Live News »

कोटा में महिला पर कोरोना का डबल अटैक, स्वस्थ होने के ढाई महीने बाद फिर आई कोरोना पॉजिटिव

कोटा में महिला पर कोरोना का डबल अटैक, स्वस्थ होने के ढाई महीने बाद फिर आई कोरोना पॉजिटिव

कोटा: राजस्थान में कोरोना वायरस के मरीजों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहे है. इस बीच कोरोना वायरस की हैरान करने वाली बात यह सामने आई है कि जो मरीज ढाई महीने पहले स्वस्थ हो गया था, फिर से उसे कोरोना ने जकड़ लिया है. जी हां अप्रेल महिने में जो महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी और मई महिने में स्वस्थ होकर घर चली गई थी.

ऑडियो टेप प्रकरण में आरोपी संजय जैन रिमांड पर, SOG ने कोर्ट में पेश कर 4 दिन के रिमांड पर लिया 

मामला देखकर चिकित्सक हैरान:
उसकी आज एक बार फिर से कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. कोरोना के इस डबल अटैक के कैस को देखकर खुद चिकित्सक भी हैरान है. कोटा में इस तरह का यह पहला कैस तो है ही लेकिन चिकित्सकों की माने तो देश और प्रदेश में भी यह पहला कैस हो सकता है.

फिर मिली महिला कोरोना पॉजिटिव:
कोटा के सुभाष नगर निवासी 43 वर्षीय महिला हैल्थ वर्कर है, जिसकी पहली कोरोना रिपोर्ट 22 अप्रेल को पॉजिटिव आई थी और 1 मई को स्वस्थ होकर घर चली गई थी. लेकिन ढाई महिने बाद शरीर में दर्द होने के कारण फिर से कोरोना जांच की गई तो आज वह फिर से कोरोना पॉजिटिव मिली है. 

आज 20 फ्लाइट के शेड्यूल में से 8 फ्लाइट रद्द, बड़ी संख्या में फ्लाइट रद्द हाेने से यात्री परेशान

और पढ़ें

Most Related Stories

स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी गिरफ्तार

स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी गिरफ्तार

कोटा: जिले में डरा धमका कर स्कूली छात्रा के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी को दादाबाड़ी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी दीपक ने 17 वर्षीय स्कूली छात्रा के अश्लील फोटो खींचे और वायरल करने की धमकी देकर सुनसान इलाके में ले गया और कई बार दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. आरोपी दीपक मालव खेड़ा रसूलपुर गांव का निवासी है.

{related}

आरोपी ने छात्रा को जान से मारने की धमकी दी: 
इसके साथ ही आरोपी ने छात्रा को जान से मारने की धमकी दी और अक्टूम्बर 2019 से कर्णेश्वर महादेव, अभेडा महल व गरडिया महादेव सहित कई सुनसान इलाकों में जाकर कई बार दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. दादाबाड़ी थाना पुलिस ने खेड़ा रसूलपुरा गांव में दबिश देकर आरोपी को उनके घर से गिरफ्तार किया है. 

चंबल नदी नाव दुखान्तिका: पुलिस ने ताबड़तोड़ छापे मारकर की 5 गिरफ्तारियां

कोटा: चंबल नदी नाव दुखान्तिका मामले में पुलिस ने ताबड़तोड़ छापे मारकर 5 गिरफ्तारियां की है. ग्रामीण जिला पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने बताया कि नाव डूबने के हादसे के बाद खातौली थाने में एफआईआर दर्ज की गई थी. इसके बाद आरोपियों की तलाश शुरू की तो उनके जंगल में छुपे होने की जानकारी मिली. 

इस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पारस जैन, इटावा वृत्ताधिकारी शुभकरण और थानाधिकारी नारायण सिंह ने टीम के साथ उनकी तलाश की. इसमें आरोपी महेन्द्र मीणा , शेरगढ़ निवासी हेमराज, रामकुवार केवट, अमरलाल और गोठड़ा कला निवासी विनोद कुमार को गिफ्तार किया है. 

{related}

यातायात निरीक्षक राघव शर्मा एपीओ: 
इससे पहले परिवहन विभाग की लापरवाही मानते हुए यातायात निरीक्षक राघव शर्मा को एपीओ किया गया था. वहीं थानाधिकारी रामावतार शर्मा को लाइन हाजिर किया गया है. इसके अलावा अवैध रूप से नाव संचालन की सूचना नहीं देने पर पटवारी बनवारीलाल बैरवा और ग्राम विकास अधिकारी जोधराज गुर्जर को भी एपीओ कर दिया गया है.

राज्य सरकार के 2 मंत्री आज मिलेंगे हादसे के पीड़ितों से:
वहीं राज्य सरकार के 2 मंत्री आज हादसे से पीड़ित व उनके परिजनों से मिलेंगे. जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया और नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लेंगे. दोपहर 2 बजे के करीब बरनाहाली व तलाव गांवों में मृतकों के परिजनों से मिलेंगे. इसके साथ ही पीड़ितों को प्रधानमंत्री सहायत कोष से भी मदद मिलने की उम्मीद जताई जा रही है. लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने मृतकों के परिजनों से फोन पर बात करते हुए कहा कि संसद सत्र समाप्त होने पर मैं आप लोगों से आकर मिलूंगा. 


 

VIDEO: चम्बल नदी हादसे में सभी 13 डूबे लोगों के शव बरामद, आज भी मिले दो किशोरियों के शव

कोटा: चंबल नदी में बुधवार सुबह हुए दर्दनाक नाव हादसे में सभी 13 डूबे लोगों के शव बरामद हो गए हैं. आज भी 2 किशोरी, ज्योति और गोलमा के शव मिले हैं. इन दोनों के शव गोठड़ा घाट से करीब 7 किमी दूर ठीकरदा में चम्बल के किनारे मिले हैं. अब तक 5 पुरुष, 4 महिलाओं और 3 बालिका, 1 बालक का शव मिल चुके हैं. DSP शुभकरण खींची के अनुसार अब कोई मिसिंग नाम नहीं है. इसलिए रेस्क्यू ऑपरेशन पूर्ण होने की उम्मीद है. हालांकि एहतियातन नदी में तलाश का एक और दौर चलाया जा रहा है. 

10 बाईक के साथ 20 की क्षमता वाली नाव में 32 लोग सवार थे: 
दरअसल बुधवार को चौहदस का मौका होने पर नाव सवार लोग इंदरगढ़ कस्बा स्थित कमलेश्वर मंदिर के दर्शन करने के लिए जा रहे थे. नाव में 10 बाईक के साथ 20 की क्षमता वाली नाव में 32 लोग सवार थे. ऐसे में वजन ज्यादा होने के कारण यह हादसा हुआ. इसमें 19 लोगों को बचा लिया गया है. यह हादसा कई परिवारों को जिंदगी भर के लिए न भरने वाला जख्म दे गया.

{related}

हादसे की सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचने लगे:
हादसे की सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचने लगे. जिन लोगों के परिजन कमलेश्वर धाम जाने के लिए निकले थे, वे भी मौके पर पहुंच गए. जिन ग्रामीणों को अपने परिजन मौके पर नहीं मिले तो चिंता बढ़ गई. नदी किनारे बैठे परिजन इस उम्मीद से रेस्क्यू ऑपरेशन देखते रहे कि काश उनके परिजन जिंदा वापस मिल जाएं. जैसे-जैसे समय बीतता गया, उम्मीद भी टूटती गई. नदी से जैसे-जैसे शव निकलते रहे, परिजनों की चीख-पुकार बढ़ती चली गई. 


 

कोटा: चंबल नदी में पलटी नाव, अब तक 8 लोगों के शव निकाले जा चुके बाहर, 14 लोगों के डूबने की पुष्टि

कोटा: जिले की सीमा के आखिरी क्षेत्र खातौली क्षेत्र के गोठड़ा गांव में आज सुबह एक नाव चम्बल नदी में डूबने से बड़ा हादसा हो गया. इस नाव में 30 से 35 लोग सवार थे. कलेक्टर उज्ज्वल राठौड़ के अनुसार 14 लोगों के डूबने की पुष्टि हुई है. इनमें से अब तक 8 लोगों के शव बाहर निकाले जा चुके हैं. बाकी लोग अभी लापता बताये जा रहे हैं. हादसे की जानकारी मिलने पर कोटा और सवाई माधोपुर से रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची है. अब तक स्थानीय स्तर पर नाविकों के सहारे शव निकाले गए हैं. 

हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया: 
जानकारी के अनुसार हादसा खातौली इलाके में बुधवार को सुबह-सुबह गोठड़ा कला गांव के पास हुआ. हादसे के शिकार हुये ग्रामीण नाव से कमलेश्वर धाम दर्शन के लिए जा रहे थे. इसी दौरान अचानक नाव पलट गई और सभी लोग नदी के पानी में बह गये. हादसे की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में प्रशासन पुलिस और राहत बचाव दल के साथ मौके पर पहंचा और पानी में डूबे लोगों की तलाश के लिये रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया.

{related} 

लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी:
लोगों ने बताया कि लकड़ी की नाव की हालत पहले से खराब थी. इसके बाद भी क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था. साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव पर बाइकें भी बांध दी गई थीं. इस वजह से नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई. 

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हादसे पर चिंता जताई: 
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने हादसे पर चिंता जताई है. लोकसभा सचिवालय ने जिला प्रशासन से संपर्क साधकर मामले की पूरी जानकारी ली है. कोटा से एसडीआरएफ टीम मौके पर पहुंच चुकी है. वहीं यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने भी जिला प्रशासन से फीडबैक लिया है. उन्होंने राहत और बचाव कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये हैं. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताया:
वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए हादसे पर दुख जताया. उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है. हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है. तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं. स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है. प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट किया:
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी ट्वीट करते हुए लिखा कि चंबल नदी में नाव पलटने की घटना हृदय विदारक है. हादसे में 7 लोगों की मौत व कई लोगों के लापता होने की सूचना है. राज्य सरकार से आग्रह है पीड़ितों को तत्काल आर्थिक एवं सामाजिक मदद पहुंचाए. ईश्वर दिवंगतों की आत्मा को शांति व परिजनों को धैर्य प्रदान करें. हादसे की जानकारी मिलने पर प्रदेशभर के कई नेताओं ने इस हृदय विदारक घटना पर संवेदना व्यक्त की है. 


 

कोटा: चम्बल नदी में डूबी नाव, 30 से 35 लोग थे सवार, 7 शव निकाले जा चुके बाहर

कोटा: जिले की सीमा के आखिरी क्षेत्र खातौली क्षेत्र के गोठड़ा गांव में आज सुबह एक नाव चम्बल नदी में डूब गई. इस नाव में 30 से 35 लोग सवार थे जिसमे से 15 से 20 लोगों के डूबने की संभावना है. इसके साथ ही इनमे से अब तक 7 लोगों के शव बाहर निकाले जा चुके हैं. सभी शवों की पहचान हो चुकी है. मृतकों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. वहीं 14 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की भी जानकारी सामने आ रही है. नाव में सवार लोग कमलेश्वर महादेव मंदिर में दर्शन करने जा रहे थे. नाव में महिलाएं और बच्चे भी सवार थे. 

बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे: 
हादसे की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए और अपने स्तर पर बचाव व राहत कार्य में जुटे हुए है. पुलिस और प्रशासन भी मौके पर पहुंच गया है. हादसे की सूचना मिलने पर कोटा से भी बचाव और राहत दल मौके के लिए रवाना हो गया है.  जिला कलक्टर और एसपी ने हादसे की जानकारी ली और आला अधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए हैं. 

{related} 

नाव को डूबता देखकर इसमें सवार लोग चम्बल नदी में कूद गए:
मिली जानकारी के अनुसार हादसा अचानक नाव असन्तुलित होने से उसमे पानी भरने लग गया. ऐसे में नाव को डूबता देखकर इसमें सवार लोग चम्बल नदी में कूद गए. इसके बाद नाव भी पानी में डूब गई है. लोग तैरना जानते थे, वह तैरकर नदी से बाहर आ गए हैं. अभी तक यह पता नहीं चला कि कितने लोग नदी में डूबे हुए हैं. लोगों की युद्ध स्तर पर की जा रही है. 
 

सहकारी बैंक के कैशियर पर हमला कर लूटपाट, रेलवे कॉलोनी की चंबल पुलिया पर हुई दिनदहाड़े वारदात 

सहकारी बैंक के कैशियर पर हमला कर लूटपाट, रेलवे कॉलोनी की चंबल पुलिया पर हुई दिनदहाड़े वारदात 

कोटा: कोटा में मंगलवार को बैंक के एक कैशियर से दिनदहाड़े लूट का मामला सामने आया है. रेलवे कॉलोनी थाना इलाके में चंबल नदी पर भदाना पुलिया पर यह वारदात हुई. दरअसल केशोरायपाटन में सहकारी बैंक में कैशियर के पद पर तैनात अब्दुल कलाम जब आज अपने घर से सुबह निकला, तो चंबल पुलिया पर अज्ञात बदमाशों ने उसको रोक कर मारपीट की और 15000 रुपए, मोबाइल, बैंक के दस्तावेजों के साथ चाबियां लूट ली और मौके से फरार हो गए. 

कैशियर के साथ जमकर मारपीट:
लुटेरों ने कैशियर के साथ जमकर मारपीट भी की. वारदात की सूचना पीड़ित ने अपने परिजनों को दी तो मौके पर परिजन पहुंचे. इसके बाद लहुलुहान हालत में कैशियर को अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया.

दो अज्ञात लुटेरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज:
पीड़ित की ओर से रेलवे कॉलोनी थाने में दो अज्ञात लुटेरों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाया गया है. पीड़ित ने बताया कि चंबल पुलिया पर इससे पहले भी कई बार लूट की वारदातें हो चुकी है.फिलहाल इस पूरी वारदात के बाद पीड़ित द्वारा बताए गए हुलिये के आधार पर पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

कोटा में मामा भांजे चला रहे थे नकली गुटखा फैक्ट्री, पुलिस के गिरफ्त में आये भांजे मुशीर ने खोले राज

कोटा में मामा भांजे चला रहे थे नकली गुटखा फैक्ट्री, पुलिस के गिरफ्त में आये भांजे मुशीर ने खोले राज

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले में नकली गुटखा बनाने की फैक्ट्री पकड़ में आने के बाद यह खुलासा हुआ है कि यह फैक्ट्री मामा और भांजे संचालित कर रहे थे. पिछले 5 साल से कोटा कितने थेगड़ा शिव सागर के एक बंद मकान में अवैध फैक्ट्री चल रही थी. जिसकी कानों कान किसी को खबर नहीं थी. 

40 लाख रुपए का माल हुआ जब्त:
एटीएस और एसओजी की टीम ने पुलिस के सहयोग से कार्यवाही को अंजाम दिया तो यहां से करीब 40 लाख रुपए का नकली गुटखा और सामग्री बरामद हुई है. पुलिस फैक्ट्री ने मौजूद भांजे और मुशीर को तो कल ही गिरफ्तार कर लिया था. 

{related}

बड़ी मात्रा में नकली गुटखे की खेप मिलने की उम्मीद:
वहीं पुलिस अब फरार मामा शारिक की तलाश कर रही है. दोनों मामा औ भांजे शिव सागर के इस मकान में नकली गुटखे का कारोबार कर रहे थे. पुलिस ने यहां मौजूद माल और मशीनों को जप्त कर मकान को सील कर दिया है. इसके अलावा पुलिस संभावना जता रही है कि नकली गुटखे की खेप अन्य जगह से भी बड़ी मात्रा में बरामद होने की उम्मीद है.

कोटा ATS और SOG की बड़ी कारवाई, पकड़ में आई नकली गुटखा फैक्ट्री, नामी ब्रांड के गुटखा हो रहे थे पैक

कोटा: प्रदेश के कोटा जिले में सोमवार को ATS और SOG ने बड़ी कारवाई की है. यहां पर ATS और SOG ने नकली गुटखा फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है. इस फैक्ट्री में नामी ब्रांड के गुटखा तैयार कर पैक हो रहे थे. उद्योग नगर थाने के थेकड़ा में ये फैक्ट्री चली रही थी. मशीन और बड़ी मात्रा में नक़ली गुटखा बरामद किया है.

{related}

विमल-मानचंदा-मिराज गुटखों के हजारों पाउच जब्त:
ATS के ASP हिम्मत सिंह द्वारा नकली गुटखा फैक्ट्री पर कार्रवाई हुई है. आपको बता दें कि कोटा के उद्योगनगर थाना इलाके के थेगड़ा में फैक्ट्री चल रही थी. विमल-मानचंदा-मिराज गुटखों के हजारों पाउच जब्त किए गए है. नकली गुटखा बनाने की सामग्री और मशीन भी बरामद की गई है. ATS के ASP हिम्मत सिंह के नेतृत्व में छापा मारा गया. जब्त किए नकली गुटखे की लागत करीब 25 लाख बताई जा रही है. 
 

Open Covid-19