Himachal Pradesh: पोंग वन्यजीव अभयारण्य में प्रवासी पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी, 381 पक्षी और मृत मिले

Himachal Pradesh: पोंग वन्यजीव अभयारण्य में प्रवासी पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी, 381 पक्षी और मृत मिले

Himachal Pradesh: पोंग वन्यजीव अभयारण्य में प्रवासी पक्षियों की मौत का सिलसिला जारी, 381 पक्षी और मृत मिले

शिमलाः हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के पोंग वन्यजीव अभयारण्य में पक्षियों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है, जहां बृहस्पतिवार को 381 प्रवासी पक्षी औऱ मृत अवस्था में मिले है. आपको बता दें कि इसके बाद मृत पक्षियों की संख्या बढ़कर 3,409 हो गई है. जो की काफी चिंताजनक विषय बनता जा रहा है.

इस बीच एक हैरतअंगेज खबर ये भी आई है कि पोंग नम भूमि क्षेत्र के आसपास पिछले कुछ दिनों में 64 कौवे भी मृत पाए गए हैं. इस मामले की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया है कि बिलासपुर जिले में कई कौवे मृत पाए गए है और उनके नमूने जांच के लिए एकत्र किए गए हैं. माना जा रहा है कि पक्षियों की मौत एच5एन1 एवियन इंफ्लूएंजा के प्रकोप के कारण हुई है, जो एक प्रकार का बर्ड फ्लू है.

मुख्य वन्यजीव संरक्षक अर्चना शर्मा ने कहा है कि देहरादून स्थित भारतीय वन्यजीव संस्थान के विशेषज्ञों की एक टीम स्थिति का आकलन करने और प्रकोप को रोकने के लिए पोंग का दौरा कर रही है. उन्होंने कहा है कि मृत पक्षियों के संग्रह और सुरक्षित निपटान के लिए अभयारण्य क्षेत्र के नौ हिस्सों में 10 त्वरित प्रतिक्रिया टीमें काम कर रही हैं. निगरानी अभियान के लिए 55 लोगों को तैनात किया गया है.

उन्होंने कहा है कि इसके अलावा, नगरोटा सुरियन में एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है. एक सरकारी प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर शुक्रवार को धर्मशाला में वन्यजीव, पशुपालन, स्वास्थ्य और पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करेंगें औऱ इस मुद्दे पर ठोस कदम उठाए जाएंगें. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें