Live News »

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

Coronavirus Updates: राजस्थान में 24 नए पॉजिटिव केस मिले, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 325

जयपुर: प्रदेशभर में कोरोना वायरस के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे है. राजस्थान में पॉजिटिव मामले बढकर 325 हो गए है. मंगलवार सुबह 9 बजे तक 24 पॉजिटिव केस सामने आये है. बांसवाड़ा जिले से चार पॉजिटिव केस मिले है. चूरू जिले से एक, जयपुर से तीन पॉजिटिव मिले है. वहीं बात करे जैसलमेर की तो यहां पर 7 मामले सामने आये है. जोधपुर जिले में 9 पॉजिटिव मिले मिले है. प्रदेश में कोरोना की वजह से अब तक 6 लोगों की मौत हो चुकी है.

सीएम गहलोत के निर्देश, कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए युद्ध स्तर पर करें काम, जयपुर के रामगंज में स्थिति नाजुक

लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले बने सिरदर्द:
प्रदेश के भीलवाड़ा जिले में लॉकडॉउन का उल्लंघन करने वाले सिरदर्द बने हुए है. लोग चोरी छुपे बाहर से आ रहे है, जो पुलिस की परेड करवा रहे है. भीलवाड़ा में एक दर्जन लोग देर रात ऑटो में पहुंचे थे. अहमदाबाद के कबाडी व्यवसायी के साथ भीलवाडा पहुंचे थे. लॉकडाउन में भी 18 जिलों की सीमाओं को पार करके कपड़ा नगरी में पहुंचे.  कबाड़ी व्यापारी जगदीश माली की पुलिस तलाश कर रही है. यह मामला भीमगंज थाना खेत्र का है. 

Coronavirus Updates: ट्रंप का बयान- भारत दवा की सप्लाई नहीं करता तो फिर दिया जाता उसका करारा जवाब

जोधपुर में 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी
प्रदेश के जोधपुर जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने पर पुलिस कमिश्नरेट के 7 थाना क्षेत्र में कर्फ्यू जारी है. पूर्व थाना क्षेत्र में थाना उदयमंदिर, सदर कोतवाली, सदर बाजार थाने में कर्फ्यू लगाया गया है. नागौर गेट थाने में पहले से ही  कर्फ्यू लगा हुआ है. पश्चिम थाना क्षेत्र के तीन थानों में अभी भी कर्फ्यू जारी है. पश्चिम थाना क्षेत्र थाना कुड़ी थाना देव नगर और थाना प्रताप नगर में कर्फ्यू जारी है. कोरोना वायरस के चलते पुलिस ने अलग-अलग इलाकों में कर्फ्यू लगाया है. कुछ इलाके हाई रिस्क जॉन वाले घोषित है.

और पढ़ें

Most Related Stories

जोधपुर: प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कुछ दिन बाद ही नाबालिग प्रेमिका की शादी होने की जानकारी आ रही सामने

जोधपुर: प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कुछ दिन बाद ही नाबालिग प्रेमिका की शादी होने की जानकारी आ रही सामने

जोधपुर: जिले के मंडोर गार्डन के पास प्रेमी और प्रेमिका का शव फंदे से लटका हुआ मिला. प्रेमी-प्रेमिका द्वारा पेड से फंदा लगाकर आत्महत्या की गई है. घटना की जानकारी मिलने के बद मौके पर पहुंची मंडोर ने जहां मामले की जानकारी जुटाने के साथ ही पड़ताल कर रही है. दोनों प्रेमी-प्रेमिका अलग-अलग समुदाय के बताए जा रहे हैं.

कुछ दिन बाद ही प्रेमिका की शादी होने की जानकारी सामने आ रही:  
मंडोर पुलिस ने एहतियात के तौर पर आरएसी के जवान तैनात किए है. दोनों प्रेमी प्रेमिका का घर आमने-सामने बताया जा रहा है. प्रेमिका जहां नाबालिग बताई जा रही है तो वहीं कुछ दिन बाद ही प्रेमिका की शादी होने की जानकारी सामने आ रही है. फिलहाल आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है. पुलिस को मिले सुसाइड नोट की पड़ताल की जा रही है.

{related}

एहतियात के तौर पर पुलिस ने सुरक्षा के इंतजाम किए:
प्रेमी मजदूरी का काम किया करता था तो वहीं प्रेमिका पांचवी तक पढ़ी हुई थी. आमने-सामने घर होने के चलते एहतियात के तौर पर पुलिस ने सुरक्षा के इंतजाम किए है. मंडोर थानाधिकारी सुरेश सोनी इस पूरे मामले की जांच पड़ताल कर रहे हैं. 

कोरोना के कारण पिछले 10 महीने से पाकिस्तान में फंसी हिंदू महिला की वतन वापसी, परिवार से मिलकर जाहिर की खुशी

कोरोना के कारण पिछले 10 महीने से पाकिस्तान में फंसी हिंदू महिला की वतन वापसी, परिवार से मिलकर जाहिर की खुशी

जोधपुरः पाकिस्तान में पिछले 10 महीनों से फंसी हिंदू शरणार्थी आखिरकार अपने घर पहुंच चुकी है. बताया जा रहा है कि पूरे10 महीने तक पड़ोसी देश में फंसे रहने के बाद महिला भारत में रह रहे अपने परिवार से मिली है. भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने वाली जनता माली अपने पति और बच्चों के साथ एनओआरआई वीजा पर फरवरी में पाकिस्तान के मीरपुर खास में अपनी बीमार मां से मिलने गई थीं, लेकिन कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लागू होने के बाद उन्हें वापस यात्रा करने की अनुमति नहीं मिली थी.

इसी बीच महिला के वीजा की वैध्यता समाप्त हो गई थी. जिसके चलते  वह पड़ोसी देश में फंसी रह गई थी, जबकि उसके पति और बच्चे जुलाई में वापस भारत आ गए थे. असल में महिला को अपने पति और बच्चों के साथ ट्रेन में सवार होने की अनुमति नहीं मिली थी. एनओआरआई वीजा पाकिस्तानी नागरिकों को दीर्घकालिक वीजा (एलटीवी) पर भारत में रहने के दौरान पाकिस्तान की यात्रा करने और 60 दिनों के भीतर लौटने की अनुमति देता है. सितंबर में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राजस्थान हाई कोर्ट को एनओआरआई वीजा खत्म होने के बाद 410 पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों के पाकिस्तान में फंसे होने की जानकारी दी थी.

इस मामले की जानकारी देते हुए पाकिस्तान के अल्पसंख्यक प्रवासियों से संबंधित मुद्दों पर अदालत द्वारा नियुक्त एमिकस क्यूरी सज्जन सिंह ने बताया है कि ये शरणार्थी दीर्घकालिक वीजा (एलटीवी) पर भारत में रह रहे थे और एनओआरआई वीजा पर लॉकडाउन से पहले पाकिस्तान गए थे. तब गृह मंत्रालय ने कहा था कि इन लोगों को वीजा का विस्तार करते हुए जल्द ही देश वापस लाया जाएगा.  सीमांत लोक संघ के अध्यक्ष हिंदू सिंह सोढ़ा ने कहा कि संगठन ने इस मुद्दे को राजस्थान सरकार के साथ-साथ केंद्र तक पहुंचाया था.

उन्होंने कहा है कि हमने सरकार से आग्रह किया है कि ऐसे सभी लोगों की वापसी का मार्ग प्रशस्त किया जाए, जो अपने एनओआरआई वीजा की अवधि समाप्त होने के कारण पाकिस्तान में फंसे हुए हैं. सोढ़ा ने आगे कहा कि छह महीने के संघर्ष के बाद हम माली को वापस लाने में सफल रहे, जो लॉकडाउन के कारण पाकिस्तान में फंस गई थीं. बहरहाल महिला अपने परिवार में वापिस लौट चुकी है और उसने प्रशासन का आभार जताया है. (सोर्स-भाषा)

{related}

जोधपुर: फर्जी चेक से 49 लाख रुपयों की धोखाधड़ी के पांच आरोपी गिरफ्तार

जोधपुर: फर्जी चेक से 49 लाख रुपयों की धोखाधड़ी के पांच आरोपी गिरफ्तार

जोधपुर: जिले की शास्त्री नगर पुलिस ने फर्जी चेक से 49 लाख रुपयों की धोखाधड़ी के एक मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है. थानाधिकारी शेषकरण बारहठ ने बताया कि 5 नवंबर को गली नंबर दस के सामने बलदेव नगर मसूरिया निवासी पतासी देवी पत्नी कालू प्रजापत की ओर से रिपोर्ट दी गई थी. 

