Tokyo Olympic: लागत 15.4 बिलियन डॉलर, कोरोना महामारी के कारण बढ़ा खर्च

Tokyo Olympic: लागत 15.4 बिलियन डॉलर, कोरोना महामारी के कारण बढ़ा खर्च

Tokyo Olympic: लागत 15.4 बिलियन डॉलर,  कोरोना  महामारी के कारण बढ़ा खर्च

तोक्यो: तोक्यो ओलंपिक की आधिकारिक लागत 15.4 बिलियन डॉलर है यानी की 1540 करोड़ रुपए. आक्सफोर्ड की एक यूनिवर्सिटी के अनुसार यह अब तक के सबसे महंगे ओलंपिक है.

इन पैसे से क्या बनाया जा सकता था, जापान में 300 बिस्तर के एक अस्पताल की लागत साढे पांच करोड़ डॉलर है यानी ऐसे 300 अस्पताल बन सकते थे. वहीं एक प्राथमिक स्कूल करीब डेढ करोड़ डॉलर में बन सकता है यानी 1200 स्कूल बनाये जा सकते थे, एक बोइंग 747 की कीमत करीब 40 करोड़ डॉलर है यानी 38 जंबो जेट खरीदे जा सकते थे. जापान के कई सरकारी आडिट के अनुसार तोक्यो खेलों की लागत आधिकारिक आंकड़ों से कहीं अधिक लगभग दुगुनी है. 

कोरोना महामारी के कारण बढी लागत:
आक्सफोर्ड के एक लेखक बेंट फ्लायबर्ग ने कहा कि आईओसी और मेजबान शहर लागत पर नजर नहीं रखते हैं क्योंकि लागत हमेशा बढती है जिससे आईओसी और मेजबान शहर को शर्मिदगी उठानी पड़ती है. तोक्यो ओलंपिक की लागत कोरोना महामारी के कारण बढी. पहले खेल एक साल के लिये स्थगित हुए जिससे लागत में 2.8 बिलियन डॉलर इजाफा हुआ, इसके अलावा दर्शकों के प्रवेश पर रोक से करीब 80 करोड़ डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें