दिन के पुलिस रिमांड पर

टोंक: टोंक में 6 वर्षीय मासूम से दुष्कर्म और हत्या के आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या को  कोर्ट ने 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है. आरोपी को पॉक्सो एक्ट में पेश किया गया. वहीं इससे पहले आरोपी को कोर्ट में लाते समय वकीलों ने उससे मारपीट का प्रयास किया. इस दौरान आरोपी को बचाने के प्रयास में पुलिस और वकील आमने-सामने हो गए. कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस आरोपी को कोर्ट के अंदर लेकर गई. 

पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही किया मामले का खुलासा: 
बता दें कि इससे पहले पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही मामले का खुलासा करते हुए आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या मीना को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की. पुलिस की शुरुआती पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल लिया था. 

स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या:
दरअसल आरोपी ट्रक ड्राइवर बच्ची के गांव में ही रहता है. स्नीफर डॉग की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंची है. पुलिस ने आधिकारिक तौर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए इस मामले में खुलासा भी किया है. बता दें कि दरिंदगी की इस वारदात में महज 6 साल की मासूम छात्रा से रेप करने के बाद उसके ही स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या कर दी गई. मासूम का शव रविवार को बबूल की घनी झाड़ियों में पड़ा मिला. घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों में जमकर आक्रोश फैल गया. पुलिस अधीक्षक समेत अन्य आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. उसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई. वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून भी मिला था. 

टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म मामले में आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या गिरफ्तार

टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म मामले में आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या गिरफ्तार

टोंक: टोंक में 6 वर्षीय मासूम से दुष्कर्म और हत्या के मामले में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपी महेंद्र उर्फ धौल्या मीना को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. पुलिस की शुरुआती पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल लिया है. 

स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या:
दरअसल आरोपी ट्रक ड्राइवर बच्ची के गांव में ही रहता है. स्नीफर डॉग की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंची है. पुलिस ने आधिकारिक तौर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए इस मामले में खुलासा भी किया है. बता दें कि दरिंदगी की इस वारदात में महज 6 साल की मासूम छात्रा से रेप करने के बाद उसके ही स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या कर दी गई. मासूम का शव रविवार को बबूल की घनी झाड़ियों में पड़ा मिला. घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों में जमकर आक्रोश फैल गया. पुलिस अधीक्षक समेत अन्य आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. उसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई. वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून मिला. 

टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में स्नीफर डॉग की मदद से आरोपी तक पहुंची पुलिस

टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के मामले में स्नीफर डॉग की मदद से आरोपी तक पहुंची पुलिस

टोंक: राजस्थान के टोंक में 6 वर्षीय मासूम से दुष्कर्म और हत्या के मामले में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है. संदिग्ध का नाम महेंद्र उर्फ धौल्या मीना बताया जा रहा है. जानकारी के अनुसार पुलिस की शुरुआती पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूल लिया है. आरोपी ट्रक ड्राइवर बच्ची के गांव में रही रहता है. स्नीफर डॉग की मदद से पुलिस आरोपी तक पहुंची है. हालांकि पुलिस ने आधिकारिक तौर पर इस मामले में अभी तक कोई खुलासा नहीं किया है. 

शाम को 4 बजे बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस: 
इस जघन्य अपराध के बारे में एसपी आदर्श सिंधु शाम 4 बजे प्रेस कांफ्रेंस कर खुलासा करेंगे. प्रेस कांफ्रेंस पुलिस लाइन में आयोजित की जाएगी. बता दें कि दरिंदगी की इस वारदात में महज 6 साल की मासूम छात्रा से रेप करने के बाद उसके ही स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या कर दी गई. मासूम का शव रविवार को बबूल की घनी झाड़ियों में पड़ा मिला. घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों में जमकर आक्रोश फैल गया. पुलिस अधीक्षक समेत अन्य आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. उसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई.

वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून मिला:  
वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून मिला. मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने घटना से जुड़े साक्ष्य जुटाए. वारदात में गांव या आसपास के ही किसी व्यक्ति का हाथ होने की आशंका है. एसपी आदर्श सिद्धू का कहना है कि 'प्रथम दृष्टया, दुष्कर्म और हत्या का मामला है. घटना की जांच की जा रही है. कुछ साक्ष्य मिले हैं.  जल्द ही खुलासा करेंगे. 

VIDEO: टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म प्रकरण पर बोले सीएम गहलोत, कहा- इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

VIDEO: टोंक में बच्ची के साथ दुष्कर्म प्रकरण पर बोले सीएम गहलोत, कहा- इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

टोंक: राजस्थान के टोंक जिले में घर से लापता 6 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या के प्रकरण ने पूरे प्रदेश को झकझोर कर रख दिया. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी इस शर्मनाक घटना पर ट्वीट करते हुए कहा कि टोंक की घटना बेहद निंदनीय और शर्मनाक है. इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. 