जुलाई 2020 को बैंक खाते में 47 लाख रुपए जमा करवाए थे: 
उसमें बताया कि उनका खाता पंजाब नेशनल बैंक शास्त्री नगर में हैं. जहां जुलाई 2020 को बैंक खाते में मकान बेचकर 47 लाख रुपए जमा करवाए थे, ताकि बच्चे की शादी व अन्य कार्य हो सकें. 5 नवंबर को जब रुपयों की जरूरत पड़ी तो बैंक पहुंची. जहां डायरी में एंट्री करवाई तो पता चला कि खाते से 16 अक्टूबर को 49 लाख रुपयों का डुप्लीकेट चेक लगाकर किसी ने निकासी कर ली है. 

{related}

रुपए हड़पने व विभिन्न बैंकों में उन्हें ट्रांसफर करने का जुर्म स्वीकार किया:
मामले में एडीसीपी उमेश ओझा सहित अन्य अधिकारी साइबर टीम की मदद से आरोपियों तक पहुंचे. इस पर धरवई जिला प्रयागराज यूपी निवासी इरशाद अली, जितेंद्र सिंह, तोसिब अहमद, मोहम्मद जुबेर व यूपी के लखनऊ निवासी विनय कुमार को गिरफ्तार किया गया. जिन्होंने फर्जी चेक की मदद से रुपए हड़पने व विभिन्न बैंकों में उन्हें ट्रांसफर करने का जुर्म स्वीकार किया. 

कोर्ट में पेश करने के बाद सभी को रिमांड पर लिया जाएगा:
पुलिस ने कोर्ट में पेश करने के बाद सभी को रिमांड पर लिया जाएगा. गिरफ्तार किए गए अंतरराज्यीय गिरोह के सदस्य शातिर थक गए हैं और देश भर में करीब 100 से अधिक वारदात कर चुके हैं जोधपुर में भी इन्होंने 7 से 8 बैंकों में फर्जी चेक बनाकर लाखों का भुगतान उठाया है जिसको लेकर पूछताछ की जा रही है.

जोधपुर: एक दर्जन जातीय पंचों के खिलाफ समाज से बहिष्कृत करने करने का आरोप, मामला दर्ज

जोधपुर: एक दर्जन जातीय पंचों के खिलाफ समाज से बहिष्कृत करने करने का आरोप, मामला दर्ज

जोधपुर: जिले के लोहावट पुलिस थाने में एक दर्जन जातीय पंचों के खिलाफ समाज से बहिष्कृत करने, सामाजिक कार्यो में जाने पर रोक लगाने का मामला दर्ज हुआ है. प्रोबेलशनल आरपीएस योगेश चौधरी ने बताया की मगरा निवासी सुरेश कुमार पुत्र अनोपाराम मेगवाल ने रिपोर्ट पेश कर बताया की करीब डेढ़ वर्ष पूर्व जातीय पंचों द्वारा उसके परिवार को समाज से बहिष्कृत कर 11 लाख रूपये का अर्थदंड लगाया था. जिसका मामला पूर्व में दर्ज करवाया गया था, लेकिन जातीय पंचों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई. 

मामला दर्ज करवाने पर परिवार को परेशान करना शुरू कर दिया: 
पंचों के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करवाने के बाद से लगातार पंचों द्वारा उसके परिवार को परेशान करना शुरू कर दिया गया. पीड़ित परिवार ने बताया की 23 अगस्त को पल्ली गांव में उसके ताऊ के लड़के के ससुराल में मौत होने पर, 8 सितम्बर को उसकी बहनों की सास की मौत होने पर उनकी शोक-सभा में उनके परिवार को शामिल होने से रोक दिया गया. इस दौरान पंचों ने बेटी के ससुराल वालों की हमारे परिवार को बुलाने पर समाज से बहिष्कृत करने की धमकी भी दी. 

