Live News »

सिरोही ग्रीन जोन से हुआ ऑरेंज जोन, चलिए जानते है कैसे पहुंचा जिले तक कोरोना संक्रमण

 सिरोही ग्रीन जोन से हुआ ऑरेंज जोन, चलिए जानते है कैसे पहुंचा जिले तक कोरोना संक्रमण

सिरोही: आखिर सिरोही जिला भी कोरोना संक्रमण की भेंट चढ़ गया. गुरुवार सुबह चिकित्सा महकमें को मिली रिपोर्ट में एक युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट मिली है. रिपोर्ट मिलते ही पूरा जिला प्रशासन हरकत में आ गया.चिकित्सा महकमें से कोरोना पॉजिटिव की जानकारी लेकर मरीज के पैतृक गांव को सील करवाया गया. उसके पूरे परिवार को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में लाया गया. आपको बता दें 2 मई को यह युवक एक निजी बस में गुजरात के अहमदाबाद से सिरोही पहुंचा था. इस बस में सिरोही जिले के जामोतरा, बावली, नवारा सहित कई गांवों के प्रवासी भी मौजूद थे.जिन्हें चिकित्सा विभाग ने जांचकर होम आईसोलेशन में रहने के निर्देश दिए थे,  वही इस व्यक्ति की जांच में कोरोना के सेप्टम दिखाई देने से इसे जिला अस्पताल में बने आईसोलेशन वार्ड में ही रखा गया था.

COVID-19: देश में 24 घंटो में 3500 नए केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 52 हजार 952, अब तक 1783 लोगों की मौत 

अहमदाबाद से आया था सिरोही:
अब इसे सीएमएचओ डॉ राजेशकुमार की दूरदर्शिता कहा जा सकता हैं कि इस व्यक्ति को उसी दिन से आईसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया जिस दिन ये अहमदाबाद से सिरोही पहुंचा था. यदि इसे घर जाने के लिए छोड़ दिया जाता तो आज 5 दिनों में ये व्यक्ति कई अन्य लोगों के सम्पर्क में आकर दूसरे लोगो को भी संक्रमित कर सकता था.आज सुबह जैसे ही इस व्यक्ति की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई. प्रशासन ने इसकी ट्रेवल हिस्ट्री निकालनी शुरू कर दी हैं. ये व्यक्ति जिन जिन लोगो के सम्पर्क में आया उनको भी आइसोलेट करके कोरोना जांच हेतु सैम्पल लिए जाएंगे. जिला मजिस्ट्रेट भगवतीप्रसाद ने कोरोना पॉजिटिव मरीज के गांव नया खेड़ा में कर्फ्यू लगा दिया हैं.वही पूरे गांव को सील कर दिया हैं.अब इस गांव में किसी भी व्यक्ति को अंदर बाहर आने जाने की परमिशन नही मिलेगी.यहां तक कि मीडियाकर्मियों को भी इस गांव में प्रवेश की इजाजत नही रहेगी.

सोशल डिस्टेंसिंग और लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन:
जब से कोरोना महामारी आई हैं तब से ही सिरोही जिला इस महामारी से कोसो दूर था. लेकिन पिछले दिनों राजनेताओ में अपनी राजनीति चमकाने की होड़ ने आज सिरोही जिले को भी कोरोना से संक्रमित कर दिया.जिले के राजनेताओं में प्रवासियों को जिले में लाने की एक प्रकारसे होड़ सी मच गई.प्रवासियों को जिले में लाने के लिए राजनेताओ द्वारा जिला प्रशासन पर अनुचित दबाव बनाए गए.जिला कलक्टर ने पिछले दिनों एक आदेश जारी कर दूसरे राज्यो के कोरोना हॉटस्पॉट वाले जिलों में निवास करने वालो के सिरोही जिले में प्रवेश पर रोक के आदेश किए तो जिले के राजनेताओ की भृकुटि तन गई और इन नेताओं ने बॉर्डर पर जाकर बॉर्डर के उस पार खड़े प्रवासियों के सामने जिला प्रशासन को खरी खोटी सुनाई जिला प्रशासन को भी राजनैतिक दवाब के चलते अपने आदेश हाथोंहाथ वापस लेने पड़े और आज इसका परिणाम भी सामने आ गया.सिरोही जिला जो अब तक ग्रीन जोन में था, आज वो जिला भी कोरोना के संक्रमण से ऑरेंज जोन में आ गया. राजनेताओ ने तो राजनीति चमकाने के चक्कर मे जिले को कोरोना का तोहफा दे दिया पर अब जिलेवासियों को अपनी सूझबूझ दिखाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग और लॉक डाउन का पूरी तरह से पालन कर कोरोना से खुद को बचाना होगा.

अब राजस्थान की सीमाएं पूरी तरह से सील, एंट्री के लिए केवल गृह विभाग देगा स्वीकृति

और पढ़ें

Most Related Stories

माउंट आबू का फिर कड़ाके की सर्दी का दौर, न्यूनतम तापमान पहुंचा जमाव बिंदु के नजदीक

माउंट आबू का फिर कड़ाके की सर्दी का दौर, न्यूनतम तापमान पहुंचा जमाव बिंदु के नजदीक

माउंट आबू (सिरोही): राजस्थान के सबसे ऊंचे शहर माउंट आबू में लगातार मौसम का मिजाज बदलता हुआ नजर आ रहा है. जहां पिछले 3 दिनों से तापमान में उछाल देखा जा रहा था तो आज शहर का तापमान एकाएक गिरता हुआ नजर आया और तापमापी का पारा न्यूनतम जमाव बिंदु के करीब पहुंच गया है. जिसकी वजह से माउंट आबू की वादियों में सर्दी का असर तेज देखा जा रहा है.

{related}

माउंट आबू की वादियों में लगातार सर्दी का कहर जारी: 
सुबह के समय कारों की छतों पर बर्फ की परत देखने को मिल रही है. इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि माउंट आबू की वादियों में लगातार सर्दी का कहर जारी है.  जिसकी वजह से सामान्य जनजीवन प्रभावित होता हुआ नजर आ रहा है और इस कड़ाके की सर्दी से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं. वहीं युवा वर्ग सुबह के समय है माउंट आबू की वादियों में मॉर्निंग वॉक का आनंद ले रहे हैं. 

माउंट आबू में तीसरे दिन भी पारा जमाव बिंदु के नजदीक, वाहनों की छतों पर जमी बर्फ की परत

माउंट आबू में तीसरे दिन भी पारा जमाव बिंदु के नजदीक, वाहनों की छतों पर जमी बर्फ की परत

माउंट आबू(सिरोही): प्रदेश के पर्वतीय पर्यटन नगरी माउंट आबू में लगातार तीसरे दिन भी आज तापमापी का पारा जमाव बिंदु के नजदीक रहा और सुबह के समय कारों के छत एवं मैदानी इलाकों में बर्फ की परत देखने को मिल रही हैं. लगातार पड़ रही कड़ाके की सर्दी के चलते सामान्य जनजीवन जरूर प्रभावित होता हुआ नजर आ रहा है. ऐसे में शाम के समय लोग गर्म कपड़ों की खरीदारी करते हुए भी नजर आए और जैसे ही सूर्य ढोला वैसे ही माउंट आबू की वादियों में सर्दी का कहर देखने को मिल रहा है और इस सर्दी से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा लेते हुए नजर आ रहे हैं.

इसके साथ ही शाम होते ही लोग घरों के भीतर चले जाते हैं और सर्दी से बचने का जतन करते हुए देखे जा सकते हैं. वही माउंट आबू जो कि पर्यटन के लिहाज से महत्वपूर्ण स्थान है और सर्दी के इस सीजन में यहां के सर्दी लोगों को आकर्षित करती है लेकिन पड़ोसी राज्य गुजरात में कोरोना महामारी के चलते अहमदाबाद जैसे शहर में लोक डाउन है जिसके चलते यहां के पर्यटन पर भी असर दिखता हुआ नजर आ रहा है.

{related}

वहीं सुबह का नजारा यहां पर खूबसूरत नजर आ रहा है और लोग सुबह के समय नक्की झील के किनारे घूमने का आनंद भी ले रहे हैं तो वहीं सर्दी से बचने के लिए अलाव का सहारा लिया जा रहा है. 

