कोरोना पॉजिटिव महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह की हालत स्थिर और बेहतर : PGIMER

कोरोना पॉजिटिव महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह की हालत स्थिर और बेहतर : PGIMER

 कोरोना पॉजिटिव महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह की हालत स्थिर और बेहतर :  PGIMER

चंडीगढ़: कोविड-19 संक्रमण से जूझ रहे महान भारतीय फर्राटा धावक मिल्खा सिंह की हालत स्थिर है और कल से बेहतर है जिनका इलाज यहां के पीजीआईएमईआर (स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान) अस्पताल में चल रहा है. अस्पताल ने शनिवार को यह जानकारी दी. मिल्खा अब भी ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं जिनके स्वास्थ्य की निगरानी तीन डॉक्टरों की टीम रख रही है.

एनएचई ब्लॉक के आईसीयू में भर्ती:

पीजीआईएमईआर के आधिकारिक प्रवक्ता प्रो. अशोक कुमार ने बयान में कहा, कोविड-19 के कारण बीमार फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह को तीन जून से पीजीआईएमईआर के एनएचई ब्लॉक के आईसीयू में भर्ती किया गया.उन्होंने कहा कि उनके चिकित्सीय मानकों के आधार पर उनकी हालत कल की तुलना में आज पांच जून को बेहतर है.अस्पताल ने कहा कि वह शुक्रवार की तुलना में बेहतर और स्थिर हैं.मिल्खा के परिवार ने भी एक प्रवक्ता के जरिये बयान जारी कर कहा कि यह महान खिलाड़ी स्थिर है और उनकी हालत अच्छी है, लेकिन अब भी ऑक्सीजन पर हैं.

रीजीजू ने जल्द ठीक होने की कामना की:

प्रवक्ता ने शनिवार सुबह से सोशल मीडिया पर जारी कुछ झूठी मीडिया पोस्ट का जिक्र करते हुए कहा कि इन अफवाहों को अनदेखा कीजिये. यह गलत खबर है. मिल्खा सिंह को ऑक्सीजन के गिरते स्तर के बाद गुरूवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने भी अफवाहों को खारिज करते हुए उनके जल्द ठीक होने की कामना की. रीजीजू ने ट्वीट किया, कृपया इस महान एथलीट और भारत की शान मिल्खा सिंह के बारे में गलत खबरें मत चलाइये और अफवाहें मत फैलाइये. उनकी हालत स्थिर है और उनकी जल्द ठीक होने की प्रार्थना करते हैं.

PM मोदी ने मिल्खा के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिये किया था फोन:

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिये फोन किया था. मोदी ने मिल्खा से बात की और उम्मीद जतायी कि वह जल्द ही स्वस्थ्य होकर तोक्यो ओलंपिक में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को आर्शीवाद देंगे और उन्हें प्ररित करेंगे. मिल्खा को पिछले रविवार मोहाली में एक निजी अस्पताल में संक्रमण के इलाज के बाद छुट्टी दे दी गयी थी. लेकिन घर पर भी उनके ऑक्सीजन लगी रही. मिल्खा की 82 वर्षीय पत्नी निर्मल फोर्टिस अस्पताल के आईसीयू में है जिन्हें पति के संक्रमित होने के कुछ दिन बाद कोविड-19 की पुष्टि हुई. मिल्खा के बेटे और मशहूर गोल्फर जीव 22 मई को दुबई से चंडीगढ़ के आ गये थे जबकि अमेरिका में डॉक्टर उनकी बड़ी बहन मोना मिल्खा सिंह भी कुछ दिन पहले यहां पहुंच चुकी हैं. मिल्खा सिंह के नौकर भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और आशंका है कि यह दंपत्ति उनके संपर्क में आने से कोविड-19 पॉजिटिव हो गया. एशियाई खेलों के चार बार के स्वर्ण पदक और राष्ट्रमंडल खेलों के चैम्पियन मिल्खा सिंह 1960 रोम ओलंपिक में 400 मीटर के फाइनल में मामूली अंतर से कांस्य पदक से चूक गए थे. (भाषा) 

और पढ़ें