{related}

परिवार को सामाजिक कार्यकर्मों में जाने से रोका जा रहा:
पीड़ित परिवार ने बताया की जातीय पंचों द्वारा लगातार उसके परिवार को सामाजिक कार्यकर्मों में जाने से रोका जा रहा है. पीड़ित सुरेश कुमार की रिपोर्ट पर लोहावट थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच प्रारम्भ कर दी है. 

विवाहिता के नहाते समय खींचे फोटो, वायरल करने की धमकी देकर किया रेप

विवाहिता के नहाते समय खींचे फोटो, वायरल करने की धमकी देकर किया रेप

जोधपुर: जिले के लोहावट के भजन नगर में विवाहिता के नहाते हुए के फोटो खींच उसे वायरल करने के धमकी देकर देह शोषण करने तथा जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है. 

अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी देकर कर रहा दुष्कर्म: 
लोहावट एसएचओ आरपीएस योगेश चौधरी ने बताया की भजननगर निवासी पीड़ित महिला ने रिपोर्ट करवाकर बताया की उसके खेत के एक हिस्से में आरोपी पांचाराम ने मूंगफली की बुवाई कर रखी है. जिसको लेकर उसका खेत में आना जाना लगा रहता था. दो साल पूर्व आरोपी द्वारा उसके गलत फोटो खींच उसे वायरल करने की धमकी देकर जबरदस्ती उसके घर में घुस उसके साथ दुष्कर्म किया तथा उसके बाद उसे धमकी दी की इस बारे में अगर किसी को बताया तो उसे जान से मार देगा. उसके बाद से आरोपी लगातार फोटो वायरल कर उसे बदनाम करने की धमकी देकर लगातार उसका देह शोषण कर रहा है.

{related}

दुष्कर्म, ब्लैकमेल कर देहशोषण करने की धाराओं में मामला दर्ज:
विवाहिता ने बताया की उसका पति बाहर मजदूरी का कार्य करता है. लोहावट थाना पुलिस ने पीड़िता की रिपोर्ट पर दुष्कर्म करने, ब्लैकमेल कर देहशोषण करने, व जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच प्रारम्भ कर दी है. 

जोधपुर में आज सुबह दो अलग-अलग स्थानों पर शव मिलने से पूरे क्षेत्र में फैली सनसनी

जोधपुर में आज सुबह दो अलग-अलग स्थानों पर शव मिलने से पूरे क्षेत्र में फैली सनसनी

जोधपुर: जिले में आज सुबह दो अलग-अलग स्थानों पर शव मिलने के बाद जहां पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई तो वहीं जिन दोनों युवकों के शव मिले है उनकी कोई आपसी रंजिश के चलते दोनों की हत्या की बात सामने आ रही है. वहीं मृतक भैराराम और महेन्द्र के शव मिलने के मामले पर जहां परिवारजन हत्या का आरोप लगा रहे हैं.

पुलिस एक-एक पहलू पर जांच कर रही:  
एमडीएम अस्पताल की मोर्चरी पहुंचे परिवारजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. परिवारजनों द्वारा सुरेश नोखडा और ओमप्रकाश विश्नोई पर आपसी रंजिश के चलते हत्या का आरोप लगाया है. कल महेन्द्र और भैराराम सहित पांच लोगों के अपहरण की बात परिवारजन कह रहे हैं. इस हादसे में 3 अन्य के घायल होने की बात भी सामने आ रही है. पुलिस एक-एक पहलू पर जांच कर रही है. वहीं दूसरी और इस पूरे मामले की जानकारी मिलते ही सांसद हनुमान बेनिवाल ने जोधपुर पुलिस कमिश्नर और मृतकों के परिवारजनों से बातचीत कर पूरे मामले की जानकारी ली.

{related}

सांसद बेनिवाल ने लगाया गंभीर आरोप:
वहीं बेनिवाल ने पुलिस कमिश्नर को आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के निर्देश भी दिए. बेनिवाल ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस को इस मामले में पूर्व में ही सूचना थी कि विवाद बड़ी घटना का रूप ले सकता है उसके बावजूद समय रहते कोई कार्यवाही नहीं करना इस घटना का कारण बना है. ऐसे में जिस सीआई व एसीपी को मामले की जानकारी थी उन्हे बर्खास्त किया जाए व मृतकों के परिजनों को आर्थिक पैकेज दिया जाए. 

जोधपुर एसीबी की एक और बड़ी कार्रवाई, एनडीपीएस कोर्ट का वरिष्ठ सहायक 2000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

जोधपुर एसीबी की एक और बड़ी कार्रवाई, एनडीपीएस कोर्ट का वरिष्ठ सहायक 2000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

जोधपुर: एसीबी की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए एनडीपीएस कोर्ट के कनिष्ठ सहायक प्रमोद कुमार जैन को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है. प्रमोद कुमार जैन कोर्ट में फाइल जल्दी पुट अप करने के एवज में रिश्वत मांग रहे थे. एसीबी के मनीष वैष्णव ने बताया कि परिवादी एडवोकेट रतनाराम ने एसीबी में शिकायत दर्ज कराई कि मतोड़ा थाने के एक प्रकरण में आरोपी ओमप्रकाश की जमानत के लिए मूल पत्रावली एनडीपीएस कोर्ट में पेश की जानी थी. 

{related}

पत्रावली को कोर्ट में पेश करने की एवज में प्रमोद कुमार जैन ने 3000 रुपए की राशि की मांग की. सत्यापन के दौरान परिवादी ने 1000 रुपए ले लिए जबकि 2000 रुपए बाद में देना तय हुआ. शिकायत का सत्यापन पूरा होने के बाद एसीबी कनिष्ठ सहायक प्रमोद कुमार जैन को ट्रेप करने के लिए परिवादी रतनाराम को 2000 रुपए देकर वापस भेजा. परिवादी रतनाराम ने कनिष्ठ लिपिक प्रमोद कुमार जैन को 2000 रुपए की रिश्वत राशि दी, जिसे उसने ले लिया. इशारा मिलते ही एसीबी की टीम मौके पर पहुंच गई और प्रमोद कुमार जैन को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया और रिश्वत राशि भी बरामद कर ली. एसीबी ने रिश्वतखोर कनिष्ट लिपिक को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है साथ ही अन्य पत्रावली भी उसके कब्जे से बरामद की है. 

जोधपुर: निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिर जाने से 8 लोगों की मौत प्रकरण, MDM अस्पताल मोर्चरी के बाहर प्रजापति समाज ने शुरू किया धरना

जोधपुर: निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिर जाने से 8 लोगों की मौत प्रकरण, MDM अस्पताल मोर्चरी के बाहर प्रजापति समाज ने शुरू किया धरना

जोधपुर: शहर के बासनी थाना क्षेत्र में निर्माणाधीन फैक्ट्री की दीवार गिर जाने से 8 श्रमिकों की मौत होने के मामले में प्रजापति समाज में एमडीएम अस्पताल की मोर्चरी के बाहर धरना शुरू कर दिया. 

मुआवजा राशि देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर धरना जारी: 
मृतक परिवार को मुआवजा राशि देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर प्रजापति समाज का धरना जारी है, वहीं धरने की सूचना पर राजसीको के पूर्व अध्यक्ष सुनील परिहार, पुलिस एवं जिला प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उन्होंने धरना दे रहे लोगों से वार्ता करने का प्रयास किया.

{related}

मृतकों के परिवार आर्थिक रूप से बिखर चुका है:
परिवार वालों का कहना है कि मृतकों के परिवार का वह एकमात्र सहारा थे और उनके मौत हो जाने से अब उनका परिवार आर्थिक रूप से बिखर चुका है. ऐसे में जिला प्रशासन को मृतक आश्रित परिवार को उचित मुआवजा राशि देनी चाहिए ताकि मृतक परिवार को संबल मिल सके.