माउंट आबू का मौसम हुआ बेहद सर्द,कारों पर जमीं बर्फ की परत, पारा जमाव बिंदु पर 

माउंट आबू का मौसम हुआ बेहद सर्द,कारों पर जमीं बर्फ की परत, पारा जमाव बिंदु पर 

माउंट आबू (सिरोही): राजस्थान के एक मात्र पर्यटन स्टेशन माउंट आबू में कड़ाके की सर्दी का असर देखने को मिल रहा है. दीपावली फेस्टिवल सीजन के साथ ही आज माउंट आबू का तापमान जमाव बिंदु पर है. घरों के बाहर पड़ी कारों पर हल्की बर्फ देखने को मिली. इस सर्दी कि बीती रात बेहद सर्द रही. इस सीजन की पहली कड़ाके की सर्दी को लेकर पर्यटकों ने जमकर आनंद लिया. माउंट आबू के मैदानी इलाकों में भी बर्फ की हल्की परत देखी गई.

सर्दी से बचने के लिए लोगों ने लिया अलाव का सहारा:
सर्दी से बचने के लिए लोगों ने अलाव का सहारा लिया तो वहीं स्थानीय लोग और पर्यटक गर्म कपड़ों में लिपटे नजर आए. देश के  उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी का असर राजस्थान में देखने को मिल रहा है. प्रदेश के एक मात्र हिल स्टेशन माउंट आबू में पारा जमाव बिंदु के करीब पहुंच गया. मौसम विभाग के मुताबिक बीती रात का न्यूनतम तापमान गिरावट नजर आई और तापमान जमाव बिंदु पर रहा वही अधिकतम तापमान 20 डिग्री दर्ज किया गया. पारा गिरने से अलसुबह घरों और होटलों के बाहर खड़ी कारो पर बर्फ जमीं पाई गई.

{related}

मैदानी इलाकों में भी ओस की बुँदे जमीं:
वहीं मैदानी इलाकों में भी ओस को बुँदे जमीं हुई मिली. इस मौसम की यह सबसे सर्द रात थी. लोग सर्दी से बचने के जतन में अलाव का सहारा ले रहे है. गर्म कपड़ों से लदे स्थानीय लोग और पर्यटक चाय की चुस्कियों के सहारे सर्दी भगाने का जतन करते नजर आए पिछले कई सालों से माउंट आबू में जमाव बिंदु और बर्फ जमने का समय दिसम्बर माह में होता है पर इस वर्ष नवम्बर माह में ही सर्दी ने अपने तीखे तेवर दिखाना शुरू कर दिया है. आगामी दिनों में सर्दी के और ज्यादा तीखे तेवर देखने को मिल सकते है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए कमलेश प्रजापत की रिपोर्ट 

माउंट आबू में सामान्य जनजीवन प्रभावित, न्यूनतम तापमान पहुंचा 3 डिग्री के करीब

माउंट आबू में सामान्य जनजीवन प्रभावित, न्यूनतम तापमान पहुंचा 3 डिग्री के करीब

माउंट आबू(सिरोही): पूरे प्रदेश में मौसम ने करवट ली है और तापमापी का पारा लुढ़क का हुआ नजर आ रहा है. गिरते तापमान की वजह से प्रदेश के कई शहरों में सर्दी का असर तेज देखने को मिल रहा है जहां पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी के बाद प्रदेश के तापमान में गिरावट नजर आई है जिसके चलते सामान्य जनजीवन प्रभावित होता हुआ नजर आ रहा है. 

आज यहां पारा लुढ़क ता हुआ नजर आया:
वहीं बात करें प्रदेश के सबसे ऊंचे शहर माउंट आबू की तो माउंट आबू में भी न्यूनतम तापमान तकरीबन 3 डिग्री तक पहुंच गया है. लगातार कई दिनों से तापमापी का पारा जहां 5 डिग्री पर अटका हुआ था तो वहीं आज यहां पारा लुढ़क ता हुआ नजर आया.

{related}

माउंट आबू की फिजाओं में सर्दी का एहसास हो रहा:
पारा लुढ़कने की वजह से माउंट आबू की फिजाओं में सर्दी का एहसास हो रहा है और इस सर्दी से बचने के लिए सुबह के समय लोग सड़क के किनारे पर दुकानों के बाहर जल रहे अलाव का सहारा ले रहे हैं और सर्दी से बचने का जतन करते हुए नजर आ रहे हैं. 

सिरोही के छापरी पुलिस चौकी पर अवैध वसूली का मामला, चौकी पर तैनात पूरे स्टाफ को किया लाइन हाजिर

सिरोही: प्रदेश के सिरोही जिले से बड़ी खबर मिल रही हैं. यहां पर  छापरी पुलिस चौकी पर अवैध वसूली का मामला सामने आने के बाद एसपी  पूजा अवाना ने मामले में गंभीरता दिखाई हैं. एसपी पूजा अवाना ने चौकी पर तैनात पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया हैं. 

{related}

साथ ही इस मामले में माउंट आबू डिप्टी को जांच सौंपी हैं.छापरी चौकी गुजरात-राजस्थान बॉर्डर पर स्थित है. जहां पर आने जाने वाले प्रत्येक वाहन से अवैध वसूली की जा रही थी. इस मामले में एसपी पूजा अवाना ने गंभीरता दिखाते हुए पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया गया हैं.

आबूरोड: एक ट्रक चालक ने दूसरे ट्रक चालक के पैर पर चढ़ाया ट्रक, साइड व ओवर टेक को लेकर हुआ था विवाद

आबूरोड: एक ट्रक चालक ने दूसरे ट्रक चालक के पैर पर चढ़ाया ट्रक, साइड व ओवर टेक को लेकर हुआ था विवाद

आबूरोड(सिरोही): फोरलेन हाईवे 27 पर मावल के समीप दो ट्रक चालकों में साइड को लेकर विवाद हो गया. दोनों ट्रक चालक मावल से सटी अमीरगढ़ सरहद के पास पहुंचे. जहां दोनों चालकों में फिर विवाद हो गया. इस पर एक ट्रक चालक ने दूसरे ट्रक चालक पर ट्रक चढ़ा दिया. नतीजतन, ट्रक चालक के दोनों पैर बुरी तरह से जख्मी हो गए. वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी ट्रक चालक वाहन को वहीं छोडक़र फरार हो गया. घटना की जानकारी मिलने पर अमीरगढ़ पुलिस मौके पर पहुंची. घायल को पालनपुर चिकित्सालय ले जाया गया. जहां उसकी हालत चिंताजनक होने पर उसे उपचार के लिए अहमदाबाद रेफर कर दिया गया.

ओवरटेक के चलते दोनों वाहनों के चालकों के बीच विवाद हो गया: 
राजस्थान से गुजरात की जा रहे लोहे के एंगल से भरे ट्रक आरजे 01 जीबी 5619 व दूसरा ट्रक जीजे 02 एक्स एक्स 5412  आबूरोड पहुंचा. मावल के समीप नवदीप होटल के पास ओवरटेक के चलते दोनों वाहनों के चालकों के बीच विवाद हो गया. दोनों वाहन मावल सरहद से सटी अमीरगढ़ बॉर्डर पर पहुंचे. अमीरगढ़ बॉर्डर के पास दोनों ट्रक चालकों में फिर विवाद हो गया. दोनों आपस में बुरी तरह से उलझ गए. इसी दौरान ट्रक चालक ने लोहे के एंगल से भरे ट्रक चालक पर ट्रक चढ़ा दिया. जिससे राजस्थान के राजसमंद जिले के भीम तहसील के मंडावत निवासी गोविंद सिंह (46) पुत्र माखन सिंह राजपूत के दोनों पैर बुरी तरह से जख्मी हो गए. चीख-पुकार सुनकर अमीरगढ़ पुलिस के जवान मौके पर पहुंचे. लेकिन, तब तक वारदात को अंजाम देकर आरोपी ट्रक चालक वाहन छोडक़र फरार हो गया. 

{related}

फरार आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज:
बुरी तरह से जख्मी गोविंद सिंह को उपचार के लिए पालनपुर चिकित्सालय भेजा गया. लेकिन, उसकी हालत चिंताजनक होने पर उसे उपचार के लिए अहमदाबाद रेफर कर दिया गया. अमीरगढ़ पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले फरार आरोपी ट्रक चालक के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

सिरोही: परिवहन विभाग में ACB की बड़ी कार्रवाई, मंडार चेकपोस्ट पर छापेमारी में मिले 1 लाख 85 हजार नकद

सिरोही: जिले के मंडार चेकपोस्ट पर ACB की बड़ी कार्रवाई हुई है. ACB ने चेकपोस्ट पर अलसुबह सर्च अभियान चलाकर औचक निरीक्षण किया. इस दौरान चैकपोस्ट पर कार्यरत अधिकारियों से ACB की टीम को 1 लाख 85 हजार नकद रुपए मिले हैं. अब इस राशि का चालान बुक से मिलान किया जा रहा है. ACB को अंदेशा है कि ट्रक चालकों से चेकपोस्ट पर अवैध वसूली हो रही थी. 

परिवहन विभाग में ACB की कार्रवाई से हड़कंप: 
दिवाली से पहले परिवहन विभाग में ACB की कार्रवाई से हड़कंप मच गया है. जल्द ही कुछ और बॉर्डर चेकपोस्ट पर ACB की रेड हो सकती है. बता दें कि DIG विष्णुकांत के निर्देश पर इस कार्रवाई को ACB ASP नारायण सिंह राजपुरोहित ने अंजाम दिया है. 

{related}

मंगलवार को भी हुई थी एसीबी की बड़ी कार्रवाई: 
इससे पहले मंगलवार को भी कोटा एसीबी की टीम ने कार्रवाई करते हुए भारत सरकार के यूआईडीएआई (UIDAI) भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के नई दिल्ली स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में कार्यरत सहायक महानिदेशक पंकज गोयल को 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते नई दिल्ली क्षेत्रीय कार्यालय से रंगे हाथों गिरफ्तार किया. बताया जा रहा है राजस्थान के एसीबी के इतिहास की ये पहली बड़ी कार्रवाई है, जिसमे एसीबी ने दिल्ली जाकर किसी बड़े अफसर को रंगे हाथो ट्रेप किया है. ये कार्रवाई एसीबी के डीजी बीएल सोनी और एडीजी दिनेश एम् एन के निर्देश पर कोटा एसीबी के एडिशनल एसपी ठाकुर चंद्रशील कुमार ने दिल्ली जाकर इस पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया है. 

राजस्थान से गुजरात जा रही 40 लाख की अंग्रेजी शराब बरामद, मावल चौकी पर रीको पुलिस की कार्रवाई 

राजस्थान से गुजरात जा रही 40 लाख की अंग्रेजी शराब बरामद, मावल चौकी पर रीको पुलिस की कार्रवाई 

आबूरोड: राजस्थान से गुजरात ले जाई जा रही अंग्रेजी शराब की खेप मावल चौकी पर रीको पुलिस द्वारा बरामद की गई. गेंहू के कटटों के पीछे छिपाकर ले जाई जा रही हरियाणा निर्मित अंग्रेजी शराब के चार सौ कार्टन बरामद किए गए. साथ ही बाड़मेर निवासी ट्रक चालक को गिरफ्तार किया. बरामद की गई शराब का मूल्य करीब 40 लाख रुपए व ट्रक का मूल्य करीब पांच लाख रुपए आंका गया है. एसपी पूजा अवाना की ओर से गुजरात में की जा रही अवैध शराब तस्करी की रोकथाम और वांछित अपराधियों की धरपकड़ के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है.

ट्रक में गेंहू के कटटों के पीछे छिपाकर ले जाई जा रही थी शराब:
इसी के तहत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मिलन कुमार जोहिया और डीएसपी प्रवीण कुमार के सुपरविजन में थानाधिकारी राणसिंह सोढा के नेतृत्व में टीम गठित की गई. हैड कांस्टेबल देवाराम, कांस्टेबल जगाराम व महेंद्रसिंह द्वारा आबूरोड- पालनपुर हाईवे पर मावल पुलिस चौकी के सामने नाकाबंदी की गई. वाहनों की जाच की जा रही थी. इसी दौरान मुखबिर सूचना पर आबूरोड से गुजरात जा रहे ट्रक आरजे 39 जीए 2642 को रूकवाया गया. ट्रक को चैक किया गया. जांच के दौरान ट्रक में गेंहू के कटटों के नीचे छिपाकर ले जा रही हरियाणा निर्मित अलग-अलग ब्रांड की शराब पाई गई. 

{related}

ट्रक चालक को किया गिरफ्तार:
पुलिस ने ऐपिसोड गोल्ड विस्की व मैक्डौव्लस विस्की अंग्रेजी शराब के चार सौ कार्टन बरामद किए गए. ट्रक को जब्त किया गया. ट्रक चालक बाड़मेर के चौहटन थाना के सावलोर निवासी विजय कुमार पुत्र बाबूलाल नाई को गिरफ्तार किया गया. आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर जांच शुरु की गई. जब्त शुदा वाहन व शराब की अनुमानित कीमत 45 लाख रुपए आंकी गई है.