CM योगी आदित्यनाथ ने कहा, स्वास्थ्य सेवाओं के ढांचे के विकास से ही पाया जा सका कोरोना महामारी पर काबू

CM योगी आदित्यनाथ ने कहा, स्वास्थ्य सेवाओं के ढांचे के विकास से ही पाया जा सका कोरोना महामारी पर काबू

CM योगी आदित्यनाथ ने कहा, स्वास्थ्य सेवाओं के ढांचे के विकास से ही पाया जा सका कोरोना महामारी पर काबू

बहराइच: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को दावा किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं के मूलभूत ढांचे का विकास किए जाने की वजह से ही उत्तर प्रदेश में कोविड-19 जैसी महामारी पर काबू पाया जा सका. योगी ने बहराइच तथा श्रावस्ती में आयोजित जनसभाओं को डिजिटल माध्यम से संबोधित करते हुए कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं का ढांचा अगर कमजोर होता तो उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी पर काबू पाना अत्यंत कठिन होता. उन्होंने कहा कि मगर पिछले सात साल में प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों के कारण उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने का अवसर मिला, जिसके परिणाम सबके सामने हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सात साल पहले प्रधानमंत्री मोदी का दिया नारा 'सबका साथ, सबका विकास' देश के लिए मंत्र बना था जिसके तहत विकास की योजनाओं में कोई भेदभाव नहीं बरता गया. तेज बारिश और आंधी-तूफान के कारण आज एक बार फिर मुख्यमंत्री को श्रावस्ती और बहराइच का दौरा अंतिम समय पर निरस्त करना पड़ा. योगी का हेलीकॉप्टर उन्हें लेकर श्रावस्ती तो पहुंचा लेकिन खराब मौसम के कारण उतर नहीं सका. बहराइच में भी बारिश और तूफान की वजह से योगी नहीं आ सके और लखनऊ लौट गये. बाद में उन्होंने लखनऊ से बहराइच और श्रावस्ती की जनसभाओं को डिजिटल माध्यम से संबोधित किया. इससे पूर्व, गत चार अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के कारण मुख्यमंत्री के यहां के प्रस्तावित कार्यक्रम स्थगित कर दिए गए थे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने देवीपाटन मंडल के चारों जनपदों में मेडिकल कॉलेज दिए हैं. जिनमें बहराइच, बलरामपुर व गोंडा में सरकारी तथा श्रावस्ती में पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज बनवाया जाएगा. योगी ने कहा कि बहराइच में महाराजा सुहेलदेव के नाम पर दो साल पूर्व आरंभ हुए मेडिकल कॉलेज ने कोरोना काल में नागरिकों को काफी राहत दी. उन्होंने कहा कि बलरामपुर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर मेडिकल कॉलेज बन रहा है, वहीं गोंडा और श्रावस्ती में भी शीघ्र ही मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने डिजिटल तरीके से श्रावस्ती में 390 करोड़ रुपये और बहराइच में 211 करोड़ रुपये लागत वाली योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें