Live News »

Corona virus: पीएम मोदी ने सार्क देशों से कहा-1400 से ज्यादा भारतीयों को विदेश से लाया गया

Corona virus: पीएम मोदी ने सार्क देशों से कहा-1400 से ज्यादा भारतीयों को विदेश से लाया गया

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सार्क देशों के नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कहा कि हमने विभिन्न देशों से लगभग 1400 से ज्यादा भारतीयों को निकाला. हमने अपनी पड़ोस पहले नीति के अनुसार आपके कुछ नागरिकों की मदद की. पीएम मोदी ने कहा कि भारत का मंत्र रहा है 'तैयार रहें, लेकिन घबराएं नहीं'. इस मंत्र से कोरोना वायरस से मुकाबला किया जा सकता है. पीएम मोदी ने कहा कि हमारे क्षेत्र ने 150 से अधिक कोरोनो वायरस मामलों की पुष्टि हुई, लेकिन हमें सतर्क रहने की जरूरत है.

बता दें भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, मालदीव, नेपाल और श्रीलंका सार्क के सदस्य हैं. कोरोना वायरस को लेकर पीएम मोदी ने सार्क देशों से कहा कि कोरोना से सार्क देशों को चौंकन्ना रहने की जरूरत हैं. कोरोना से मिलकर लड़ने की हम सबको जरूरत है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत में कोरोना को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है.पीएम मोदी ने कहा कि विकासशील देशों के सामने चुनौतियां ज्यादा हैं. कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन सावधानी बरतनी जरूरी है. उन्होंने कहा कि कोरोना से मिलकर लड़ना होगा. 

महामारी घोषित हुआ:
दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. कोरोना वायरस का असर लगातार बढ़ता जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना को महामारी घोषित कर दिया है. अब तक भारत में 107 मामलों की पुष्टि हुई है और 2 लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना से सबसे अधिक महाराष्ट्र प्रभावित है. जहां 31 लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है. वहीं दूसरे स्थान पर केरल है जहां 22 लोग इस बीमारी से ग्रसित हैं. 

RSS के नए क्षेत्र प्रचारक बने निंबाराम, आम्बेकर को अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख की जिम्मेदारी

कोरोना वायरस का बढ़ता प्रकोप:
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कई राज्यों ने स्कूलों, कॉलेजों, सार्वजनिक संस्थानों और सिनेमा हॉल को बंद करने के आदेश दिए हैं. जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने किश्तवाड़ और रामबन जिलों में निषेधाज्ञा जारी की है और सार्वजनिक स्थलों पर पांच से अधिक लोगों के इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगाया है.

5 हजार से अधिक हुई मौत:
गौरतलब है कि दुनिया के देशों की बात करें तो डेढ़ लाख से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और 5500 से अधिक लोगों की मौत हुई है. सबसे अधिक चीन प्रभावित है, जहां 3500 से अधिक लोगों की जान चली गई. कोरोना वायरस को डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक महामारी घोषित किया है.

कोरोना वायरस से जुड़ी राहत की खबर, राजस्थान के पॉजिटिव 3 मरीजों की रिपोर्ट आई नेगेटिव

और पढ़ें

Most Related Stories

Coronavirus Vaccine बनाने में अब एक और कंपनी ने जगाई दुनिया की उम्मीदें, अक्टूबर के अंत तक हो सकती है तैयार

Coronavirus Vaccine बनाने में अब एक और कंपनी ने जगाई दुनिया की उम्मीदें, अक्टूबर के अंत तक हो सकती है तैयार

नई दिल्ली: कोरोना वैक्सीन तैयार करने को लेकर कई देशों में शोध चल रहा है. इसी बीच अब एक और कंपनी ने वैक्सीन बनाने में उम्मीदें जगा दी है. वियाग्रा जैसी दवाओं का आविष्कार करने वाली अमेरिकन फार्मास्यूटिकल कंपनी Pfizer ने दावा किया है कि इस साल अक्टूबर के अंत तक इसकी वैक्सीन बनकर तैयार हो जाएगी. 

जयपुर एयरपोर्ट से आज 20 में से 12 फ्लाइट रद्द, 6 दिन बाद एयरलाइन्स पहुंची पहले दिन के संचालन पर 

अक्टूबर के अंत तक वैक्सीन तैयार हो जाएगी: 
कंपनी के सीईओ के मुताबिक, अगर सबकुछ ठीक रहा तो अक्टूबर के अंत तक वैक्सीन तैयार हो जाएगी. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि एक गुणकारी और सुरक्षित वैक्सीन के लिए हम भरपुर प्रयास कर रहे हैं. Pfizer जर्मनी की फर्म बायोन्टेक के साथ यूरोप और संयुक्त राज्य अमेरिका में कई संभावित वैक्सीन को लेकर काम कर रहा है.

कंपनी चार अलग-अलग वैक्सीन पर काम कर रही: 
Pfizer कंपनी फिलहाल चार अलग-अलग वैक्सीन पर काम कर रही है. ऐसे में जून जुलाई तक यह साफ हो जाएगा कि कौन सी वैक्सीन सबसे ज्यादा कारगर और सुरक्षित है. इसके लिए डाटा इकट्टा कर उसका विश्लेषण किया जा रहा है. 

राज्य के प्रधान मुख्य वन संरक्षक हाईकोर्ट में तलब, 8 माह पूर्व पकड़े गये एक ट्रक से जुड़ा पूरा मामला 

पूरे विश्व में 120 वैक्सीन पर काम चल रहा:
बता दें कि दुनियाभर में कई दवा कंपनियां और वैज्ञानिक दिन रात एक कर वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं. WHO के अनुसार इस समय पूरे विश्व में 120 वैक्सीन पर काम चल रहा है. वहीं दूसरी ओर अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों की माने तो नई वैक्सीन तैयार होने में अभी एक से डेढ़ साल का समय लग सकता है. लेकिन Covid-19 जैसी महामारी वाली विशेष परिस्थितियों में एक्सपेरिमेंटल वैक्सीन कामयाब हो सकती हैं. 
 

चीन के साथ सीमा विवाद पर अच्छे मूड में नहीं हैं पीएम मोदी- डोनाल्ड ट्रंप

चीन के साथ सीमा विवाद पर अच्छे मूड में नहीं हैं पीएम मोदी-  डोनाल्ड ट्रंप

नई दिल्ली: भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर मध्यस्थता की बात कही है. इसके साथ ही डोनाल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि चीन विवाद को लेकर पीएम मोदी का मूड अच्छा नहीं है. ट्रंप ने कहा कि उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की है. 

राजस्थान सरकार ने किए 1 IAS और 14 RAS अधिकारियों के तबादले, यहां देखे पूरी लिस्ट

भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी खुश नहीं: 
राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि हम देख रहे हैं कि भारत और चीन के बीच बड़ा सीमा विवाद चल रहा है, दो देश जिनकी आबादी 1.4 अरब और जिनके पास बहुत ही शक्तिशाली सेना है. इस विवाद से भारत खुश नहीं है और शायद चीन भी खुश नहीं है, मैंने पीएम नरेंद्र मोदी से बात की है. वह चीन के साथ जो स्थिति बनी हुई है उसे लेकर अच्छे मूड में नहीं हैं.

भारत और चीन की सेना भी काफी ताकतवर: 
ट्रंप ने कहा कि मैं पीएम मोदी को काफी पसंद करता हूं. वह एक महान व्यक्ति हैं. इसके साथ ही ट्रंप ने कहा कि भारत और चीन के बीच बड़ा विवाद चल रहा है. उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच विवाद है. भारत और चीन की सेना भी काफी ताकतवर है. शायद भारत खुश नहीं है, शायद चीन भी खुश नहीं है.

नौतपा के चौथे दिन भी जमकर तपी मरूधरा, भीषण गर्मी और लू का प्रकोप,  गर्मी में श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा 

ट्रंप ने मध्यस्थता करने की पेशकश की थी:
बता दें कि दो दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता करने की पेशकश की थी. उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा था कि हमने भारत और चीन दोनों को सूचित किया है अगर वो चाहें तो सीमा विवाद में अमेरिका मध्यस्थता करने को तैयार है. 

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता की पेशकश की है. ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमने भारत और चीन को सूचना दी है कि अमेरिका मध्यस्थता के लिए तैयार है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

ट्रंप भारत और पाकिस्तान के बीच भी मध्यस्थता की बात कर चुके:
इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात कर चुके हैं. हालांकि भारत ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. अब ट्रंप ने चीन के साथ मध्यस्थता की बात कही है.

लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने: 
गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं. भारत की तैनाती के बाद गैलवान घाटी में चीन के सैनिक कैंप में चले गए हैं. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने लद्दाख मामले पर पूरी रिपोर्ट ली, इसके अलावा तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया.

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट 

सेना प्रमुख की बैठक:
आज सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे ने आर्मी कमांडर्स के साथ बैठक की. इस बैठक में चीन को लेकर भी चर्चा हुई है. ये बैठक इसलिए अहम है क्योंकि इसमें सेना की ऑपरेशनल तैयारियों पर बात हो रही है. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया. 
 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नई दिल्ली: बीते कुछ दिनों से पड़ोसी देश नेपाल से भारत के रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे हैं. कालापनी और लिपुलेख जैसे सीमा विवाद ने दोनो दोनों देशों के रिश्तों में खटास पैदा की है. इसी बीच भारत से  संबंधों में आए दरार के बीच नेपाल ने एक कदम पीछे हटाया है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची हटाया: 
दरअसल, नेपाल की संसद में आज नए नक्शे को देश के संविधान में जोड़ने के लिए संविधान संशोधन का प्रस्ताव रखा जाना था. लेकिन नेपाल सरकार ने ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची से आज संविधान संशोधन की कार्यवाही को हटा दिया. यह नेपाल के सत्तापक्ष‌ और प्रतिपक्षी दल दोनों की आपसी सहमति से हुआ है. 

नेपाल के प्रधानमंत्री ने बुलाई थी सर्वदलीय बैठक:
इससे पहले मंगलवार को नेपाल के प्रधानमंत्री पी शर्मा ओली ने नए नक्शे वाले मुद्दे पर राष्ट्रीय सहमति बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इस दौरान सभी दल के नेताओंने भारत के साथ बातचीत कर मुद्दे को सुलझाने का सुझाव दिया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने नेपाल से बातचीत के लिए माहौल बनाने की मांग की थी. ऐसे मं नेपाल ने नए नक्शे को संसद में पेश नहीं करके कूटनीतिक रूप से परिपक्वता का उदाहरण दिया है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

यह है मामला:
बता दें कि 8 मई को भारत ने उत्तराखंड के लिपुलेख से कैलाश मानसरोवर के लिए सड़क का उद्घाटन किया था. इसको लेकर नेपाल ने कड़ी आपत्ति जताई थी. इसके बाद नेपाल ने नया राजनीतिक नक्शा जारी करने का फैसला किया था और इसमें भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा क्षेत्रों को भी अपना बताकर दिखाया है.
 

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव

2022 तक T20 वर्ल्ड कप का टलना तय, कल ICC की बैठक में औपचारिक घौषणा संभव

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित टी20 वर्ल्ड कप का भविष्य कोरोना की भेंट चढ़ता नजर आ रहा है. कोविड-19 महामारी के कारण आईसीसी इस टूर्नामेंट को 2022 तक टालने का मन बना चुकी है. ऐसे में यह माना जा रहा है कि बोर्ड सदस्यों की 28 मई को होने वाली बैठक में इससे जुड़ी औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 109 पॉजिटिव केस, संक्रमितों का ग्राफ पहुंचा 7645 

एक ही प्रारूप में दो विश्व कपों का शेड्यूल करना अनुचित:  
ऐसा ऐलान इसलिए होना माना जा रहा है कि क्योंकि भारत में अक्टूबर 2021 में पहले से ही एक टी-20 विश्व कप निर्धारित है और और एक वर्ष में एक ही प्रारूप में दो विश्व कपों का शेड्यूल करना अनुचित है. वर्तमान स्थिति भी 6 महीने के भीतर दो विश्व कप के लिए तैयार नहीं है. मेजबान ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स के लिए यह चिंता का विषय है.

6 महीने में 2 आईपीएल और 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं: 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अगर भारत में अक्टूबर में आईपीएल होता है, तो ऐसे में 6 महीने में 2 आईपीएल और 2021 में 2 विश्व कप प्रसारित करना आसान नहीं होगा. इसी के चलते मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप को 2022 में कराया जाएगा. यानी टूर्नामेंट को स्थगित किया जाएगा, रद्द नहीं. 

दो—दो नगर निगम बनाने का फैसला सरकार का नीतिगत निर्णय, हाईकोर्ट नहीं करें हस्तक्षेप— महाधिवक्ता 

2023 में 50 ओवरों वाला वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा:
भारत 2021 में एक टी-20 विश्व कप की मेजबानी करेगा. इसके बाद 2022 में ऑस्ट्रेलिया टी-20 वर्ल्ड कराएगा और फिर 2023 में 50 ओवरों वाला वर्ल्ड कप भारत में खेला जाएगा. ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली 28 मई को आईसीसी की बैठक में इस योजना का समर्थन करेंगे.


 

ताइवान की राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए भाजपा के दो सांसद, चीन ने जताया एतराज

ताइवान की राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए भाजपा के दो सांसद, चीन ने जताया एतराज

नई दिल्ली: ताइवान की राष्ट्रपति साइ इंग-वेन के शपथग्रहण में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल भाजपा के दो सांसदों के शामिल होने से चीन भड़क गया. चीन ने भारत से अपने आंतरिक मामलों में दखल देने से बचने को कहा है.

अमेरिका की कंपनी का दावा, कोरोना वायरस की दवा का मनुष्यों पर टेस्टिंग हुई शुरू 

दूसरे कार्यकाल की बधाई दी: 
ताइवान की राष्ट्रपति के शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली से भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी और राजस्थान के चुरू से सांसद राहुल कासवान ने कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शिरकत की और उन्हें दूसरे कार्यकाल की बधाई दी.

चीन ने लिखित में एतराज जताया: 
इस पर चीन ने लिखित में एतराज जताया है. नई दिल्ली में चीनी राजदूत की काउंसलर लिउ बिंग ने लिखित आपत्ति जताते हुए भारत से अपने आंतरिक मामलों में दखल देने से बचने को कहा है. साथ ही कहा कि इंग-वेन को बधाई देना बिलकुल गलत है.  

राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर हमला, कहा- देश में लॉकडाउन पूरी तरह से फेल 

41 देशों की 92 हस्तियां हुई थीं शामिल:
साइ इंग-वेन के शपथग्रहण समारोह में 41 देशों की 92 हस्तियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लिया. इनमें भारत से दो सांसदों के अलावा अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भी शामिल हुए. 
 

अमेरिका की कंपनी का दावा, कोरोना वायरस की दवा का मनुष्यों पर टेस्टिंग हुई शुरू

अमेरिका की कंपनी का दावा, कोरोना वायरस की दवा का मनुष्यों पर टेस्टिंग हुई शुरू

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कहर के चलते दुनियाभर के शोधकर्ता और वैज्ञानिक इस बीमीरी की दवा बनाने में जुटे हुए हैं. इसी बीच अमेरिका की एक बायोटेक्नोलॉजी कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस संक्रमण की दवा का मनुष्यों में परीक्षण शुरू करने की घोषणा की. इतना ही नहीं इस महामारी की इसी वर्ष दवा आने की उम्मीद भी जताई है.

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले 

दवा और टीकों का साथ-साथ कर रहे निर्माण:
बायोटेक्नोलॉजी कंपनी 'नोवावैक्स' के प्रमुख शोधकर्ता डॉ. ग्रिगोरी ग्लेन के अनुसार कंपनी ने पहले चरण का परीक्षण शुरू कर दिया है जिसमें मेलबर्न और ब्रिस्बेल शहरों के 131 स्वयंसेवियों पर दवा का परीक्षण किया जाएगा. उन्होंने बताया कि हम दवा और टीकों का साथ-साथ यह सोच कर निर्माण कर रहे हैं कि हम दिखा पाएंगे कि यह कारगर है और वर्ष के अंत तक इसे लोगों के लिए उपलब्ध करा सकेंगे. 

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

दर्जनभर प्रायोगिक दवाएं परीक्षण के प्रारंभिक चरण में:
आपको बता दें कि चीन, अमेरिका और यूरोप में करीब दर्जनभर प्रायोगिक दवाएं परीक्षण के प्रारंभिक चरण में हैं या उनका परीक्षण शुरू होने वाला है. हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि इनमें से कोई भी दवा सुरक्षित और कारगर साबित होगी भी या नहीं, लेकिन कई दवाएं अलग-अलग तरीकों से बनाई गई हैं. ऐसे में इससे इस बात की उम्मीद बढ़ गई है कि इनमें से कोई दवा सफल हो सकती हैं. 
 

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले

भारत में कोरोना वायरस को लेकर अमेरिकी प्रोफेसर का बड़ा अनुमान, जुलाई में होंगे करीब 5 लाख मामले

नई दिल्ली: भारत में तेजी से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. इसी बीच अमेरिकी प्रोपेसर और शोधकर्ता भ्रमर मुखर्जी का डराने वाला अनुमान सामने आया है. अनुमान के अनुसार जुलाई में भारत में कोरोना के मामले 5 लाख को पार कर सकते हैं. उन्होंने भारत में लॉकडाउन और कोरोना नियंत्रण पर आधारित 43 पन्नों की रिपोर्ट तैयार की है. रिपोर्ट के अनुसार भआरत में जुलाई की शुरुआत तक कोरोना के 5 लाख मामले सामने आ सकते हैं.

राजस्थान में पान, गुटखा और तम्बाकू बिक्री की अनुमति मिली, किया गया यह संशोधन 

हर रोज औसतन 6200 मामले सामने आ रहे:  
इस आंकलन को समझने के लिए हम देख सकते हैं कि पिछले 5 दिनों में कोरोना ने भारत में तेजी से पैर पसार रहा है.  20 से 25 मई के बीच हर रोज औसतन 6200 मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में यही हिसाब लगाए तो 26 मई से 1 जुलाई के बीच भारत में करीब सवा दो लाख कोरोना के मामले सामने आ सकते हैं. अगर 25 मई तक के कोरोना के कुल मामलों में इसे जोड़ा जाए तो 1 जुलाई तक कोरोना मरीजों की संख्या 3 लाख साठ हजार के पार पहुंच जाएगी.

राजस्थान रोडवेज की मोक्ष कलश स्पेशल बस सेवा शुरू, सिंधी कैंप बस स्टैंड से मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने किया रवाना

अधिकतम 21 लाख कोरोना से संक्रमित होने का अनुमान: 
शोधकर्ता भ्रमर मुखर्जी की रिपोर्ट के अनुसार 26 मई से हर रोज औसतन 10 हजार से ज्यादा मामले सामने आएंगे. ऐसे में 1 जुलाई तक कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या करीब 5 लाख पहुंच जाएगी. इतना ही नहीं अगर हालात ज्यादा बिगड़ गए तो भारत में अधिकतम 21 लाख कोरोना से संक्रमित हो सकते हैं. हालांकि यह रिपोर्ट 14 अप्रैल तक के आंकड़ों के आधार पर तैयार की गई है. भारत में लॉकडाउन के तीसरे चरण के दौरान इस रिपोर्ट का रिवीजन चल रहा था. 


 

Open Covid-19