स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या की गई: 
बता दें कि दरिंदगी की इस वारदात में महज 6 साल की मासूम छात्रा से रेप करने के बाद उसके ही स्कूल बेल्ट से गला घोटकर बच्‍ची की हत्या कर दी गई. मासूम का शव रविवार को बबूल की घनी झाड़ियों में पड़ा मिला. घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीणों में जमकर आक्रोश फैल गया. पुलिस अधीक्षक समेत अन्य आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. उसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई.

वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून मिला:  
वारदात के बाद बच्ची के कपड़ों पर काफी खून मिला. मौके पर पहुंची एफएसएल टीम ने घटना से जुड़े साक्ष्य जुटाए. वारदात में गांव या आसपास के ही किसी व्यक्ति का हाथ होने की आशंका है. एसपी आदर्श सिद्धू का कहना है कि 'प्रथम दृष्टया, दुष्कर्म और हत्या का मामला है. घटना की जांच की जा रही है. कुछ साक्ष्य मिले हैं.  जल्द ही खुलासा करेंगे. 

कल टोंक में रैली निकालेंगे रोडवेज कर्मचारी, डिप्टी सीएम को याद दिलाएंगे वादा

कल टोंक में रैली निकालेंगे रोडवेज कर्मचारी, डिप्टी सीएम को याद दिलाएंगे वादा

जयपुर: राजस्थान रोडवेज के कर्मचारी कल टोंक में प्रदेश स्तरीय विशाल रैली निकालेंगे. रोडवेज के श्रमिक संगठनों के संयुक्त मोर्चा की ओर से यह रैली निकाली जाएगी. सातवां वेतनमान दिए जाने, मासिक वेतन-पेंशन का समय पर भुगतान, करीब 9 हजार रिक्त पदों को भरने, 1500 नई बसों की खरीद करने, 3000 से ज्यादा रिटायर्ड कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति परिलाभों का भुगतान करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर रोडवेज कर्मी रैली निकालेंगे. 

1 घंटे बस संचालन भी बंद करेंगे रोडवेजकर्मी:
सीटू यूनियन के महासचिव किशन सिंह राठौड़ ने बताया कि पिछले साल जब 17 सितंबर से 6 अक्टूबर तक 20 दिन तक रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल चली थी, उस समय 4 अक्टूबर 2018 को डिप्टी सीएम सचिन पायलट हड़ताल में आए थे और ये कहा था कि उनकी सरकार बनी तो रोडवेज कर्मचारियों की सभी मांगों को पूरा करेंगे, लेकिन अब सरकार बनने के 10 माह बीतने पर भी रोडवेज कर्मचारियों की हालत सुधारने का कोई उपाय नहीं किया गया है. ऐसे में हम उन्हें उनके द्वारा किया गया वादा याद दिलाएंगे. कल रैली में प्रदेशभर से रोडवेज कर्मचारी व रिटायर्ड कर्मचारी शामिल होंगे. इसके बाद 23 अक्टूबर को 1 घंटे के लिए दोपहर में बस संचालन भी बंद रखा जाएगा. 

... संवाददाता काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

मालपुरा(टोंक): जिले के मालपुरा कस्बे में विजयादशमी के जुलूस के समय अराजक तत्वों द्वारा किए गए पथराव के बाद कस्बे में कर्फ्यू जारी है. पथराव मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि बुधवार को दिनभर हालात सामान्य रहे. अधिकारी लगातार कस्बे का दौरा कर रहे हैं तथा हालात पर नजर बनाए हुए हैं. 

शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था: 
बता दें कि यहां विजयादशमी पर मंगलवार को निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था. आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने रावण के पुतला दहन से इनकार कर दिया और विधायक के नेतृत्व में अजमेर रोड पर थाने के सामने धरने पर बैठ गए. पहले तो प्रशासन ने समझाइश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने तो रात करीब ढाई बजे सख्ती दिखाते हुए प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया. गुपचुप तरीके से बुधवार सुबह 4 बजे पुतले का दहन करा दिया. इसके बाद तनाव की स्थिति को भांपते हुए प्रशासन ने सुबह 5 बजे इंटरनेट बंद करा दिया और कर्फ्यू लगा दिया. कर्फ्यू के चलते बुधवार को समाचार पत्रों का वितरण भी नहीं हो पाया. 

कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली बसों को डायवर्ट किया: 
कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली अन्य आगारों की बसों को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने कस्बे में प्रवेश बंद कर दिया. बसों को दूसरे मार्गों से डायवर्ट कर दिया गया. शिक्षा विभाग की ओर से मालपुरा में 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक राउप्रावि बृजलाल नगर मालपुरा में होने वाले राज्य स्तरीय विद्यालयी खेलकूद एथलेटिक्स प्रतियोगिताएं भी स्थगित कर दी गई. 

Open Covid-19