अजमेर में कोरोना संदिग्ध ने लगाई अस्पताल में फांसी, उत्तर प्रदेश का रहने वाला था संदिग्ध मरीज

अजमेर में कोरोना संदिग्ध ने लगाई अस्पताल में फांसी, उत्तर प्रदेश का रहने वाला था संदिग्ध मरीज

अजमेर में कोरोना संदिग्ध ने लगाई अस्पताल में फांसी, उत्तर प्रदेश का रहने वाला था संदिग्ध मरीज

अजमेर: राजस्थान के अजमेर जिले के जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय में सोमवार को एक कोरोना संदिग्ध मरीज ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मरीज टॉयलेट में रस्सी से फांसी का फंदा बना कर उस पर झूल गया. वह उत्तरप्रदेश का रहने वाला था. वे पिछले दो दिन से अस्पताल में भर्ती था. इस घटना से अस्पताल में भर्ती मरीज परेशान हैं.जानकारी के मुताबिक जेएलएन में बनाए गए कोविड-19 सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती बरेली निवासी एक युवक ने वार्ड के शौचालय में फांसी लगाकर जान दे दी. 

केंद्रीय गृह सचिव ने सभी राज्यों को दिए निर्देश, मेडिकल स्टाफ के साथ निजी क्लीनिकों को खोलने की दें अनुमति 

अस्पताल के टॉयलेट में लगाई फांसी:
वह सुबह टॉयलेट गया था. काफी देर तक बाहर नहीं आया तो वहां भर्ती मरीजों ने नर्सिंग स्टाफ को इस बारे में बताया. स्टाफ ने भी आवाज दी, लेकिन भीतर से कोई जवाब नहीं मिला. इस पर स्टाफ ने मशक्कत के बाद गेट को तोड़ा तो भीतर का नजारा देखकर सब सन्न रह गए.टॉयलेट में मरीज फांसी पर लटका था. अस्पताल प्रशासन ने इसकी सूचना पुलिस को दी. 

दो दिन पहले कराया था भर्ती :
तबीयत बिगड़ने पर मरीज को दो दिन पहले ही भर्ती कराया गया था. उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया था. कोरोना की रिपोर्ट अभी आई नहीं है, लेकिन वह तनाव में था. सुबह ही उसने आत्महत्या कर ली. मरीज ने रस्सी से फांसी का फंदा लगाया. सवाल यह उठ रहा है कि अस्पताल में रस्सी कहां से आई. अस्पताल प्रशासन अब जांच करवाने का मानस बना रहा है. अस्पताल के लिए यह चिंता की बात है क्योंकि इस बीमारी से कई लोग डिप्रैशन में भी चले जाते हैं.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 3940 कोरोना संक्रमित, अब तक 110 लोगों की मौत, 126 नए पॉजिटिव आये सामने

और पढ़ें